लाइव टीवी

माफिया पर 'रहमदिली' दिखाने वाले एडीजी नपे, इंदौर जोन की कमान मिलिंद कांसकर को

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 8, 2019, 8:30 PM IST
माफिया पर 'रहमदिली' दिखाने वाले एडीजी नपे, इंदौर जोन की कमान मिलिंद कांसकर को
इंदौर जोन के एडीजी वरुण कपूर को सरकार ने पीएचक्यू भेज दिया है.

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) ने माफिया जीतू सोनी (Mafia Jeetu Soni) पर कार्रवाई न करने वाले एडीजी वरुण कपूर (ADG Varun Kapoor) को हटाकर पीएचक्यू भेजा. माफियाओं के खिलाफ अभियान के बावजूद उन पर सख्ती न करने वाले अफसरों की लिस्ट बना रही है सरकार.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में माफियाओं के खिलाफ अभियान चल रहा है. सरकार की सख्ती के बावजूद कई अफसर माफियाओं पर मेहरबान हैं. इसी क्रम में प्रदेश की कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) ने माफियाओं को संरक्षण देने वाले अफसरों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है. पहली कार्रवाई इंदौर जोन एडीजी वरुण कपूर (ADG Varun Kapoor) के खिलाफ की गई है. सरकार ने इंदौर जोन के एडीजी वरुण कपूर को हटा दिया है. उनकी जगह एडीजी मिलिंद कानस्कर (ADG Milind Kanskar) को इंदौर जोन की जिम्मेदारी सौंपी है. वरुण कपूर पर माफिया जीतू सोनी (Mafia Jeetu Soni) को संरक्षण देने और उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप है.

नाराज थी सरकार
सरकार वरुण कपूर के माफिया जीतू सोनी के खिलाफ कार्रवाई नहीं किए जाने से नाराज थी. सरकार को यह शिकायत भी मिली थी कि वरुण कपूर माफिया पर कार्रवाई से बच रहे थे. सरकार ने माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई के लिए अफसरों को फ्री हैंड दिया था, फिर भी वह जीतू सोनी के खिलाफ कार्रवाई न करने के पक्ष में थे. बताया गया कि जब वरुण कपूर ने जीतू सोनी के खिलाफ कार्रवाई नहीं की, तब डीआईजी रुचि वर्धन मिश्र को कार्रवाई के निर्देश दिए गए. सरकार की तरफ से हरी झंडी मिलते ही रुचि वर्धन मिश्र ने 4 घंटे के अंदर जीतू सोनी पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की और उसके माफियाराज को खत्म कर दिया.

अफसरों की बन रही लिस्ट

प्रदेश में मिलावटखोरों के बाद सरकार माफियाओं पर शिकंजा कस रही है. इसके तहत उन अफसरों की सूची तैयार की जा रही है, जिन पर माफियाओं को संरक्षण देने के आरोप हैं. वरुण कपूर को जनवरी में एडीजी बनाया गया था. उनसे पहले पलासिया थाने के टीआई पर कार्रवाई की गई थी. टीआई शशिकांत चौरसिया ही जीतू सोनी मामले की जांच कर रहे थे. ऐसे अफसरों की सरकार पूरी फेहरिस्त बना रही है. वरुण कपूर के बाद अब दूसरे अफसरों पर भी गाज गिरना तय माना जा रहा है. आपको बता दें कि प्रदेश के कई जिलों में पैर पसार रहे माफियाओं पर नकेल कसने के लिए कमलनाथ सरकार ने यह अभियान शुरू किया है. हर जिले के माफियाओं की सूची बनाकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें 

साध्वी प्रज्ञा और शिवराज के खिलाफ MP में हल्ला-बोल, कमलनाथ सरकार के मंत्री बोले- 'दिल्ली में करें नौटंकी'भोपाल में अब हर संडे लोग कह सकेंगे 'दे-ताल...', बोट क्लब पर शुरू होगा म्यूजिकल फाउंटेन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 6:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर