अपना शहर चुनें

States

राज्यसभा चुनाव: MP की 3 सीटों पर बचे 4 उम्मीदवार, रंजना बघेल ने वापस लिया नाम

उन्होंने कहा कि सिंधिया को प्रियंका गांधी के साथ उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था. पार्टी से उन्हें बहुत कुछ मिला था.
उन्होंने कहा कि सिंधिया को प्रियंका गांधी के साथ उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था. पार्टी से उन्हें बहुत कुछ मिला था.

मध्य प्रदेश से राज्यसभा की 3 सीटें हैं. इनमें से अभी तक 2 सीटें बीजेपी और एक कांग्रेस के पास थी. कांग्रेस के दिग्विजय सिंह राज्यसभा सदस्य हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजनीति में चल रहे सियासी तूफानों के बीच राज्यसभा की 3 सीटों के लिए अब 4 उम्मीदवार मैदान में हैं. ये हैं बीजेपी से ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia), सुमेर सिंह सोलंकी और कांग्रेस से दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) और फूल सिंह बरैया. एक अन्य उम्मीदवार रंजना बघेल ने अपना नामांकन वापस ले लिया है. रंजना बघेल बीजेपी से पूर्व मंत्री रही हैं. उन्होंने अपना नामांकन किसी पार्टी की ओर से दाखिल नहीं किया था लिहाज़ा आज उन्होंने इसे वापस ले लिया.

ये है एमपी में राज्यसभा का गणित
मध्य प्रदेश से राज्यसभा की 3 सीटें हैं. इनमें से अभी तक 2 सीटें बीजेपी और एक कांग्रेस के पास थी. कांग्रेस के दिग्विजय सिंह राज्यसभा सदस्य हैं. कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद बदले समीकरण में ये उम्मीद थी कि अब कांग्रेस के पास दो सीट आ जाएंगी, लेकिन मध्य प्रदेश में अब चल रही उठापटक के बाद अब फिर से बीजेपी को अपनी दोनों सीटें बरकरार रहने की उम्मीद है. यही वजह है कि उसने 2 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार दिए. कांग्रेस की भी उम्मीद बरकरार है. उसने अपने सिटिंग एमपी दिग्विजय सिंह को फिर से टिकट दे दिया है और दूसरे प्रत्याशी के तौर पर फूल सिंह बरैया को उतारा है. बरैया ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को समर्थन दिया था. विधानसभा में कांग्रेस के 114 और बीजेपी के 107 विधायक हैं, लेकिन बदले हालात में कांग्रेस की राह मुश्किल जरूर हो गई है.

राज्यसभा चुनाव का कार्यक्रम
राज्यसभा चुनाव के लिए मतदान 26 मार्च को होगा और इसी दिन मतों की गिनती होगी. पूरी चुनाव प्रक्रिया 30 मार्च तक पूरी कर ली जाएगी. एमपी की इन तीनों सीटों पर सांसदों का कार्यकाल 9 अप्रैल को पूरा हो रहा है.



ये भी पढ़ें -
विधानसभा में कैसे साबित होता है बहुमत, विधायकों के गायब होने पर कौन सा फॉर्मूला करेगा काम?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज