लाइव टीवी

भोपाल में 72 घंटे का लॉकडाउन, MP में घर बैठे नि:शुल्क मिलेंगी दवाएं
Bhopal News in Hindi

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: March 22, 2020, 3:54 PM IST
भोपाल में 72 घंटे का लॉकडाउन, MP में घर बैठे नि:शुल्क मिलेंगी दवाएं
सरकार ने राज्य में घर बैठे नि:शुल्क दवाइयां पहुंचाने की व्यवस्था की है.

भोपाल में 72 घंटे का लॉकडाउन घोषित ​किया जा चुका है. वहीं सरकार ने राज्य में घर बैठे नि:शुल्क दवाइयां पहुंचाने की व्यवस्था की है. राज्य की जनता 104 नंबर पर घर बैठे नि:शुल्क दवाएं और चिकित्सकीय परामर्श का लाभ उठा सकती है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल को कोरोना वायरस (CoronaVirus) से बचाव के लिए 72 घंटे के लिए लॉकडाउन (Lock Down) कर दिया गया हे. भोपाल जिला कलेक्टर के आदेश के अनुसार अगले 72 घंटे के लिए भोपाल में लॉकडाउन रहेगा. वहीं मध्य प्रदेश सरकार कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के चलते हाई अलर्ट पर है. अब राज्य लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने लोगों की मदद के लिए कॉल सेंटर नंबर 104 जारी किया है. इस नंबर पर यदि किसी व्यक्ति को सर्दी जुखाम है तो वह घर बैठे चिकित्सकीय परामर्श (Free Medical Help) ले सकता है और दवाइयां नि:शुल्क(Free Medicine) मंगवा सकता है.

राज्य में घर पर बैठे नि:शुल्क दवा मुहैया कराने के पीछे शासन का उद्देश्य यह है कि कोई भी व्यक्ति घर से बाहर ना निकले. यदि उसे किसी भी तरीके की स्वास्थ्य से संबंधित दिक्कत है तो वह कॉल सेंटर के दिए गए नंबर पर फोन लगाकर परामर्श के साथ निशुल्क दवा भी घर बुला सकता है।

24 घंटे काम करेगा कॉल सेंटर

इस व्यवस्था के लिए स्वास्थ्य विभाग का अमला 24 घंटे के लिए तैनात किया गया है. लोक स्वास्थ्य विभाग ने जनता में जागरूकता के लिए सोशल मीडिया पर घर बैठे चिकित्सकीय परामर्श और आवश्यक होने पर दवाइयां भी नि:शुल्क घर बुलाने को लेकर प्रचार प्रसार शुरू कर दिया है. इसके अलावा भी मीडिया के जरिए और दूसरे माध्यमों के जरिए भी जनता तक इस कॉल सेंटर के नंबर को पहुंचाया जा रहा है.



शासन की यह कोशिश है कि मध्यप्रदेश में चिकित्सा सुविधा इसी तरीके से प्रभावित ना हो सके. इसके लिए शासन ने प्रदेश के सभी कलेक्टरों को निर्देश भी जारी कर दिए. कॉल सेंटर में तमाम स्टाफ को तत्काल मदद देने के निर्देश भी दिए गए हैं.

इसके अलावा जिलों के सरकारी अस्पतालों में तमाम दवाइयों की उपलब्धता के साथ मदद पड़ने पर उन दवाइयों को कॉल सेंटर के माध्यम से घर पहुंचाने के निर्देश भी तमाम अधिकारियों को जारी किए गए. शासन ने सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए कि लोग डाउन के दौरान किसी भी तरीके की दिक्कत आम जनता को नहीं आनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: किसके सिर सजेगा मध्य प्रदेश का ताज, नरेंद्र तोमर या शिवराज!

जबलपुर में जनता कर्फ्यू का असर: 90 ट्रेंने निरस्त, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 3:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर