Video: MP की सांसद को समर्थकों ने घेरा, इन बातों पर जमकर उतारा गुस्सा

दतिया-भिण्ड सांसद संध्या राय को अपने ही समर्थकों का गुस्सा झेलना पड़ा.

दतिया-भिंड सांसद कोसमर्थकों को जमकर गुस्सा झेलना पड़ा. लोगों ने उनसे कहा कि जब हमें आपकी जरूरत थी, तब न आप काम आईं और न आपका कोई प्रतिनिधि.

  • Share this:
भिण्ड. दतिया-भिण्ड सांसद संध्या राय को अपने ही समर्थकों का गुस्सा झेलना पड़ा. समर्थकों ने उन पर उपेक्षा का सीधा-सीधा आरोप लगा दिया. इस बीच सांसद भी चुपचाप कार्यकर्ताओं की बातें सुनती रहीं. दरअसल सांसद रविवार को भिण्ड जिले के दबोह कस्बे के व्यक्तिगत दौरे पर थीं.

पार्टी के ही जनपद सदस्य नारायण बघेल ने सांसद को जमकर खरी-खोटी सुनाई. उन्होंने सांसद से कहा- जब कांग्रेस सरकार में दबोह नगर को बड़े स्तर पर तोड़ा जा रहा था, तब न आप दिखीं न कार्यकर्ता. किसी के फोन तक नहीं उठाए. बघेल ने चुनाव में भरपूर मदद करने की बात को भी याद दिलाया और बोले जब आप यहां वोट मांगने आई थीं तब आपको कोई नहीं जानता था. लेकिन हमने तब भी आपकी मदद की. उधर सांसद का कहना था कि समर्थकों की नाराजगी जैसी कोई बात नहीं थी. हां थोड़ी देर हुई हो गई.



पहले भी लगे उपेक्षा के आरोप

बता दें कि भिंड-दतिया सांसद संध्या राय मुरैना जिले के अम्बाह की रहने वाली हैं. भाजपा ने पूर्व सांसद भागीरथ प्रसाद का टिकट काटकर संध्या राय को टिकट दिया था. उन पर पहले भी क्षेत्र में ना रहने और जनता की उपेक्षा करने के आरोप लगते रहे हैं. समर्थकों को कहना है कि उनके प्रतिनिधि भी नहीं सुनते. अगर फोन करो तो कुछ न कुछ बहाना मार देते हैं. इस बार के चुनाव में सब कुछ दांव पर था, फिर भी जनता को सांसद से जोड़े रखा. कांग्रेस के शासन काल में यहां भगदड़ जैसा माहौल हो गया था. शहर की बतरतीब तुड़ाई हो रही थी.

कांग्रेस ने लगाए थे ढूंढकर लाने के पोस्टर

युवक कांग्रेस ने तो सांसद महोदया को ढूंढकर लाने वाले को इनाम तक देने के पोस्टर लगाए थे. लेकिन, अब खुद उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं के द्वारा विरोध करना सांसद महोदया की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रहा है.