भोपाल में रोज निकल रहा है 200 किलो COVID-19 का वेस्ट, ऐसे किया जाता है इसको नष्ट
Bhopal News in Hindi

भोपाल में रोज निकल रहा है 200 किलो COVID-19 का वेस्ट, ऐसे किया जाता है इसको नष्ट
कोविड-19 कचरे को नष्ट करने के लिए ले जाते कर्मचारी.

कोविड-19 वेस्ट को खत्म करने का भी प्लान नगर निगम ने तैयार किया है. इसके तहत शहर के सभी अस्पतालों का मेडिकल वेस्ट जहां पर नष्ट किया जाता है, उसी जगह पर अब कोविड-19 (COVID) वेस्ट को भी...

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस (Corona virus) का सबसे ज्यादा असर इंदौर और भोपाल में है. इंदौर के बाद भोपाल (Bhopal) ऐसा दूसरा शहर है जहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा है. यहां सिर्फ कोरोना वायरस ही नहीं बल्कि कोरोना वेस्ट (Corona West) भी सबसे ज्यादा निकल रहा है. कोविड-19 वेस्ट को खत्म करने का भी प्लान नगर निगम ने तैयार किया है. इसके तहत शहर के सभी अस्पतालों का मेडिकल वेस्ट जहां पर नष्ट किया जाता है, उसी जगह पर अब कोविड-19 वेस्ट को भी नष्ट किया जा रहा है.

सबसे बड़ी बात यह है कोरोना संक्रमण को लेकर रेड जोन बने भोपाल में हर दिन डेढ़ सौ से 200 किलो कोविड-19 का वेस्ट निकल रहा है, जिसे हर दिन नष्ट किया जा रहा है. कोविड-19 वेस्ट में मास्क, ग्लव्स, गाउन कैप और दूसरे वे सामान हैं जिनका इस्तेमाल संक्रमण के दौरान किया जाता है. भोपाल इंसीनरेटर से जुड़े डॉ. दीपक शाह के मुताबिक, भोपाल से हर दिन कोविड-19 वेस्ट निकल रहा है. यह वेस्ट कोरोना वायरस मरीज के घर और कोरोना वायरस के इलाज वाले अस्पतालों से जुड़ा हुआ है. इसको पूरी सावधानी के साथ बायो मेडिकल वेस्ट के साथ नष्ट किया जा रहा है, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोक जा सके.

कोविड-19 वेस्ट को इकट्ठा किया जा रहा है
वहीं, भोपाल नगर निगम का कहना है की राजधानी में नगर निगम के अमले के द्वारा इकट्ठे किए जा रहे कचरे के अलावा ट्रेंड कर्मचारी और स्वास्थ्य अमले द्वारा भी कोविड-19 वेस्ट को भी इकट्ठा किया जा रहा है, ताकि उसका संक्रमण किसी दूसरे में न फैले. साथ ही भोपाल इंसीनरेटर के साथ मिलकर उसे खत्म किया जा रहा है. सबसे ज्यादा बायो वेस्ट उन इलाकों से इकट्ठा किया जा रहा है, जहां कोरोना के मरीज ज्यादा हैं या फिर जिन इलाकों को कंटेनमेंट घोषित किया गया है. नगर निगम के डिप्टी कमिश्नर राजेश राठौर के मुताबिक, कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े वेस्ट को नष्ट करने के लिए पूरी तरीके से गंभीरता बरती जा रही है ताकि इसके प्रकोर को रोका जा सके.
कितना खतरनाक है कोविड- 19 वेस्ट 


दरअसल, मेडिकल साइंस में बायो वेस्ट से फैलने वाले संक्रमण जितना खतरनाक होता है उससे ज्यादा खतरनाक कोविड-19 वेस्ट को माना जा रहा है. क्योंकि किसी भी वस्तु के इस्तेमाल के बाद उसमें मौजूद वायरस को खत्म करने के लिए जरूरी है कि उसको पूरी तरीके से नष्ट किया जाए. वरना इसका संक्रमण दूसरों को हो सकता है. ऐसे में कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर जो उपाय किए जा रहे हैं उसको भी झटका लग सकता है. यही कारण है कि भोपाल में हर दिन कोविड-19 वेस्ट को इकट्ठा कर उसे नष्ट किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- 

खुशखबरी! लॉकडाउन में भी सभी कर्मचारियों को मिलेगा पूरा वेतन- UP लेबर कमिश्नर

लखनऊ: क्यारी से कनेर का फूल तोड़ने में महिला की गई जान, गैर इरादतन हत्या का केस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading