• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • सुर्ख़ियां : मासूम जुड़वा भाइयों की हत्या से दहला हुआ है पूरा मध्य प्रदेश

सुर्ख़ियां : मासूम जुड़वा भाइयों की हत्या से दहला हुआ है पूरा मध्य प्रदेश

शिवराज सिंह चौहान ने कहा प्रदेश में गुंडों का बोलबाला है और सरकार तबादलों में व्यस्त हैं. समझ नहीं आता कि ट्रांसफर सीएम कर रहे हैं या उनके पीछे तैनात सुपर सीएम. प्रदेश में मिस्टर बंटाधार रिटर्न.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा प्रदेश में गुंडों का बोलबाला है और सरकार तबादलों में व्यस्त हैं. समझ नहीं आता कि ट्रांसफर सीएम कर रहे हैं या उनके पीछे तैनात सुपर सीएम. प्रदेश में मिस्टर बंटाधार रिटर्न.

शिवराज सिंह चौहान ने कहा प्रदेश में गुंडों का बोलबाला है और सरकार तबादलों में व्यस्त हैं. समझ नहीं आता कि ट्रांसफर सीएम कर रहे हैं या उनके पीछे तैनात सुपर सीएम. प्रदेश में मिस्टर बंटाधार रिटर्न.

  • Share this:
    आज के सभी अख़बारों ने चित्रकूट से अपह्रत मासूम जुड़वा भाइयों की हत्या को अपनी पहली हैडलाइन बनाया है. इसके साथ मुरैना टोल पर विधायक के भतीजे का हंगामा, एविएशन मैप पर जून तक भोपाल 16 शहरों से कनेक्ट होगा और भोपाल में एक युवक को घर में सील करने की ख़बरें सुर्ख़ियों में हैं.

    दैनिक भास्कर और पत्रिका सहित सभी अखबारों ने चित्रकूट से अपह्रत 6 साल के जुड़ाव भाइयों की हत्या की खबर प्रमुखता से दी है. 12 फरवरी को तेल कारोबारी बृजेश रावत के बच्चों को बंदूक की नोंक पर स्कूल बस से अगवा कर लिया गया था. शनिवार रात दोनों बच्चों के शव उत्तरप्रदेश के बांदा में मिले. अपहरणकर्ताओं ने बृजेश रावत से 20 लाख की फिरौती वसूल ली थी. लेकिन दोनों बच्चे आरोपियों को पहचानते थे. इसलिए पहचाने जाने के डर से आरोपियों ने बच्चों के हांथ-पैर बांधे और यमुना में फेंक दिए.

    बच्चों की लाश बांदा के औगासी घाट पर मिली. अपहरण और हत्या का मास्टर माइंट पदम शुक्ला है. उसका छोटा भाई विष्णुकांत, भाजपा का कार्यकर्ता है औऱ पिता वहीं संस्कृत महाविद्यालय में प्राचार्य हैं. इस मामले में पुलिस की बड़ी नाकामी सामने आयी है. 12 दिन में भी पुलिस आरोपियों को पकड़कर बच्चों को मुक्त नहीं करा पायी. बच्चों की हत्या के बाद उसने 6 आरोपियों को पकड़ा.

    इस जघन्य हत्याकांड की तीखी निंदा हुई है. शिवराज सिंह चौहान सहित सभी भाजपा नेताओं ने प्रदेश में कानून व्यवस्था की बिगड़ी स्थिति के लिए कमलनाथ सरकार को आड़े हाथों लिया. शिवराज सिंह चौहान ने कहा प्रदेश में गुंडों का बोलबाला है और सरकार तबादलों में व्यस्त हैं. समझ नहीं आता कि ट्रांसफर सीएम कर रहे हैं या उनके पीछे तैनात सुपर सीएम. प्रदेश में मिस्टर बंटाधार रिटर्न.

    पत्रिका ने पीएचक्यू में तैनात एडीजी राजेन्द्र कुमार मिश्रा के पिता की ख़बर छापी है. अखबार लिखता है कि एडीजी के पिता कालूमणि मिश्रा मृत हैं या जीवित इस बारे में म.प्र. राज्य मानवाधिकार आयोग आज अगली कार्रवाई के लिए निर्णय लेगा, उनसे संवंधित रिपोर्ट आयोग को आज मिलेगी शनिवार को पुलिस और डॉक्टरों की टीम एडीजी मिश्रा के घर गयी थी लेकिन उसे घर में नहीं घुसने दिया गया था.

    मानवाधिकार आयोग को सिविल कोर्ट के अधिकार हैं. इसलिए आयोग अब अगली कार्रवाई के बारे में फैसला लेगा. एडीजी मिश्रा पर आरोप है कि उनके पिता की मौत 14 जनवरी को हो चुकी है. शहर के एक निजी अस्पताल ने उनका डेथ सर्टिफिकेट जारी किया था, लेकिन उसके बाद भी एडीजी मिश्रा उन्हें जीवित मानते हुए उनकी झाड़-फूंक और आयुर्वैदिक इलाज करा रहे हैं.

    दैनिक भास्कर ने पॉजिटिव मंडे में ख़बर दी है कि एविएशन मैप पर भोपाल जून तक 16 शहरों से कनेक्ट हो जाएगा. चार प्रमुख एयरलाइंस की कुल 60 फ्लाइट भोपाल से ऑपरेट होंगी. अगले तीन महीनों में 8 नये शहरों के लिए फ्लाइट शुरू होंगी. अब भोपाल से सूरत, उदयपुर, चेन्नई, ग्वालियर, आगरा, इलाहाबाद, गाज़ियाबाद और नासिक के लिए उड़ान शुरू हो जाएगी. इसी के साथ एयर इंडिया की 438 फ्वाइट भोपाल से तेहरान, रियाद, लंदन, बैंकॉक,दोहा, दुबई, और आबूधाबी के लिए दिल्ली में कनेक्टिवी देगी.

    ये भी पढ़ें - सतना अपहरण-हत्याकांड : कांग्रेस ने पूछा-हर भाजपाई अपराधी नहीं, पर हर अपराध में भाजपा क्यों ..

    पत्रिका सहित सभी अखबारों में छपा है कि भोपाल के कारोबारी राजकुमार बच्चानी का घर एक निजी फायनेंस कंपनी की टीम ने सील कर दिया. बच्चानी ने कंपनी से लोन लिया था. ये टीम उसकी वसूली के लिए आयी थी. घर में बच्चानी का बीमार बेटा था. लेकिन टीम ने उसे भी बंद कर दिया. बाद में पिता ने सीएम और मंत्रियों से गुहार लगायी तब 26 घंटे बाद घर की सील तोड़कर बेटे को निकाला जा सका.
    सभी अखबारों ने चित्रकूट अपहरण कांड के आरोपियों के खिलाफ प्रदर्शन की ख़बर छापी है. राजनीतिक दलों से लेकर आम जनता तक ने सड़क पर निकलकर प्रदर्शन किया और हत्यारों को फांसी की सज़ा देने की मांग की. जगह जगह पुतले जताए गए.

    PHOTOS : चित्रकूट अपहरण-हत्याकांड : मास्‍टर माइंड पदमकांत शुक्‍ला से डरती थी स्‍थानीय पुलिस

    नव दुनिया ने पहले पेज पर खबर दी है कि राज्य सरकार शहर और गांव में 31 दिसंबर 2018 तक कब्ज़े वाले भूमिहीनों को आवासीय पट्टे देने जा रही है. इसके लिए जल्द ही वो अधिनियम 2014 में संशोधन करने जा रही है. सूत्रों के मुताबिक अध्यादेश का मसौदा तैयार किया जा चुका है.

    दैनिक भास्कर ने एक और खबर दी है. शिवपुरी में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के एक कार्यक्रम में एक सहायिका ने महिला बाल विकास विभाग की मंत्री इमरती देवी से सवाल किया कि मंत्रीजी आप हमसे पूछ रही हैं, आपकी एजुकेशन क्या है. विभाग ने यहां सखी संवाद कार्यक्रम रखा था. मंत्रीजी इसमें कार्यकर्ताओं से सवाल-जवाव कर रही थीं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज