कोरोना से जीती 6 माह की मासूम, कोविड सेंटर में मां के साथ भर्ती थी निहारिका

पालक की गोद में मासूम.

पालक की गोद में मासूम.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल (Bhopal) के लिए राहत भरी खबर है. भोपाल में 100 से ज्यादा नवजात कोरोना की जंग लड़ रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल (Bhopal) के लिए राहत भरी खबर है. भोपाल में 100 से ज्यादा नवजात कोरोना की जंग लड़ रहे हैं. कुछ बच्चों को भोपाल के अस्पतालों में एडमिट किया गया है तो कुछ को घर पर होम आइसोलेट किया हुआ है, जहां शिशु रोग विशेषज्ञ लगातार उनके स्वास्थ पर नज़र बनाये हुए हैं. वहीं राहत भरी ख़बर यह है की मासूमों का रिकवरी रेट अच्छा है. वह वायरस से जंग जीत रहे हैं. ऐसे दो दर्जन भर से ज्यादा मासूम बच्चे स्वस्थ होकर अपने-अपने घर जा चुके हैं.

Youtube Video


भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भी भर्ती 10 में से 7 मासूमों ने 16 दिनों में कोरोना से जंग लड़कर उसे मात दी है. इनकी आयु 8 माह से लेकर 2 वर्ष तक है. अब वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं और अपने घर में परिवार के साथ खुशी से रह रहे हैं. अभी भी चार छोटे बच्चे हैं जो कोरोना से जंग लड़ रहे हैं.

Youtube Video

स्वस्थ्य हो रहे बच्चे

डॉक्टरों ने बताया की अस्पताल में भर्ती बाकि शिशु पूरी तरह से स्वस्थ हैं. उनमें किसी भी प्रकार के कोई लक्षण नहीं हैं जिससे की डरने की कोई बात नहीं है. भोपाल में छोटे बच्चों ने नौ से लेकर 16 दिनों में ही कोरोना को मात दे दी है. जिसमें भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती नवजात शिशुओं ने 15 दिनों में ही कोरोना से जंग जीत ली थी. वहीं 6 माह की मासूम ने भी 11वें दिन में कोरोना को हरा दिया. वहीं होम आइसोलेशन में भी 1 साल के 15 बच्चों ने 16 दिनों में कोरोना को मात दी है. इसके अलावा नौ साल के बच्चे ने 14 दिन और  दो साल के शिशु ने कोरोना से जंग जीत ली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज