वैक्सीनेशन: 18+ का ऑन स्पॉट नहीं होगा रजिस्ट्रेशन, जानिए NHM ने क्या दिए निर्देश

नेशनल हेल्थ मिशन ने 18+ उम्र वालों के लिए पुरानी व्यवस्था के ही निर्देश दिए हैं. ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन नहीं होगा. (सांकेतिक तस्वीर)

नेशनल हेल्थ मिशन ने 18+ उम्र वालों के लिए पुरानी व्यवस्था के ही निर्देश दिए हैं. ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन नहीं होगा. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona Vaccination: नेशनल हेल्थ मिशन ने सरकार के निर्देश के विपरीत निर्देश दिए हैं. किसी भी 18+ व्यक्ति का वैक्सीनेशन सेंटर पर ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन नहीं होगा. लोगों को स्लॉट की प्री-बुकिंग ही करानी पड़ेगी.

  • Last Updated: May 28, 2021, 9:54 AM IST
  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश में 18+ वालों का ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन वैक्सीनेशन सेंटर पर नहीं हो सकेगा. उन्हें इसके लिए प्री-बुकिंग ही करनी होगी. शाम 4 के बाद जो डोज बचेंगे, उनके लिए ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन होगा. सरकार के निर्देश के विपरीत नेशनल हेल्थ मिशन (NHM) की प्रदेश डायरेक्टर ने निर्देश पारित किए हैं.

NHM की मध्य प्रदेश डायरेक्टर छवि भारद्वाज ने 18+ वालों के वैक्सीनेशन के लिए सभी CMHO को निर्दश जारी किए. उन्होंने निर्देश में कहा है कि वैक्सीनेशन 100 फीसद ऑनलाइन बुकिंग के जरिए ही होगा. इसके लिए लोगों को प्री-बुकिंग ही करानी होगी. छवि भारद्वाज ने बताया कि अगर ऑनलाइन बुकिंग करने वाले लोग वैक्सीनेशन के लिए सेंटर नहीं पहुंचंगे, तो ऐसी स्थिति में बचे हुए डोज के लिए ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन किया जा सकेगा. ये शाम 4 बजे के बाद होगा.

सरकार ने दिए थे ये निर्देश

गौरतलब है कि सरकार के द्वारा निर्देश दिए गए थे कि अब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं है. आधार कार्ड या फिर दूसरे दस्तावेज के जरिए सेंटर पर सीधे टीकाकरण हो सकेगा. यह व्यवस्था 26 मई से शुरू की गई थी. लेकिन, NHM के नए आदेश और नई गाइडलाइन के तहत अब यह संभव नहीं हो पा रहा है.
ग्रामीण क्षेत्रों में भी ऑनलाइन व्यवस्था

छवि भारद्वाज ने अपने आदेश में यह भी स्पष्ट किया है कि जिला मुख्यालय को छोड़कर प्रदेश के शेष बचे समस्त ग्रामीण अंचलों में भी वैक्सीनेशन 100 फीसद ऑनलाइन बुकिंग के जरिए ही होगा. यहां भी शहरों जैसी व्यवस्था ही रहेगी.

प्रदेश में काबू में होता दिख रहा कोरोना



दावा किया गया है कि मध्य प्रदेश में कोरोना अब काबू में होता दिख रहा है. गुरुवार को पॉजिटिविटी रेट 2.8% हो गया है. प्रदेश के सिर्फ दो जिले, भोपाल और इंदौर ही ऐसे हैं जहां प्रतिदिन मरीजों की संख्या 100 से ज्यादा है. बाकी सब जगह ये आंकड़ा 100 से नीचे है. यहां तक कि ग्वालियर और जबलपुर में भी अब कोरोना कंट्रोल में है. सरकारी आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना के 1977 नए केस आए हैं. प्रदेश का साप्ताहिक पॉजिटिविटी रेट 4% और आज का पॉजिटिविटी रेट 2.8% है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज