सुर्ख़ियां : डॉक्टर्स की हड़ताल और CM कमलनाथ की चिट्टी की रही चर्चा

कमलनाथ की दिल्ली में डिनर पार्टी (डिनर डिप्लोमेसी) के बाद बाद भोपाल में सिंधिया कैंप के मंत्रियों की ‘डिनर डिप्लोमेसी से कांग्रेस में हलचल है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: June 18, 2019, 9:01 AM IST
सुर्ख़ियां :  डॉक्टर्स की हड़ताल और CM कमलनाथ की चिट्टी की रही चर्चा
डॉक्टरों की हड़ताल
News18 Madhya Pradesh
Updated: June 18, 2019, 9:01 AM IST
शहर-प्रदेश-देश-विदेश-खेल-राजनीति-व्यापार-अपराध-समाज और मनोरंजन की ख़बरों के साथ राजधानी भोपाल के अख़बार सजे हुए हैं. लेकिन आज की सुर्ख़ियां हैं जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल की ख़बरें.
राजधानी भोपाल के सभी अख़बारों में डॉक्टर्स की हड़ताल को प्रमुखता से छापा है. कोलकाता में डॉक्टरों पर हमले के विरोध में प्रदेश में डॉक्टरों की हड़ताल के कारण स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गयीं. हज़ारों मरीज़ और उनके अटेंडेट्स दिनभर परेशान होते रहे. प्रदेश भर में सैकड़ों ऑपरेशन टाल दिए गए.सरकारी के साथ निजी अस्पताल, पैथालॉजी लैब और डायग्नोस्टिक सेंटर्स भी बंद रहे. कई ज़िलों में सरकारी डॉक्टर काली पट्टी बांधकर काम करते नज़र आए.
पत्रिका ने खबर दी है-सीएम कमलनाथ ने गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी लिखी. इसमें उन्होंने महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराध रोकने के लिए 880 करोड़ रुपए की मदद मांगी है.सीएम ने इसके लिए एख सेट-अप का प्रस्ताव शाह को भेजा है.
दैनिक भास्कर ने पहले पेज पर इंदौर-दुबई फ्लाइट शुरू होने की ख़बर दी है.इंदौर से दुबई के लिए पहली इंटरनेशनल फ्लाइट 15 जुलाई से शुरू होगी. ये इंदौर एयरपोर्ट से सप्ताह में तीन दिन सोमवार, बुधवार और शनिवार को चलेगी. जबकि दुबई से मंगलवार, शुक्रवार और रविवार को इंदौर आएगी. एअर इंडिया के इस विमान में 182 सीटें होंगी और इंदौर से दुबई तक का किराया 14 हजार रु., जबकि दुबई से इंदौर का किराया 12500 रु. होगा. सोमवार से कंपनी ने इसकी टिकट बुकिंग शुरू कर दी है. इंदौर से हर महीने करीब 1500 यात्री दुबई जाते हैं.

नईदुनिया ने खबर दी है-असिस्टेंट प्रोफेसर्स की नियुक्ति पर रोक हटी, दिव्यांगों के आरक्षण पर पुनर्विचार के बाद जारी होगी नई सूची.मध्यप्रदेश हाईकोर्ट ने अपने एक महत्वपूर्ण आदेश में राज्य शासन को निर्देश दिया कि राज्य के शासकीय महाविद्यालयों में हो रही असिस्टेंट प्रोफेसर्स की नियुक्ति में दिव्यांगों को दिए जा रहे अनुचित व अधिक आरक्षण पर पुनर्विचार किया जाए.
पत्रिका ने अपने पहले पेज पर भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर की शपथ की ख़बर दी है. लोकसभा में शपथ के दौरान पिता का नाम लेने के बजाए गुरु का नाम लेने पर विपक्ष ने हंगामा कर दिया. उन्होंने अपना नाम साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पूर्ण चेतनानंद अवधेशानंद गिरि बोला था.
दैनिक भास्कर ने भोपाल में मॉनसून की ख़बर प्रमुखता से दी है.अख़बार लिखता है-सिर्फ दो दिन प्री मानसून बारिश, जून का कोटा पूरा होना मुश्किल.जून माह का बारिश का कोटा है 14.77 सेमी है, लेकिन अब तक सिर्फ दो बार ही प्री मानसून बारिश हुई है. इस दौरान सिर्फ 3.61 सेमी पानी ही बरसा. रोजाना 1 सेमी बारिश की जरूरत है. इन्हीं हालातों को देखते हुए जून में बारिश का कोटा पूरा होना मुश्किल दिखाई पड़ता है.
Loading...

नईदुनिया ने जलसंकट पर ख़ास ख़बर दी है. धार में -पानी चोरी ना हो जाए, इसलिए लोग ड्रम पर ताला लगाकर रखते हैं. अख़बार लिखता है-धार जिले के के अजगांव की हालत ऐसी है कि पानी होते हुए भी यहां लोगों को को जलसंकट का सामना करना पड़ रहा है. गांव में स्थित करोड़ों की फ्लोराइड उन्मूलन नर्मदा पेयजल योजना का पानी 78 से अधिक गांवों को दिया जा रहा है. योजना फ्लोराइड प्रभावित गांवों के लिए होने से अजगांव वालों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है. हालत यह है कि ड्रम पर उन्हें ताला लगाकर रखना पड़ रहा है, कि कहीं पानी चोरी न हो जाए.
पत्रिका ने सिटी पेज पर स्पेशल रिपोर्ट दी है. पुलिस के 3 घोड़ों की गर्मी से मौत. गणतंत्र और स्वतंत्रता दिवस पर परेड में शामिल होने वाले पुलिस के 20 घोड़ों पर गर्मी कहर बरपा रही है. इन घोड़ों को ओपन शेड में रखा गया है. इससे किसी का हाजमा खराब हो गया है तो किसी की नाक से खून बह रहा है.गर्मी के कारण दो घोड़ी-रानी और मोनिका और एक घोड़े की मौत हो गयी. चौथा घोड़ा टीपू बीमार है.
दैनिक भास्कर ने अंदर के पेज पर खबर दी है-सिंधिया कैंप के मंत्रियों की ‘डिनर डिप्लोमेसी’-मुख्यमंत्री कमलनाथ की दिल्ली में डिनर पार्टी (डिनर डिप्लोमेसी) के बाद बाद भोपाल में हुई डिनर पार्टी से कांग्रेस में सियासत गरमा गई है. यह डिनर पार्टी गोपनीय थी, जो ज्योतिरादित्य सिंधिया कैंप के मंत्री महेंद्रसिंह सिसोदिया के बंगले पर हुई.इसमें स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट, राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी मौजूद थे. इन मंत्रियों का आरोप है कि उनके विभाग में जानबूझकर ऐसे अफसरों को पदस्थ किया गया है जो काम में अड़ंगा लगाते हैं. पार्टी में शामिल मंत्री सार्वजनिक रूप से कुछ भी बोलने से बच रहे हैं, लेकिन यह साफ है कि वे सरकार से नाराज हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


First published: June 18, 2019, 9:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...