MP Corona: हो सकता है आपको Fabiflu न मिले, Remdesivir के बाद अब ये जीवनरक्षक दवा ले उड़े चोर

राजधानी में Fabiflu दवा की चोरी हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर)

राजधानी में Fabiflu दवा की चोरी हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर)

Febiflu Theft : प्रदेश में अब जीवन रक्षक दवा फैबीफ्लू टेबलेट की भी चोरी होने लगी है. ताजा मामला भोपाल-इंदौर से जुड़ा है. इन दवाओं की कीमत 1 लाख से ज्यादा की थी. बता दें कि इससे पहले भोपाल के हमीदिया अस्पताल के स्टोर से Remdesivir इंजेक्शन गायब हो गए थे.

  • Last Updated: April 29, 2021, 10:31 AM IST
  • Share this:
भोपाल. राजधानी भोपाल में रेमडेसिविर (Remdesivir) इंजेक्शन की चोरी होने के बाद अब फेबीफ्लू (Fabiflu) टेबलेट की चोरी होने का बड़ा मामला सामने आया है. इन दवाओं को इंदौर से भोपाल पहुंचाने की जिम्मा जिस कुरियर कंपनी पर था, उसी पर ये आरोप लगा है. पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है. बता दें कि कोरोना संक्रमण की स्थिति में फेबीफ्लू दवा को भी जीवनरक्षक दवा माना जाता और इस्तेमाल किया जाता है. रेमडेसिविर की तरह यह भी काफी महंगी दवा है.

जानकारी के मुताबिक, दवा व्यापारी नयन गुप्ता की घोड़ा नक्कास ओल्ड सिटी में शॉप है. वह शहर के फुटकर मेडिकल शॉप को दवाइयां सप्लाई करते हैं. उन्होंने पुलिस को लिखित में शिकायत की है कि 26 अप्रैल को इंदौर के एसबी वेयरहाउसिंग एंड लॉजिस्टिक्स से फेबीफ्लू टेबलेट की 400 और 800mg दवा के सात कार्टून बुक किए गए थे. यह सभी कार्टून मधुर कुरियर इंदौर( ) से बुक किए गए थे.

7 की जगह दवा के मिले 6 कार्टून

दवा व्यापारी ने पुलिस को बताया कि इसकी डिलीवरी 27 अप्रैल को मधुर कुरियर, भोपाल के कबाड़खाना कार्यालय में होनी थी. जब मैं दवाइयों को लेने मधुर कोरियर के ऑफिस पहुंचा तो मुझे सात की जगह सिर्फ 6 कार्टून दिए गए. कुरियर में बैठे कर्मचारियों ने बताया कि आपका एक कार्टून रास्ते में चोरी हो गया है. इस कार्टून में 800mg दवाई की 60 स्ट्रिप थी, जिनकी खरीदी कीमत करीब 1 लाख 11 हजार रुपए है.
फुटकर व्यापारियों को होनी थी सप्लाई

बता दें, कोरोना में इस दवाई की महत्वपूर्ण भूमिका है और इसकी सप्लाई शहर की फुटकर मेडिकल शॉप्स (Retail Medical Shops) पर होनी जरूरी थी. लेकिन, यह महत्वपूर्ण दवा को चोर ले उड़े. बता दें कि इस काम में मधुर कुरियर कर्मियों की भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है. व्यापारी ने पुलिस से कहा कि चोरी की गई दवाइयों को ढूंढने के साथ मधुर कोरियर के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए.

एमपी में थमने का नाम नहीं ले रहा कोरोना का कहर



मध्य प्रदेश कोरोना संक्रमण जबरदस्त तेजी से बढ़ रहा है. प्रदेश में कोरोना के आज 12758 नये केस सामने आए. लेकिन उससे ज़्यादा 14156 लोग स्वस्थ होकर घर लौटे. प्रदेश में कुल 105 लोगों की मौत हो गयी और अभी प्रदेश भर में कोरोना के 92773 एक्टिव मरीज (Active Patients) हैं. इसके चलते अब सरकार ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. इसी के चलते अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( CM Shivraj Singh Chouhan) ने 7 मई तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ाने का ऐलान किया है. सीएम शिवराज सिंह ने आज 18 जिलों की वर्चुअल मीटिंग लेकर कोरोना के हालात की समीक्षा की थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज