Home /News /madhya-pradesh /

इंजीनियर प्रेमी के साथ पति का कत्ल करने के बाद पूरी रात जागती रही थी पत्नी, लाश लेकर पहुंची थाने

इंजीनियर प्रेमी के साथ पति का कत्ल करने के बाद पूरी रात जागती रही थी पत्नी, लाश लेकर पहुंची थाने

भोपाल में पति की हत्या कर पुलिस थाने पहुंची पत्नी के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है.

भोपाल में पति की हत्या कर पुलिस थाने पहुंची पत्नी के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है.

Bhopal Katara Hills Murder Case: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. भोपाल के कटारा हिल्स में एक पत्नी ने अपने पति की हत्या प्रेमी के साथ मिलकर कर दी. इंजीनिर प्रेमी और पत्नी ने मिलकर पति की हत्या की साजिश रची. पत्नी ने काढ़े में नींद की गोलियां मिलाकर पिलाई थी, उसके बाद हत्या की वारदात को अंजाम दिया.

अधिक पढ़ें ...

    भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में पति की हत्या (Murder) पत्नी द्वारा करने का मामला सामने आया है. कटारा हिल्स इलाके में पत्नी द्वारा पति की हत्या के बाद शव कार में लेकर थाने जाने के मामले में नया खुलासा हुआ है. पुलिस के मुताबिक पहले पत्नी ने काढ़े में नींद की 10 गोलियां मिलाकर पति को पिला दी. इसके बाद जब पति बेहोशी की हालत में हो गया तो उसने अपने पड़ोसी सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रेमी को बुलाया और पति के सिर पर डंडे और हथौड़ी से हमला कर दिया. इससे पति की मौत हो गई. इसके बाद पत्नी पूरी रात पत्नी जागती रही थी.

    पुलिस के मुताबिक करीब एक महीना पहले बिजनेसमैन धनराज मीणा ने अपनी पत्नी संगीता को उसके प्रेमी आशीष पांडेय के साथ संदिग्ध हालत में देख लिया था. तब से धनराज दोनों के रिश्तों के बीच रोड़ा बन गया था. आशीष पांडेय पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है, जो कटारा हिल्स में धनराज और संगीता का पड़ोसी भी है. पड़ोस में रहने के दौरान ही संगीता और उसके बीच प्रेम संबंध स्थापित हुए. इनको संदिग्ध हालत में देखने के बाद से धनराज और संगीता के बीच लगातार झगड़े हो रहे थे. धनराज से छुटकारा पाने के लिए आशीष और संगीता ने मिलकर उसकी हत्या की साजिश रची. बीते मंगलवार को धनराज मीणा की हत्या कर दी गई. मृतक धनराज मूलत: सीहोर जिले का रहने वाला था.

    शव छिपाने की जगह नहीं मिली तो पहुंचे थाने
    पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक धनराज मीणा की हत्या के बाद पत्नी संगीता और उसके प्रेमी ने आशीष ने शव को ठिकाने लगाने के लिए अपनी कार की डिक्की में लाश रखी और निकल गए. करीब पांच घंटे तक दोनों शव को लेकर शहर के अलग-अलग इलाके में घुमते रहे, लेकिन शव छिपाने की कोई जगह नहीं मिली. इसके बाद दोनों शव को लेकर पुलिस थाने पहुंच गए. यहां उन्होंने हत्या करना कबूल किया और डिक्की खोली. कार की डिक्की खुलते ही वहां मौजूद लोग हैरान रह गए. पुलिस ने दोनों को ही गिरफ्तार कर लिया. धनराज और संगीता के एक बेटे और एक बेटी है.

    इस तरह रची साजिश
    पुलिस के मुताबिक महीने भर पहले धनराज ने संगीता और आशीष को अपने ही घर में संदिग्ध हालत में देख लिया था. इसके बाद से वह पत्नी पर शक करने लगा. उसने आशीष से बात करना भी बंद कर दिया था. आशीष ने धनराज को रास्ते से हटाने के लिए संगीता के साथ मिलकर साजिश रची. इसके बाद आशीष ने संगीता को नींद की 20 गोलियां दी थीं, जिसमें से दस गोलियां संगीता ने बीते सोमवार की रात को काढ़े में मिलाकर धनराज को पिला दी. आशीष मूलत: शिवपुरी का रहने वाला है, उसकी भी शादी हो चुकी है.

    Tags: Bhopal news, Madhya pradesh news, Murder case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर