Lockdown: पुलिस के मालखाने से गायब हुई 950 क्वार्टर देशी शराब की ऐसे खुली पोल, दो पुलिसकर्मी निलंबित

थाने में शराब पार्टी की शिकायत विधायक ने एसपी से की. (फाइल फाइल).
थाने में शराब पार्टी की शिकायत विधायक ने एसपी से की. (फाइल फाइल).

जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) नागेन्द्र सिंह ( Nagendra Singh) ने बताया, ‘मिहोना थाने में पिछले चार साल में 3400 क्वार्टर देशी शराब पकड़ी गयी जिसमें से 2200 क्वार्टर अदालत के मालखाने में जमा करा दी गई. जबकि रिकॉर्ड के मुताबिक 950 क्वार्टर देशी शराब मालखाने में कम मिली.

  • Share this:
भिंड. कोविड-19 लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान देशभर में शराब की दुकानें (liquor store)बंद होने के कारण शराबियों के बीच कहीं से भी उपलब्ध इस नशे की मांग बहुत ज्यादा थी. इसी बीच मध्य प्रदेश के भिंड जिले के मिहोना थाने के मालखाने में जमा 950 क्वार्टर देशी शराब गायब होने का मामला सामने आया है.

दो पुलिसकर्मियों निलंबित
इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक ने थाने के निरीक्षक सहित दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर जांच के आदेश दिए हैं. जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) नागेन्द्र सिंह ने बुधवार को बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि जब्त करके मिहोना थाने के मालखाने में रखी गयी देशी शराब बेच दी गयी है. उन्होंने बताया,‘सूचना की सत्यता परखने के लिए मैं मंगलवार रात औचक निरीक्षण के लिए थाने के मालखाने पहुंचा. भौतिक सत्यापन के दौरान वहां जमा शराब में से 950 क्वार्टर देशी शराब कम मिली.’
उन्होंने बताया कि इस मामले में मिहोना थाने के निरीक्षक अमर सिंह सिकरवार, प्रधान आरक्षक और मालखाने के प्रभारी रमेश बंसल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. जबकि मामले की जांच लहार के अनुविभागीय पुलिस अधिकारी को सौंपी गयी है.
पिछले चार साल में पकड़ी गयी इतनी शराब
जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) नागेन्द्र सिंहने बताया, ‘मिहोना थाने में पिछले चार साल में 3400 क्वार्टर देशी शराब पकड़ी गयी जिसमें से 2200 क्वार्टर अदालत के मालखाने में जमा करा दी गई. इसके बाद थाने के मालखाने में 1200 कवार्टर के स्थान पर मात्र 250 क्वार्टर देशी शराब मिली. रिकॉर्ड के मुताबिक 950 क्वार्टर देशी शराब मालखाने में कम मिली.’



सूत्रों के अनुसार लॉकडाउन के दौरान शराब की मांग और दाम दोनों ही काफी बढ़ गए हैं स्थिति यह है कि देशी शराब की पेटी जो 1300 से 1400 रुपए में आती थी, वह वर्तमान में 7000 से 8000 रुपए में बिक रही है. सूत्रों के मुताबिक इस मामले में शामिल आरोपियों की योजना सामान्य स्थिति बहाल होने पर शराब के क्वार्टर सामान्य दाम पर खरीद कर वापस थाने के मालखाने में जमा करने की थी, लेकिन मामला इससे पहले की खुल गया.

ये भी पढ़ें

Exclusive: MP में सरकारी स्कूलों को दो साल बाद मिलने जा रहे 33 हजार शिक्षक

मुफ्त बस सेवा में मजदूरों को लाने के लिए वसूले जा रहे हजारों रुपये
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज