मंत्री गोविंद सिंह का सनसनीखेज़ बयान- CM कमलनाथ चाहें तो बीजेपी के 3-4 विधायक...

मंत्री गोविंद सिंह के बयान से सनसनी, कहा कांग्रेस में ला सकते हं 3-4 बीजेपी विधायक
मंत्री गोविंद सिंह के बयान से सनसनी, कहा कांग्रेस में ला सकते हं 3-4 बीजेपी विधायक

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) सरकार में सहकारिता मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह (Govind Singh) ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि अगर मुख्यमंत्री कमलनाथ (CM Kamalnath) चाहें तो भाजपा के 3-4 विधायकों को वह कांग्रेस में शामिल करा सकते हैं. वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री के इस बयान से प्रदेश की राजनीति एक बार फिर गर्मा गई है.

  • Share this:
भिंड. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में ना ही भाजपा (BJP) और ना ही कांग्रेस (Congress) के पास स्पष्ट बहुमत है. ऐसे में बड़ी पार्टी होने के चलते कांग्रेस द्वारा सहयोगी दलों एवं निर्दलियों की सहायता से सरकार बनाई गई है. जिसके बाद हॉर्स ट्रेडिंग (Horse trading) की अटकलों का दौर भी जोर पकड़ रहा था. ऐसे में एक बार फिर से सरकार में वरिष्ठ मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह (Govind Singh) के बयान ने राजनैतिक गलियारों (Political circles) में हलचल तेज कर दी है. उनके इस बयान के बाद भाजपा को भी मंथन करना पड़ेगा आखिर ऐसे कौन से तीन से चार विधायक हैं जो भाजपा छोड़ कांग्रेस में जाने के लिए तैयार हैं.

'3-4 विधायक बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में आने तैयार'
सहकारिता एवं सामान्य प्रशासन मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि उन्होंने मुख्यमंत्री की बात का ही समर्थन किया है. अगर मुख्यमंत्री चाहें तो भाजपा के 3-4 विधायक वह कांग्रेस में शामिल करवा सकते हैं. इस मामले पर और अधिक बोलने से वह बचते नजर आए डॉक्टर सिंह के इस बयान से मध्य प्रदेश की राजनीति एक बार फिर गरमा गई है.

'बीजेपी के दबाव में काम किया'
वहीं महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने पर मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने महाराष्ट्र के राज्यपाल पर तीखी टिप्पणी की है. उन्होंने राज्यपाल पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, 'वह भाजपा सरकार के दबाव में काम करते हुए एकतरफा निर्णय ले रहे हैं.' उन्होंने राज्यपाल को नसीहत देते हुए कहा कि, 'उन्हें अपनी गरिमा का ख्याल रखना चाहिए.'



ये भी पढ़ें -
गाय की पूजा करेगी कमलनाथ सरकार : कांग्रेस ने छीना बीजेपी का एजेंडा
कांग्रेस के लिए 'मुसीबत' बने दिग्‍विजय के MLA भाई, CM कमलनाथ को लेकर कही ये बात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज