लाइव टीवी

अस्पताल गेट पर प्रसव पीड़ा से तड़पती रही महिला, इलाज न मिलने से नवजात की मौत

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 10, 2019, 3:14 PM IST
अस्पताल गेट पर प्रसव पीड़ा से तड़पती रही महिला, इलाज न मिलने से नवजात की मौत
अस्‍पताल के गेट पर पहुंचते ही महिला को प्रसव पीड़ा होने लगी. उन्‍होंने वहां मौजूद सिक्‍योरिटी गार्ड्स और नर्स से मिन्‍नतें कीं, लेकिन उन्‍हें तत्‍काल लेबर रूम जाने की अनुमति नहीं दी गई.

अस्‍पताल के गेट पर पहुंचते ही महिला को प्रसव पीड़ा होने लगी. उन्‍होंने वहां मौजूद सिक्‍योरिटी गार्ड्स और नर्स से मिन्‍नतें कीं, लेकिन उन्‍हें तत्‍काल लेबर रूम जाने की अनुमति नहीं दी गई.

  • Share this:
भिंड जिला अस्पताल के गेट पर एक महिला प्रसव पीड़ा से करीब 45 मिनट तक तड़पती रही. उनका पति वहां मौजूद सुरक्षा गार्ड और नर्सिंग स्टाफ से अंदर ले जाकर इलाज करने के लिए मिन्नतें करता रहा, लेकिन उनकी एक न सुनी गई. गौरतलब है कि महिला के पति ने प्रसूति गृह के स्टाफ से भी मदद मांगी थी पर वहां से भी फौरन मदद नहीं मिली. करीब आधे घंटे के बाद जब महिला को लेबर रूम ले जाकर डिलीवरी कराई गई, तब तक उनका बच्चा मर गया था. बता दें कि मूरतपुरा की रहने वाली महिला पति के साथ मंगलवार को जिला अस्पताल पहुंची थी, लेकिन अस्पताल के गेट के पास ही प्रसव पीड़ा शुरू हो गई थी.

मदद करने के बजाय लोग बनाते रहे वीडियो

अस्पताल के गेट पर महिला को तड़पता देख लोग उसका वीडियो बनाते रहे. वहीं, महिला और उसका पति लोगों से मदद मांगता रहा. वहां मौजूद भीड़ में से किसी ने भी महिला को लेबर रूम तक पहुंचाने में मदद नहीं की. अगर वीडियो बनाने की बजाए उसकी मदद करते तो नवजात की जान बच सकती थी.

जिला अस्पताल गेट के पास ही गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा से तड़पती रही और लोग वीडियो बनाते रहे. अगर लोग वीडियो बनाने की बजाय उसकी मदद करते तो नवजात की जान बचाई जा सकती थी.


जिलाधिकारी और सिविल सर्जन ने दिया कार्रवाई का भरोसा

मामले में सिविल सर्जन डॉ. अजीत मिश्रा का कहना है कि अगर अस्पताल गेट पर महिला प्रसव पीड़ा से तड़पती रही और कोई स्टाफ नहीं पहुंचा तो मामला गंभीर है. उनहोंने कहा कि जो भी दोषी कर्मचारी होगा, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस मामले में जिलाधिकारी छोटे सिंह ने मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की बात कही है. उन्‍होंने सख्‍त लहजे में कहा कि दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा.

ये ही वो भिंड का जिला अस्पताल है, जहां गर्भवती महिला को इलाज नहीं मिलने से उसके नवजात की मौत हो गई.

Loading...

ये भी पढ़ें - भिंड के दबोह में युवक की हत्या करने वाला महाराष्ट्र के ठाणे से गिरफ्तार

ये भी पढ़ें - खुलासा: अवैध संबंध के चलते पति ने पत्नी को उतारा था मौत के घाट, शव को खेत में किया दफन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भिंड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 10, 2019, 2:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...