होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /भिंड: खेत में बिजली नहीं, फिर भी किया अमरूद का बंपर उत्पादन

भिंड: खेत में बिजली नहीं, फिर भी किया अमरूद का बंपर उत्पादन

Bhind News: भिण्ड के इस किसान ने कुछ ऐसा किया कि अमरूद की बंपर पैदावार कर ली. कलेक्टर को पता चला तो वो खुद भी जायजा लेन ...अधिक पढ़ें

  • Local18
  • Last Updated :

    रिपोर्ट:अरविंद शर्मा

    भिण्ड: विपरीत हालात में बुद्धिमत्ता से काम किया जाए तो परिणाम काफी सुखद होते हैं. भिंड के एक किसान ने कुछ ऐसा ही कर दिखाया है. अन्य किसान जहां बिजली न होने और मौसम की मार का रोना रोते हुए हाथ पर हाथ धरकर बैठे थे, वहीं इस किसान ने कुछ ऐसा किया कि अमरूद की बंपर पैदावार कर ली. कलेक्टर को पता चला तो वो खुद भी जायजा लेनेइनके खेत पर पहुंचे. ऐसा क्या किया इस किसान ने आईए जानते हैं.

    भिंड जिलासरसों और गेंहू की फसल के लिए जाना जाता है. लेकिन ज्यादातर समय बिजली की कमी औरमौसम की मारसे किसान परेशान रहते हैं. इस बार भी समय पर सरसों नहीं लग पाने से कई किसान हिम्मत छोड़कर बैठ गए और गेहूं लगाने का इंतजार करते रहे. ऐसे में ऐंतार पंचायत के एक किसान ने कुछ अलग सोचा. किसान डीपी शर्मा ने परंपरागत फसल को छोड़ अमरूद लगाने का निश्चय किया. हालांकि कई किसान इस फैसले पर सवाल उठा रहे थे, लेकिन डीपी शर्मा अडिग रहे. अब दूसरी समस्या थी बिजली की, जिसके बिना सिंचाई नहीं हो सकती थी.

    बिजली नहीं थी तो इस काम से मिली सफलता

    भिंड क्षेत्र में मौसम की बेरूखी के बाद दूसरी समस्या है बिजली की कमी, जिसके बिना सिंचाई संभव नहीं हो पाती है. किसान डीपी शर्मा ने इसका भी हल निकाला. यहां-वहां से जानकारी इकट्ठा कर उन्होंने सरकारी योजनाओं की मदद से खेत में सोलर पंप लगवा लिया. नतीजा यह हुआ कि अमरूद की बंपर पैदावार मिली.अहम बात तो यह कि जबभिण्ड कलेक्टर सतीश कुमार को इस संबंध में जानकारी मिली तो वे खुद भी पहुंच गएइस पैदावार को देखने. भिंड में अमरूद की शानदार उपज देख कलेक्टर भीकाफी खुश नजर आए. उन्होंने किसानकी जमकर तारीफ की.

    4 बीघा में हुई लाखों की पैदावार

    किसान डीपी शर्मा ने4 बीघा जगह में अमरूद की 550 पौधे लगाए थे. वहीं पर्याप्त सिंचाई के लिएसौर ऊर्जा से चलने वाला सोलरपम्प लगवा लिया, जिससेबिजली न होने के बावजूद पौधों को पर्याप्त मात्रा में पानी मिल सके, वीएनआर वैरायटी के पांच सौ से ज्यादा पौधों सेअब लाखों की पैदावार मिल रहीहै. कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि भिंड मेंसब्जी अमरूद जैसे फसल की खेती बहुत कम मात्रा मे होती है, अगर पारम्परिक खेती से हटकर कुछ नया किया जाए तोकिसान अच्छा लाभ कमा सकतेहैं.

    Tags: Bhind news, UP news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें