कोरोना से अभी तक 726 शिक्षकों की मौत, सरकार नहीं मान रही कोरोना योद्धा, सोशल मीडिया पर चलेगा कैंपेन

मध्य प्रदेश के शिक्षक खुद को कोरोना योद्धा साबित करने सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाएंगे. (File)

मध्य प्रदेश के शिक्षक खुद को कोरोना योद्धा साबित करने सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाएंगे. (File)

मध्य प्रदेश सरकार शिक्षकों को कोरोना योद्धा नहीं मान रही. शिक्षक संघ का कहना है कि सैकड़ों शिक्षक कोरोना में ड्यूटी करते-करते दुनिया छोड़ गए. इस स्थिति में सरकार को उनके परिवार का साथ देना चाहिए.

  • Last Updated: April 30, 2021, 3:29 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण करीब-करीब बेकाबू हो गया है. पिछले दो महीने में प्रदेश के 726 से ज्यादा शिक्षकों की मौत हो चुकी है. जबकि, 2845 शिक्षक कोरोना से संक्रमित हैं. हालांकि, उन्हें इस बात का मलाल है कि सरकार ने उन्हें अभी तक कोरोना योद्धा नहीं माना है. अब शिक्षक खुद को कोरोना योद्धा घोषित कराने के लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाएंगे.

मध्य प्रदेश शिक्षक कांग्रेस के प्रांतीय प्रवक्ता और जिला अध्यक्ष सुभाष सक्सेना ने कहा कि मेरी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और स्कूल शिक्षा विभाग से यही अपील है कि शिक्षकों को फ्रंटलाइन वर्कर और कोरोना योद्धा मान कर उन्हें कोविड-19 कल्याण योद्धा योजना  में शामिल करना चाहिए, 50 लाख की आर्थिक सहायता दी जानी चाहिए, शिक्षकों के इलाज का खर्च सरकार को उठाना चाहिए और कोरोना से मृत शिक्षकों के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति दी जानी चाहिए. अगर सरकार मांग नहीं मानती तो हम इसके लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाएंगे.

लगातार कोरोना ड्यूटी कर रहे शिक्षक

अध्यापक संगठनों का कहना है कि मध्य प्रदेश में शिक्षक लगातार कोरोना संक्रमण के दौरान ड्यूटी कर रहे हैं. लेकिन किसी भी तरह की सहायता न मिलने की वजह से उनकी आर्थिक स्थति भी खराब होती जा रही है. सभी शिक्षक कोविड वार्ड में ड्यूटी कर रहे हैं. मरीज को मिल रही दवाइयों और स्थिति की जानकारी का खाका तैयार कर रहे हैं, लोगों को जागरूक कर रहे हैं. इस परिस्थिति में उन्हें सरकार की ओर से मदद मिलनी ही चाहिए.
एमपी को मिली मामूल राहत

कोरोना संक्रमण  के मामले में एमपी थोड़ी राहत भरी खबर देता नजर आ रहा है. संक्रमण के मामले में मध्यप्रदेश देश में 11वें से 13वें स्थान पर खिसक गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कोरोना की स्थिति और व्यवस्था के संबंध में कोर ग्रुप की बैठक में बताया गया कि अब प्रदेश में कोरोना संक्रमण कम हो रहा है.

प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 94,000 से अधिक हो गई थी, जो अब 92077 रह गई है. पिछले 24 घंटे में 13363 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं. कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या में 696 की कमी आई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज