Bhind News: मां से अधेड़ का संबंध बर्दाश्त नहीं कर सके बेटे, ऐसे रची हत्या की साजिश मगर खुल गया राज

महिला से संबंधों के चलते लड़कों ने अधेड़ की हत्या कर दी.

महिला से संबंधों के चलते लड़कों ने अधेड़ की हत्या कर दी.

भिंड में दो बेटों ने एक अधेड़ की हत्या कर दी. उन्हें उसका मां के साथ संबंध पसंद नहीं था. बेटों ने अधेड़ से मारपीट के बाद उसे फर्जी नाम से अस्पताल में भर्ती कराया और जुर्म को छुपाने की कोशिश की.

  • Last Updated: February 21, 2021, 8:33 AM IST
  • Share this:
भिंड. अवैध संबंधों के चलते एक महिला के बेटों ने अधेड़ युवक की हत्या कर दी. हत्या को छुपाने के लिए आरोपियों ने अपने मृतक पिता के नाम का इस्तेमाल कर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की. उनके नाम के फर्जी दस्तावेज तैयार कर जुर्म छुपाया. इस मामले में पुलिस तत्कालीन थाना प्रभारी की भूमिका की भी जांच करेगी. फिलहाल पुलिस ने इस मामले में 11 आरोपी बनाए हैं.

पुलिस ने बताया कि मुताबिक बरोही थाना क्षेत्र के मदनपुरा गांव के रहने वाले 50 साल मृतक श्यामलाल जाटव का गांव की ही एक महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था. जब इस बात का पता महिला के बेटों लालू और ओंकार को लगा तो वे पिछले साल 31 मई को अपने जीजा गजेंद्र के साथ श्यामलाल के घर पहुंच गए. उस वक्त श्यामलाल घर पर बिल्कुल अकेला था. यहां उन्होंने मिलकर श्यामलाल की जबर्दस्त पिटाई कर दी. मारपीट के दौरान श्यामलाल छत से गिर गया और उसकी हालत गंभीर हो गई. तीनों आरोपियों ने किसी को बिना बताए श्यामलाल को गोरमी अस्पताल पहुंचाया. यहां जब पीड़ित की हालत और बिगड़ी तो उसे ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल ले गए.

आरोपी इस तरह रचते गए साजिश

शातिर आरोपियों ने यहां श्यामलाल को उसके नाम से नहीं, बल्कि अपने उस पिता नाधूराम जाटव के नाम से भर्ती कराया, जो 7 साल पहले गुजर चुके हैं. इस बीच इलाज के दौरान श्यामलाल की मौत हो गई. आरोपियों ने अपना जुर्म छुपाने के लिए ग्वालियर में ही उनका चोरी-छुपके अंतिम संस्कार भी कर दिया. इतना ही नहीं, आरोपियों ने षड्यंत्र पूर्वक मृतक का मृत्यु प्रमाणपत्र भी बनवा लिया. इसके बाद आरोपियों ने सारे सबूत मिटाने के लिए मृतक के कमरे का सामान भी गायब कर दिया था.
कड़ी पूछताछ में उगले राज

कुछ दिनों तक जब श्यामलाल को परिजनों ने नहीं देखा तो पुलिस में शिकायत की. पुलिस ने जांच में पाया कि उसका महिला के साथ प्रेस प्रसंग था और उसके बेटे श्यामलाल के घर के आस-पास देखे गए थे. पुलिस ने जब आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ की तो वारदात का खुलासा हो गया. पुलिस अब इस मामले में यहां के तत्कालीन थाना प्रभारी रविन्द्र तोमर की भूमिका पर भी संदेह कर रही है. इसकी भी जांच की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज