होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Bhind News: 70 बरस का यह जवान करता है जो स्टंट, बगैर ट्रेनिंग आप कतई न करें - See Video

Bhind News: 70 बरस का यह जवान करता है जो स्टंट, बगैर ट्रेनिंग आप कतई न करें - See Video

Chambal ke Iron Man: चंबल के आयरन मैन के नाम से मशहूर 70 वर्षीय रामसिया के कारनामे को जिसने भी देखा, वह दंग रह गया. इनक ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट: अरविंद शर्मा

भिंड. चंबल के आयरन मैन, इस नाम को सुनने के बाद किसी सुपर हीरो की कल्पना आम बात है. लेकिन, ऐसा है नहीं. दरअसल, चंबल क्षेत्र में आयरन मैन के नाम से मशहूर व्यक्ति 70 वर्षीय बुजुर्ग हैं, जिनके कारनामों ने सभी को हैरान कर रखा है. यहां तक की डॉक्टर भी उनकी कलाकारी देख दंग रह गए. इनके वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब छाए रहते हैं.

आयरन मैन के नाम से मशहूर इस शख्स का नाम है रामसिया चौधरी. वे भिंड में अटेर के मुकुटपूरा गांव के रहनेवाले हैं. इनकी उम्र 70 साल से ऊपर है, लेकिन जो टैलेंट उनके पास है, उसे कर पाना किसी युवा के लिए भी आसान नहीं. वे 8 फुट लंबे लोहे के सरिया को अपनी गर्दन के बल से मोड़ देते हैं. इस कारनामे के दौरान वह सरिया का एक हिस्सा दीवार पर और दूसरा हिस्सा अपनी गर्दन पर टिकाते हैं. फिर गर्दन के बल से उस सरिया को टेढ़ा कर देते हैं. जो भी इस कारनामे को देखता है, वह दांतों तले उंगलियां दबा लेता है.

डॉक्टर भी दंग

यह स्टंट देखकर डॉक्टर भी हैरान हैं. फूप बीएमओ से जब इस स्टंट के बारे में बात की गई तो उन्होंने भी आश्चर्य जताया. हालांकि, उन्होंने ऐसा न करने की सलाह दी. उनका कहना था कि साइंस के हिसाब से इस तरह के स्टंट करने से जान जाने का खतरा है. उन्होंने बताया कि गले की मसल्स बहुत कोमल होती हैं. ये मसल्स ज्यादा वेट सहन नहीं कर सकतीं. अधिक दबाव पड़ने पर सरिया गर्दन में घुस भी सकता है.

जलंधर बंध से संभव

आयुर्वेद चिकित्सक अजीत शर्मा ने बताया कि कोई व्यक्ति ऐसा तभी कर सकता है, जब उसने जलंधर बंध सिद्ध किया हो. यह एक योग क्रिया है, जिसे बहुत अभ्यास के बाद ही पाया जा सकता है. इसमें आपको महीनों तक लगातार प्राणायाम करना होता है. इसके बाद आपकी गले की मसल्स इतनी मजबूत हो जाएगी कि ऐसे स्टंट किए जा सकें. फिलहाल, इस स्टंट को बगैर प्रशिक्षण के कोई न करे, नहीं तो जान जा सकती है.

गुरुकुल में सीखी कला

रामसिया ने बताया कि बचपन में गुरुकुल संस्कृत विद्यालय में उन्होंने शिक्षा ग्रहण की थी. वहीं पर यह विद्या सीखी. इसके अलावा भी उन्होंने कई विद्याएं वहां सीखीं. जैसे दो किलो के लोहे की जंजीर को वह हाथ से तोड़ सकते हैं. अगर किसी को सीखना है तो वह सिखाने को भी तैयार हैं, लेकिन उसके लिए नियमित अभ्यास करना होगा.

Tags: Bhind news, Mp news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें