डेढ़ साल के बेटे ने सुकमा में शहीद हुए जवान को दी मुखाग्नि, नम हो गई हर आंख

भिंड जिले के शहीद जितेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा के दौरान भारत माता की जय और वन्दे मातरम् के नारे जमकर लगाए गए. शमशान घाट पर पूरी रीति-रिवाज़ के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया.

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 6:13 PM IST
डेढ़ साल के बेटे ने सुकमा में शहीद हुए जवान को दी मुखाग्नि, नम हो गई हर आंख
Photo ETV
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 6:13 PM IST
सुकमा हमले में शहीद होने वाले मध्य प्रदेश के दो जांबाजों का बुधवार को उनके गांवों में पूरे सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. इस मौके पर शिवराज कैबिनेट के मंत्री लाल सिंह आर्य के अलावा हजारों लोग मौजूद थे. सुकमा हमले में शहीद हुए दोनों सैनिकों के परिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक दिन पहले ही एक-एक करोड़ रुपए की सहायता राशि देने का ऐलान किया था.

सुकमा में नक्सली हमले में 9 जवान शहीद हुए थे. इसमें मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में रहने वाले सीआरपीएफ के एएसआई रामकृष्णा सिंह तोमर और भिंड जिले में कॉन्स्टेबल जितेंद्र सिंह भी शहीद हो गए. भिंड के एसएएफ ग्राउंड पर पहुंच कर सीआरपीएफ के आईजी, डीआईजी, कमांडेंट, भिंड कलेक्टर, भिंड एसपी, मुरैना कलेक्टर, मुरैना एएसपी सहित बड़ी संख्या में स्थानीय नेताओं और लोगों ने पहुंचकर शहीदों को पुष्प चक्र अर्पित किए. यहीं पर शहीदों को शस्त्र झुका कर सलामी दी गई. इसके बाद सड़क मार्ग से दोनों शहीदों के पार्थिव शरीर को उनके निवास पर ले जाया गया.

भिंड जिले के शहीद जितेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा के दौरान भारत माता की जय और वन्दे मातरम् के नारे जमकर लगाए गए. शमशान घाट पर पूरी रीति-रिवाज़ के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया. अंतिम संस्कार से पहले जवान को बन्दूकों से सलामी भी दी गई. शहीद जितेंद्र को उनके डेढ़ साल के बेटे द्वारा मुखाग्नि दी गई. यह देखकर वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं. इस दौरान मध्यप्रदेश सरकार में राज्यमंत्री लालसिंह आर्य और स्थानीय विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह, पूर्व सांसद रामलख सिंह कुशवाहा भी मौजूद रहे.

वहीं, मुरैना जिले के शहीद रामकृष्ण सिंह तोमर का पार्थिव शरीर तस्समा गांव पहुंचा. शहीद रामकृष्ण सिंह तोमर के अंतिम संस्कार में पहुंचे मंत्री लाल सिंह आर्य, भिंड विधायक नरेंद्र कुशवाह, कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार सहित कई प्रशासनिक अधिकारी और लोगों ने अंतिम विदाई दी. शहीद रामकृष्ण सिंह को उनके बेटे विवेक तोमर ने मुखाग्नि दी गई.

छत्तीसगढ़ के नक्सलवाद से प्रभावित सुकमा जिले में मंगलवार को नक्सवादियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर एंटी लैंडमाइन व्हीकल को उड़ा दिया था. इस घटना में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के आठ जवान शहीद हो गए. शहीद हुए जवानों में मध्य प्रदेश के भी दो जवान शामिल हैं.

(भिंड से अनिल शर्मा और मुरैना से दुष्यंत सिंह सिकरवार की रिपोर्ट)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर