Matrimonial साइट पर जीवनसाथी ढूंढ रही थी युवती, नाइजीरियाई ने दोस्ती बढ़ाई; ठग लिए पांच लाख

पुलिस ने लोगों को मेट्रिमोनियल साइट पर जीवनसाथी तलाश करने के दौरान काफी सावधानी बरतने की सलाह दी है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जीवनसाथी (Jeevansathi) की तलाश कर रही लड़की झांसे में आ गई और उसने अपने परिवार को बिना बताए दोस्तों से कर्ज लेकर रुपये भेज दिए. लेकिन शातिर ठगों की डिमांड लगातार बढ़ती रही, और किसी ना किसी बहाने से वो उससे पैसे मांगते रहे. जब बात ज्यादा बढ़ गई तो लड़की ने अपने दोस्त को पूरा मामला बताया

  • Share this:
भिंड. अगर आप मेट्रिमोनियल साइट्स (Matrimonial Website) पर जीवनसाथी की तलाश कर रहे हैं तो सावधान हो जाइये. क्योंकि अब इन साइट्स पर शातिर लोग अपनी फर्जी प्रोफाईल डालकर ठगी कर रहे हैं. मध्य प्रदेश के भिंड (Bhind) में पुलिस ने एक अंतरराष्ट्रीय साइबर गिरोह (Cyber Crime) का पर्दाफाश किया है. गिरोह के सरगना ने भिंड की रहने वाली एक लड़की से मेट्रिमोनियल साइट के जरिये दोस्ती कर उससे करीब पांच लाख रुपये ठग लिए. मामला सामने आने पर पुलिस ने एक नाइजीरियाई नागरिक समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है.

भिंड कस्बे की एक युवती ने बड़ी उम्मीदों के साथ मेट्रिमोनियल साइट पर अपनी प्रोफाइल डाली थी. प्रोफाइल देख कर हिमांशु नाम के एक युवक ने उसे कॉल करना शुरू किया और उससे अपनी दोस्ती बढ़ाई. बातचीत में हिमांशु ने खुद को विदेश में काम कर रहा डॉक्टर बताया. कोरोना लॉकडाउन के दौरान लड़की को कथित रूप से एक महिला कस्टम अधिकारी का फोन आया. यह फोन एयरपोर्ट से कस्टम अधिकारी बन कर एक लड़की द्वारा किया गया था. उसने कहा कि हिमांशु को एयरपोर्ट पर डिटेन कर लिया गया है. उसके पास इंडियन करेंसी नहीं है, उसे छोड़ने के एवज में कस्टम क्लियरेंस के रुपये जमा करने होंगे. इसके बाद कस्टम अधिकारी बनी महिला ने हिमांशु से इस लड़की की बात कराई तो वो फोन पर रोने का नाटक करने लगा और उससे कहा कि वो पैसे भिजवा दे ताकि वो कस्टम विभाग के चंगुल से छूट सके. बाहर आकर वो लड़की को उसके पैसे वापस कर देगा.

दोस्तों से कर्ज लेकर युवती ने ठगों को दिए 4.95 लाख रुपये

जीवनसाथी की तलाश कर रही लड़की झांसे में आ गई और उसने अपने परिवार को बिना बताए दोस्तों से कर्ज लेकर रुपये भेज दिए. लेकिन शातिर ठगों की डिमांड लगातार बढ़ती रही, और किसी ना किसी बहाने से वो उससे पैसे मांगते रहे. जब बात ज्यादा बढ़ गई तो लड़की ने अपने दोस्त को पूरा मामला बताया. इसके बाद वो पुलिस के पास पहुंची. पीड़िता का कहना है कि फ्रॉड करने वालों ने उसे आरबीआई का फेक ईमेल भी भेजा था जो असली लग रहा था. योग्य वर की तलाश कर रही युवती से शातिर ठगों ने चार लाख 95 हजार रुपये ऐंठ लिए.

पुलिस ने जांच के बाद अंतरराष्ट्रीय ठग गिरोह के मास्टरमाइंड नाइजीरियाई नागरिक जॉन जुलिओस को पकड़ा. इसके अलावा इसके चार साथियों को उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों से दबोचा गया. आरोपी नाइजीरियाई नागरिक पिछले चार साल से भारत में स्टूडेंट वीजा पर रह रहा था. पकड़े गए लोगों के पास से आईफोन सहित 18 मोबाइल फोन, 33 सिम कार्ड, विभिन्न बैंकों के 28 एटीएम कार्ड, 14 ब्लैंक चैक, लैपटॉप, राऊटर, हार्ड डिस्क, वाई फाई डोंगल, कैश सहित काफी सामग्री बरामद किया गया है.

पुलिस के मुताबिक यूपी से पकड़े गये चार आरोपी भोले भाले ग्रामीणों से उनके बैंक खाते लेकर फ्रॉड के रुपये मंगाने में इस्तेमाल करते थे. इसके एवज में उन्हें ठगी की रकम का 10 से 15 प्रतिशत हिस्सा मिलता था. गिरफ्तार नाइजीरियाई युवक ने बताया कि वो करण जंग शाही नाम के नेपाली युवक के लिए काम कर रहा था. पुलिस ने नाईजीरिया की दूतावास को घटना की सूचना दे दी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.