लाइव टीवी

सुर्ख़ियां : कर्ज़ के नाम पर छला गया किसान, मिशन 2019 की तैयारी में कांग्रेस

News18 Madhya Pradesh
Updated: January 25, 2019, 1:09 PM IST
सुर्ख़ियां : कर्ज़ के नाम पर छला गया किसान, मिशन 2019 की तैयारी में कांग्रेस
किसान की सांकेतिक तस्वीर

भोपाल से प्रतापगढ़ के बीच उत्कृष्ट कोच वाला रैक दौड़ेगा. 27 जनवरी को रेलवे देगा हरी झंडी. इस रैक की ख़ासियत ये है कि इसके कोच भोपाल की निशातपुरा कोट फैक्ट्री में तैयार हुए हैं. इस ट्रेन में बेहतरीन सुविधाएं और इंटीरियर है.

  • Share this:
राजधानी भोपाल के आज के अख़बारों में मौसम के मिजाज़, किसानों के लोन वितरण में गड़बड़ी, लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का मिशन-2019 और स्वच्छता सर्वेक्षण की ख़बरें सुर्ख़ियों में हैं.

दैनिक भास्कर की आज पहली ख़हर है-कर्ज़माफी प्रक्रिया में सामने आयी गड़बड़ी. शासन में हड़कंप. सहकारी समितियों और बैंको ने लोन चुका चुके किसानों पर भी निकाल दिया लाखों का कर्ज़.कमलनाथ सरकार ने जांच का आदेश दिया है. अखबार लिखता है पंचायतों और निकायों में कर्ज़माफी वाले किसानों की जो सूची तैयार की गयी है. उसमें भारी औऱ गंभीर गड़बड़ी सामने आ रही हैं. कर्ज़दारों की लिस्ट में उन किसानों के भी नाम जोड़ दिए गए हैं, जिन्होंने कभी कर्ज़ लिया ही नहीं. ऐसे भी नाम हैं जिन पर दोगुना राशि दिखा दी गयी है. इस गड़बड़ झाले में सहकारी समितियां शामिल हैं. सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने समितियों का स्पेशल ऑडिट कराके जांच की बात कही है.

ये भी पढ़ें-89 बरस के बीजेपी लीडर बाबूलाल गौर बोले : अभी तो लड़की देख रहे हैं, फिर 'शादी' करेंगे...

प्रदेश के मौसम की ख़बर आज के अख़बारों के पहले पेज पर है. दैनिक जागरण ने हैडलाइन दी है-राजधानी में कोहरा-सर्द हवाओं का पहरा, सूबे में ओला बारिश. 3 दिन में 7 डिग्री लुढ़का पारा. मौसम में अभी तेज़ी से उतार चढ़ाव आने के आसार. सिवनी मालवा, बैतूल, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, सहित कई ज़िलों में ओला-बारिश हुई. गुरुवार को भोपाल सहित प्रदेश के कई इलाकों में घना कोहरा छाया रहा. भोपाल में सुबह विजिबिलिटी 50 मीटर कर रह गयी थी.

ये भी पढ़ें - PHOTOS : खजराना गणेश मंदिर में महकी तिल और गुड़ की मिठास

स्वच्छता सर्वे की ख़बर भी हर अखबार की सुर्खियों में हैं. सर्वे में भोपाल को 46.32 अंक मिले, जो इंदौर से लगभग आधे हैं. इंदौर को 88.64 प्रतिशत अंक मिले हैं. दैनिक भास्कर अख़बार लिखता है शहर में इस बार सफाई व्यवस्था में ऐसा कोई खास बदलाव नहीं आया है, जिसके आधार पर भोपाल कोई बड़ा दावा कर सके. भोपाल को 1250 अंकों में से 579 और इंदौर को 1108 अंक मिले हैं.

ये भी पढ़ें - कर्ज़ माफ़ी से पहले सरकार सुनेगी किसानों की शिकायत, हर ज़िले में कंट्रोल रूम
Loading...

पत्रिका लिखता है-शहर मे स्वच्छता पर 100 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं लेकिन नहीं सुधरा सिस्टम. मॉनिटरिंग और निर्माण में कमज़ोरी के कारण आम लोगों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है. दिल्ली से आयी सेवन स्टार रेटिंग टीम भी गुरुवार को शहर में थी. पहले दिन उसने 40 पॉइंट पर नालों की जांच की. शहर में कुल 551 पॉइंट्स पर जांच करना है.

पत्रिका ने ख़बर दी है कि भोपाल से प्रतापगढ़ के बीच उत्कृष्ट कोच वाला रैक दौड़ेगा. 27 जनवरी को रेलवे देगा हरी झंडी. इस रैक की ख़ासियत ये है कि इसके कोच भोपाल की निशातपुरा कोट फैक्ट्री में तैयार हुए हैं. इस ट्रेन में बेहतरीन सुविधाएं और इंटीरियर है. कोच लाल और मिट्टी के रंग से रंगे हैं. सभी कोच में एलईडी लाइट हैं. एसी कोच में डबल एक्टिंग पार्टीशन डोर, ब्रेल लिपि के साइन, एस-ट्रैप बायो टॉयलेट और सुंदर फ्लोर है.

पत्रिका ने एक और बड़ी राजनीतिक खबर अंदर के पेज पर दी है. उसने लिखा है-लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का मिशन-29. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कराया प्रारंभिक सर्वे. दिग्विजय सिंह को फिर समन्वय की कमान. समन्वय समिति विधानसभा चुनाव की तर्ज पर लोकसभा चुनाव के लिए भी काम करेगी. उम्मीदवारों का चयन सर्वे के आधार पर होगा. सीएम कमलनाथ सभी सीटों का सर्वे करा चुके हैं. अब 27 जनवरी को लोकसभा सीट प्रभारियों की बैठक बुलायी गयी है. बीजेपी भी सर्वे के जरिए जिताऊ उम्मीदवार खोज रही है. संगठन स्तर पर ये सर्वे हो रहा है. जिताऊ उम्मीदवारों का पैनल बनाया जा रहा है. टिकट के सबसे ज़्यादा दावेदार भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, और रीवा सीट पर हैं.

नई दुनिया की फर्स्ट हैडलाइन है-मध्य प्रदेश में सरकार बनाकर भी कांग्रेस के हाथ खाली. लोकसभा चुनाव से पहले एबीबी-न्यूज-सी वोटर सर्वे. फिर से मोदी को सत्ता सौंपना चाहती है जनता. हाल ही में मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आयी है. लेकिन सर्वे के मुताबिक राज्य में कांग्रेस सरकार होने के बावजूद पीएम मोदी लोकप्रियता में सबसे आगे हैं. राज्य में विधान सभा चुनाव में जीत का फायदा कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में मिलता नहीं दिख रहा है. ये सर्वे देश की सभी 543 लोकसभा सीटों पर किया गया था. कुल 22309 लोगों से बात की गयी थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 25, 2019, 1:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...