सुर्ख़ियां : ताई बोलीं ग़लत था आकाश का बल्ला चलाना, कमलनाथ सरकार करेगी बड़ा बदलाव

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने उनके ट्वीट पर हंगामा मचने के दूसरे दिन कहा कि मेरे ट्वीट केवल हमारी पार्टी के पुरखों व वरिष्ठों का स्मरण मात्र है. इन्हें पूर्व राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल से जोड़ना ठीक नहीं है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 8:18 AM IST
सुर्ख़ियां : ताई बोलीं ग़लत था आकाश का बल्ला चलाना, कमलनाथ सरकार करेगी बड़ा बदलाव
आकाश के मामले में ताई ने तोड़ी चु्पपी
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 16, 2019, 8:18 AM IST
नईदुनिया ने ख़बर दी है कि विधानसभा सत्र के बाद मध्य प्रदेश में सरकारी विभागों के समूह बनाए जाएंगे. CM ने इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है.प्रदेश में प्रशासनिक कसावट के लिए समान प्रकृति का काम करने वाले विभागों का समूह बनाया जाएगा. मुख्यमंत्री विभागीय अफसरों के साथ पहली बैठक में ही साफ कर चुके हैं कि कुछ विभाग, निगम, मंडल और प्राधिकरण शोभा की सुपारी बने हुए हैं. इन्हें या तो बंद कर दिया जाए या फिर दूसरे विभागों में मिला दिया जाए. इससे समन्वय बेहतर होगा और मानव संसाधन का सकारात्मक उपयोग भी किया जा सकेगा.
पत्रिका में खबर है-कमलनाथ सरकार अपने कामकाज का आंकलन खुद करेगी. वो एक सर्वे के ज़रिए लोगों से अपने कामकाज के बारे में पता लगाएगी. लोगों से 30 सवाल पूछे जाएंगे. आईआईटी खड़गपुर से सर्वे का फॉर्म तैयार कराया गया है, जिसमें शासन-प्रशासन के कामकाज के बारे में पूछा जाएगा.
दैनिक भास्कर में ख़बर है कि सुप्रीम कोर्ट ने बच्चों से ज्यादती के कुल मामले और यह कितने समय से अदालतों में लंबित हैं, इसका ज़िलेवार ब्यौरा मांगा है. सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री को सभी हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार से यह डेटा जुटाकर 10 दिन में रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है. अगली सुनवाई 25 जुलाई को होगी. एमिकस क्यूरी सीनियर एडवोकेट वी गिरी ने कोर्ट को बताया कि सबसे बुरी स्थिति उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश की है. मध्य प्रदेश 2,389 मामलों के साथ दूसरे नंबर पर है.
नईदुनिया ख़बर दे रहा है कि मध्‍यप्रदेश में अब पांचवीं व आठवीं के बच्चों का मासिक मूल्यांकन होगा.स्कूल शिक्षा विभाग ने इसकी तैयारी कर ली है। इसके तहत महीने में एक बार टेस्ट होगा, जिससे बच्चों ने कितना पढ़ा और शिक्षकों ने कितनी पढ़ाई कराई, इसकी समीक्षा भी होगी.मासिक मूल्यांकन की प्रक्रिया को मजबूत बनाने के लिए एक प्रश्नपत्र शिक्षा पोर्टल पर भी अपलोड होगा.

पत्रिका में खबर है कि बीना में बीजेपी विधायक महेश राय ने एसडीएम के एल मीणा के चैंबर में घुसकर बदसुलूकी की. उन्होंने पहले मुर्दाबाद के नारे लगाए और फिर कहा-अभी तुम नये आए हो, तुम्हें नहीं पता कि विधायक से कैसे बात करते हैं. महेश राय ज्ञापन देने पहुंचे थे, लेकिन एसडीएम उसे लेने बाहर नहीं आए, इस पर राय गुस्सा थे.
दैनिक भास्कर बता रहा है कि -हरा भोपाल-शीतल भोपाल अभियान के क्रियान्वयन के लिए गठित कार्यसमूह की बैठक सोमवार को हुई. इसमें मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने कहा-भवन निर्माण के लिए अगर पेड़ काटें तो 10 गुना लगाएं. उन्होंने निर्देश दिए कि पूरे प्रदेश में लोगों को पौधरोपण के लिए प्रोत्साहित किया जाए. पौधे बांटने के लिए घर-घर मांग-पत्र बांटे जाएं.
नईदुनिया में ख़बर है-इंदौर के बल्लाकांड पर बोलीं सुमित्रा महाजन : जो गलत है, उसे गलत कहना पड़ेगा.आकाश विजयवर्गीय द्वारा नगर निगम के अधिकारियों की क्रिकेट के बल्ले से पिटाई पर लोकसभा की पूर्व स्पीकर सुमित्रा महाजन ने अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा-जिस व्यवहार को आप सही नहीं मान सकते, तो मैं कैसे मान सकती हूं?
Loading...

पत्रिका में ख़बर है कि गुरु पूर्णिमा पर खंडवा में संत धूनी वाले बाबा की समाधि पर मेला चल रहा है. पहले दिन ही करीब 30 हजार श्रद्धालु यहां पहुंचे. आज 108 दीपों के साथ महाआरती होगी.
दैनिक भास्कर में ख़बर है-प्रदेश में डॉग हैंडलर के साथ उनके कुत्तों के ट्रांसफर के मामले में राजनीतिक आरोप-प्रत्यारोप जारी हैं. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तंज कसते हुए कहा सीएम हाउस की सुरक्षा में लगे इंसानों के साथ कुत्तों के भी ट्रांसफर किए जा रहे हैं.इस पर पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि शिवराज सरकार के दौरान भी प्रदेश में पुलिस डॉग हैंडलर के ट्रांसफर होते थे.
दैनिक भास्कर बता रहा है-भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने उनके ट्वीट पर हंगामा मचने के दूसरे दिन कहा कि मेरे ट्वीट केवल हमारी पार्टी के पुरखों व वरिष्ठों का स्मरण मात्र है. इन्हें पूर्व राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल से जोड़ना ठीक नहीं है. वे मेरे आदर्श हैं. ये संगठन पर्व को देखते हुए विचारधारा से जुड़े ट्वीट मात्र हैं.
दैनिक भास्कर में ख़बर है-माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विवि में आर्थिक अनियमितताओं के आरोपी पूर्व कुलपति प्रो. बीके कुठियाला 19 जुलाई को कोर्ट में हाजिर होंगे. यह जानकारी उनके वकील ने सोमवार को कोर्ट को दी है. इसके बाद कोर्ट ने सोमवार को होने वाली सुनवाई की तारीख 22 जुलाई तय की है.

ये भी पढ़ें-बंद नहीं होगा शिवराज सरकार का राज्य आनंद संस्थान
First published: July 16, 2019, 8:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...