आचार संहिता: पांच दिन में संपत्ति विरूपण के 3.44 लाख मामले दर्ज

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के बाद संपत्ति विरूपण के तहत तीन लाख 44 हजार 477 मामले रजिस्टर्ड किए गए. इनमें शासकीय संपत्ति विरूपण के दो लाख 75 हजार 940 और निजी संपत्ति विरूपण के 68 हजार 537 प्रकरण रजिस्टर्ड करते हुए.

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 12, 2018, 7:13 PM IST
आचार संहिता: पांच दिन में संपत्ति विरूपण के 3.44 लाख मामले दर्ज
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर.
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 12, 2018, 7:13 PM IST
मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के बाद जमीनी स्तर पर कार्रवाई का दौर जारी है. चुनाव आयोग के निर्देश के बाद जिला प्रशासन और पुलिस विभाग ताबड़तोड़ कार्रवाई कर रहा है. छह अक्टूबर को आचार संहिता लगी और इसके बाद से दस अक्टूबर तक यानी पांच दिन के अंदर 321 अवैध हथियारों को जब्त किया गया, तीन हजार 874 गैर जमानती वारंट तामील किए गए और 8 हजार 715 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई.

संपत्ति विरूपण के तहत तीन लाख 44 हजार 477 मामले रजिस्टर्ड किए गए. इनमें शासकीय संपत्ति विरूपण के दो लाख 75 हजार 940 और निजी संपत्ति विरूपण के 68 हजार 537 प्रकरण रजिस्टर्ड करते हुए. 3 लाख 26 हजार 452 प्रकरणों में कार्रवाई की गई. इसके साथ ही वाहनों के दुरुपयोग के 874 प्रकरण रजिस्टर्ड किए गए.

आचार संहिता लगने के बाद निर्वाचन आयोग की कार्रवाई-



  • 10 अक्टूबर तक 321 अवैध हथियार जब्‍त किए गए.

  • थानों में 63 हजार 510 हथियार जमा कराए गए.

  • 3 हजार 874 गैर जमानती वारंट तामील किए गए.

  • 8 हजार 715 लोगों पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई.

  • सम्पत्ति विरूपण के तहत 3 लाख 44 हजार 477 मामले रजिस्टर्ड.

  • शासकीय सम्पत्ति विरूपण के 2 लाख 75 हजार 940 प्रकरण.

  • निजी सम्पत्ति विरूपण के 68 हजार 537 प्रकरण.

  • संपत्ति विरूपण के 3 लाख 26 हजार 452 प्रकरणों में कार्रवाई.

  • वाहनों के दुरुपयोग के 874 प्रकरण रजिस्टर्ड.


यह भी पढ़ें- राज्‍य निर्वाचन आयोग मतदाताओं से पूछेगा सवाल और देगा इनाम

यह भी पढ़ें- चुनाव आयोग के मैन्यू में प्रत्याशी के लिए 5 रुपए का बटर-टोस्ट
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर