शिवराज सरकार ने एक क्लिक में 56.80 लाख छात्रों के खातों में डाले 137.66 करोड़ रुपए
Bhopal News in Hindi

शिवराज सरकार ने एक क्लिक में 56.80 लाख छात्रों के खातों में डाले 137.66 करोड़ रुपए
कोरोना के कारण अभी स्कूल-कॉलेज बंद हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज (CM Shivraj) ने बच्चों को एकलव्य भील बालक की कहानी सुनायी. उन्होंने कहा-आप स्कूल (school) नहीं जा पा रहे हैं तो क्या हुआ. घर पर बैठकर ही एकाग्रता से पढ़ाई करो.आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता

  • Share this:
भोपाल.कोरोना (Corona) काल में स्कूल कॉलेज बंद हैं. ऐसे हालात में शिवराज सरकार छात्रों की मदद के लिए आगे आयी है. सरकार ने एक बार फिर छात्रों के खाते में 137.66 करोड़ रुपए ट्रांसफर (Money Transfer) किए हैं. गुरुवार को एमपी सरकार ने कक्षा 1 से 8वीं तक के 56 लाख 80 हजार बच्चों को खाद्य सुरक्षा भत्ते के 137 करोड़ 66 लाख रुपए उनके खाते में डाले हैं. मिड डे मील बनाने वाले 2 लाख 10 हजार रसोइयों के लिए भी 42 करोड़ रूपए भेज दिए हैं.

इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छात्रों को संबोधित भी किया. उन्होंने कहा-कोरोना काल में स्कूल बंद हैं और आगे कब खुलेंगे यह अभी बताया नहीं जा सकता. सरकार ने बच्चों की पढ़ाई की ऑनलाइन और रेडियो कार्यक्रमों के ज़रिए व्यवस्था की है. इसके साथ ही कक्षा 1 से 08 तक के बच्चों के मिड डे मील के लिए उनके घर पर ही खाद्यान्न पहुंचाया जा रहा है. खाद्य सुरक्षा भत्ते का पैसा भी उनके खातों में भिजवाया जा रहा है.

सीएम ने बच्चों को पढ़ाया एकलव्य का पाठ
मुख्यमंत्री ने बच्चों को एकलव्य भील बालक की कहानी सुनायी. उन्होंने कहा एकलव्य पढ़ाई करने गुरुकुल नहीं जा सका तो उसने अपने गुरु की मिट्टी की मूर्ति बनाकर धनुष विद्या का अभ्यास किया और श्रेष्ठ धनुर्धर बन गया. इसी  प्रकार आप भी स्कूल नहीं जा पा रहे हैं तो क्या हुआ. घर पर बैठकर ही एकाग्रता से पढ़ाई करो.आपको आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता. पढ़ाई का सामान आपके पास ऑनलाइन पहुंचाया जा रहा है. साथ ही मोबाइल पर शिक्षक आपके प्रश्नों के उत्तर भी देंगे.



कोरोना काल में पढ़ाई
कोरोना के दौरान शिक्षक घर-घर जाकर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले लगभग 90 लाख छात्रों को पाठ्य पुस्तक और वर्क बुक बांट रहे हैं. अब तक 90-95 प्रतिशत छात्रों को पाठ्य पुस्तकें दी जा चुकी हैं. इसी के साथ डिजीलैप कार्यक्रम के तहत शिक्षकों ने छात्रों को सदस्य बनाकर 50 हजार से अधिक वाट्स एप ग्रुप बनाए हैं. कक्षावार बनाए गए वॉट्स एप ग्रुप पर अब तक 19 लाख से अधिक छात्रों को हर रोज शैक्षणिक वीडियो भेजे जाते है. छात्र जो सवाल पूछते हैं शिक्षक उनका समाधान करते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज