Bhopal Vaccination: स्वास्थ्य मंत्री के इंतजार में कोरोना टीकाकरण में हुई देर तो लोगों ने किया हंगामा

स्वास्थ्य मंत्री के इंतजार में देरी से शुरू हुआ 18 प्लस वैक्सीनेशन, संख्या से अधिक लोग पहुंचे वैक्सीन लगवाने.

स्वास्थ्य मंत्री के इंतजार में देरी से शुरू हुआ 18 प्लस वैक्सीनेशन, संख्या से अधिक लोग पहुंचे वैक्सीन लगवाने.

Bhopal News: भोपाल के तुलसी नगर में मंत्री के आने में देरी की वजह से नाराज हुए लोग. एक घंटे तक इंतजार करने के दौरान कोरोना वैक्सीन सेंटर पर जमा हुई 500 लोगों की भीड़. प्रदेश में आज से शुरू हुआ है टीकाकरण अभियान.

  • Share this:

भोपाल. राजधानी भोपाल में 18 प्लस वैक्सीनेशन को शुरू किए जाने में देरी हो गई. यह देरी स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी के इंतजार की वजह से हुई. उन्हें कार्यक्रम की शुरूआत करनी थी और वह यहां एक घंटा देरी से पहुंचे. यहां 100 लोगों को टीका लगना था, लेकिन इस संख्या से ज्यादा करीब 500 लोग वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंच गए. यह सभी वह लोग थे जिनका रजिस्ट्रेशन तो हुआ था, लेकिन उनको वैक्सीनेशन के लिए एसएमएस नहीं आया था.

नवीन कन्या विद्यालय तुलसीनगर में वैक्सीनशन सेंटर बनाया था. रजिस्ट्रेशन होने पर 100 युवाओं को वैक्सीन का पहला डोज लगाने के लिए एसएमएस कर बुलाया गया था. यहां पहुंची मोनिका गुप्ता को पहला टीका लगा. उन्हें सुबह 9 से 11 बजे का समय दिया गया था. मोनिका गुप्ता सुबह 8.30 बजे ही वैक्सिनिशन सेंटर पहुंच गईं थीं. हालांकि करीब 10 बजे उन्हें कोरोना टीका का पहला डोज दिया गया. इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि प्रशासन की टीम स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी आने का इंतजार कर रही थी. उनके आने के बाद ही 18 प्लस का वैक्सीनेशन का काम शुरू होता, लेकिन जब 1 घंटे बाद भी मंत्री वैक्सीनेशन सेंटर पर नहीं पहुंचे तो लाइन में खड़े लोगों ने आपत्ति जताकर हंगामा शुरू कर दिया. इसके बाद प्रशासन के अधिकारियों ने टीकाकरण शुरू कराया. स्वास्थ्य मंत्री के अलावा चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग के भी सेंटर पहुंचने की खबर थी, लेकिन वह भी तय समय पर नहीं पहुंचे.

Youtube Video

कल बढ़ेंगे वैक्सीन सेंटर
बुधवार को भोपाल में सिर्फ एक सेंटर पर वैक्सीनेशन शुरू हुआ. कल दूसरे दिन से 18 प्लस के लिए सेंटर बढ़ाये जाएंगे. वहीं भोपाल में बाकी सेंटर्स पर 45 प्लस के लिए वैक्सीन लग रही है. प्रदेश में 5 मई से 15 मई तक कुल 1480 सत्रों में 1 लाख 48 हजार डोज लगाने का कार्यक्रम तय किया गया है. जबकि 8 मई और 10 मई को 416 सत्रों में 41,600 डोज लगाने का लक्ष्य है. इसी तरह 12, 13 और 15 मई को 960 सत्रों में 96,000 डोज लगाए जाएंगे. मध्य प्रदेश में वैक्सीनेशन की 5 करोड़ 19 लाख डोज की जरूरत है. कोविशील्ड की 4 करोड़ 76 लाख वैक्सीन, को-वैक्सीन की 52 लाख 25 हजार डोज के ऑर्डर सीरम इंस्टिट्यूट को दिए गये हैं. वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर टीकाकरण का कार्यक्रम चलता रहेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज