• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • भोपाल: राजभवन में हुई Covid-19 की एंट्री, 28 साल का युवक मिला पॉजिटिव

भोपाल: राजभवन में हुई Covid-19 की एंट्री, 28 साल का युवक मिला पॉजिटिव

संक्रमण मुक्त होकर 4062 लोग घर लौट चुके हैं.

संक्रमण मुक्त होकर 4062 लोग घर लौट चुके हैं.

कोरोना की दस्तक प्रदेश के सबसे सुरक्षित स्थान माने जाने वाले राजभवन तक पहुंच गई है. दरअसल, राजभवन में काम करने वाले एक कर्मचारी का 28 साल का बेटा कोरोना संक्रमित मिला है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में सोमवार को 2 दर्जन से ज्यादा नए कोरोना पॉजिटिव मरीज (Corona Positive Patients) मिले हैं. अभी तक जहां शहर के हॉटस्पाट जोन कोरोना इंफेक्शन की गिरफ्त में थे, वहीं इस बार कोरोना की दस्तक प्रदेश के सबसे सुरक्षित स्थान माने जाने वाले राजभवन तक पहुंच गई है. दरअसल, राजभवन में काम करने वाले एक कर्मचारी का 28 साल का बेटा कोरोना संक्रमित मिला है. युवक का पूरा परिवार राजभवन परिसर में ही रहता है. इधर सेना के ईएमई सेंटर में भी एक महिला की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई है. इसके आलावा कोतवाली क्षेत्र के बुधवारा में 6 और गोविद्पुरा के आचार्य नरेंद्र देव नगर में एक परिवार के 3 लोग संक्रमित मिले हैं.

रिकवरी रेट 51 प्रतिशत
लेकिन राहत भरी खबर ये भी है कि प्रदेश का रिकवरी रेट अब 51 प्रतिशत पर पहुंच रहा है. प्रदेश में सकारात्मक प्रयत्नों के कारण ये मुमकिन हो पाया है. इसी कड़ी में कोरोना वॉरियर्स का कहना है कि खाली दिमाग शैतान का घर होता है. खुरापात मचाने में शैतानी दिमाग कोई कसर नहीं छोड़ता इसलिए दिमाग को खाली रखना ही नहीं चाहिए. कुछ इसी मकसद के साथ डॉक्टरों ने सूबे के नामी सरकारी अस्पताल हमीदिया में प्राइवेट हॉस्पिटल जैसी सुविधाएं कोरोना संक्रमित मरीजों को देना शुरू की हैं. हमीदिया अस्पताल के कोविड-19 वार्ड में मरीजों के चहरे पर अब खुशियां झलकती हैं. जो मरीज पहले निराशा और चिंता के बीच घिरे रहते थे वो अब खुद को इंडोर गेम्स के जरिए व्यस्थ रखते हैं. इससे उनका तनाव तो दूर होता ही है साथ ही इम्यूनिटी भी बढ़ती है.



सरकारी अस्पताल में प्राइवेट हॉस्पिटल जैसी सुविधाएं
कोरोना मरीजों के संबंध में ये पहली बार है जब किसी सरकारी अस्पताल में प्राइवेट अस्पताल जैसी सुविधा दी जा रही है. हमीदिया अस्ताल में भर्ती कोरोना मरीजों को बीमारी का तनाव ना हो इसके लिए मरीज कैरम, लूडो और शतरंज खेल रहे हैं. हमीदिया अस्पताल के डॉक्टरों ने आपस में पैसे इकठ्ठे कर कोरोना मरीजों के लिए इन इंडौर गेम्स की व्यवस्था की है. डॉक्टरों की टीम और मेडिकल स्टॉफ मरीजों को खुश रखने का कोई मौका नहीं छोड़ते. हमीदिया अस्पताल में मरीजों की काउंसिलिंग की जाती है, जिससे मरीज के अंदर कहीं भी निराशा के भाव ना आएं. मरीजों के लिए गीत संगीत की व्यवस्था भी की गई है. इसका मकसद यही है कि कोरोना पॉजिटिव मरीज भर्ती हैं, वे अपनी सकारात्मकता बनाए रखें और खुशी-खुशी अपना इलाज कराएं और स्वस्थ होकर जल्दी अपनी घर वापसी करें.हमीदिया अस्पताल में फिलहाल 76 मरीज भर्ती हैं. इनमें से 12 मरीजों को आईसीयू में रखा गया है, वहीं 9 मरीज ऑक्सिजन सपोर्ट पर हैं.

सीएम के निर्देश
कोरोना के बढ़ते मामले पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कहना है कि प्रदेश में कोरोना के उपचार की बेहतर से बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है. प्रदेश में बड़ी संख्या में फीवर क्लीनिक ने भी काम करना शुरू कर दिया है. उन्होंने बताया कि कोरोना रिकवरी रेट प्रदेश में बढ़कर 51 प्रतिशत हो गया है. उन्होंने सभी कलेक्टर्स से जिलों में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाने और गाइडलाइन के अनुसार ही छूट देने की बात कही है.

ये भी पढ़ें: भोपाल के हमीदिया अस्पताल में PPE ड्रेस पहने कोरोना वॉरियर्स को आए चक्कर

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज