भोपाल: हर जोन में खुलेंगे 2-2 कोविड हेल्प सेंटर, दवाओं से लेकर हॉस्पिटल में भर्ती तक की मिलेगी मदद

भोपाल नगर निगम के हर जोन में कोविड हेल्प सेंटर बनेंगे. ये निर्देश आज चिकित्सा शिक्षा मंत्री कैलाश सारंग ने दिये.

भोपाल नगर निगम के हर जोन में कोविड हेल्प सेंटर बनेंगे. ये निर्देश आज चिकित्सा शिक्षा मंत्री कैलाश सारंग ने दिये.

राजधानी भोपाल में बढ़ते कोरोना केसस को ध्यान में रखते हुए नगर निगम के हर जोन कार्यालय में दो-दो कोविड सहायता केंद्र खोलने का फैसला किया गया है. इन केंद्रों के जरिये दवाओं से लेकर अस्पताल में भर्ती करने तक की मदद मिलेगी.

  • Last Updated: April 21, 2021, 11:33 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अब हर जोन कार्यालय में दो-दो कोविड सहायता केंद्र खुलेंगे. इन केंद्रों पर दवाओं से लेकर अस्पताल में भर्ती करने तक की मदद मिलेगी. इस संबंध में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने नगर निगम के अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किए हैं. मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि भोपाल नगर निगम के हर जोन में 2-2 कोविड सहायता केन्द्र खोले जायेंगे. यह केन्द्र 23 अप्रैल से शुरू हो जायेंगे. इन केन्द्रों पर सामान्य कोविड मरीजों को होम आइसोलेशन की आवश्यक दवाएं उपलब्ध होंगी.

इसकी तैयारियों के लिये आज सारंग ने भोपाल नगर निगम कार्यालय में नगर निगम अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें दायित्व सौंपा. इस बैठक में कलेक्टर अविनाश लवानिया, नगर निगम आयुक्त केवीएस चौधरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रभाकर तिवारी सहित जिले के अनुविभागीय अधिकारी उपस्थित थे.

निगम गाड़ियों से एनाउंसमेंट किया जाएगा

विश्वास सारंग ने कहा कि कोविड सहायता केन्द्र स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के सहयोग से संचालित होंगे. नगर निगम की गाड़ियाँ एलाउंसमेंट के जरिये इसकी जानकारी भी देंगी. हर केन्द्र का एक नोडल अधिकारी के साथ एक डॉक्टर की सेवाएं ली जायेंगी. इन केन्द्रों पर लोगों को जाने के लिये प्रेरित करने के उद्देश्य से जन-प्रतिनिधियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को जोड़ने के भी निर्देश दिये गये हैं. केन्द्र में आये गंभीर कोरोना पॉजिटिव मरीज को फीवर क्लीनिक और अन्य अस्पतालों के लिये लाइनअप किया जायेगा.
सोशल वर्कर के रूप में करना होगा काम

सारंग ने यह भी कहा कि नगर निगम के अधिकारियों एवं पदस्थ डॉक्टरों के लिये यह चुनौती भरा कार्य है, इसे सोशल वर्कर के रूप में करें। सहायता केन्द्र की लोकेशन लोगों की पहुंच में हो, इसका ध्यान रखा जाये. उन्होंने निर्देश दिये कि एसडीएम अपने क्षेत्र में हर छोटे-बड़े अस्पताल की अपडेट लेते रहें. छोटे अस्पतालों की भी इस संकट की घड़ी में महत्वपूर्ण भूमिका है. नगर निगम के 19 जोन हैं, हर जोन में 2-2 कोविड सहायता केन्द्र खोलने जाने से इनकी संख्या 38 हो जायेगी. इससे मरीजों को फायदा होगा और फीवर क्लीनिक सहित अन्य अस्पतालों की भीड़ में कमी आयेगी. बताया गया कि अभी 47 फीवर क्लीनिक भोपाल में संचालित हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज