भोपाल: लाॅकडाउन के बाद अब कंटेनमेंट जोन बनाना शुरू, हबीबगंज और शाहपुरा सहित शहर के 20 इलाके लॉक

मध्य प्रदेश की राजधानी में पहले लॉकडाउन और कंटेनमेंट जोन भी बनाना शुरू हो गया है.

मध्य प्रदेश की राजधानी में पहले लॉकडाउन और कंटेनमेंट जोन भी बनाना शुरू हो गया है.

Bhopal: प्रदेश और राजधानी भोपाल में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते दो हफ्ते पहले रविवार को टोटल लॉकडाउन करने के बाद अब कंटेनमेंट जोन बनाने का काम भी शुरू हो गया है. शनिवार को शहर भर में 20 नए कंटेनमेंट जोन बनाए गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2021, 11:39 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण (Covid 19 Infection) के चलते दो हफ्ते पहले रविवार को टोटल लॉकडाउन (Total Lockdown) किया गया और अब कंटेनमेंट जोन (Containment Zones) बनाने का काम शुरू कर दिया गया है. शनिवार को शहर भर में 20 नए कंटेनमेंट जोन बनाए गए. सबसे ज्यादा हबीबगंज, शाहपुरा, कमला नगर, ऐशबाग, श्यामला हिल्स और बैरसिया में दो-दो कंटेनमेंट जोन बनाए गए. इन घरों को एपिसेंटर घोषित करते हुए इनसे व्यावहारिक दूरी के क्षेत्रों को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है. यहां कोरोना गाइडलाइन और नियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा.



साल 2021 में पहली बार जब मध्य प्रदेश के किसी शहर में कंटेनमेंट जोन बनाया गया है. इसके साथ ही मध्य प्रदेश के चारों महानगर भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर समेत करीब 10 शहरों में रविवार को लॉकडाउन लगाया जा चुका है. मध्य प्रदेश के कोरोना केस अब एक दिन में 1500 से 2000 मिल रहे हैं, ऐसे में सरकार ने त्योहारों को घर पर ही मनाने और लोगों को कोरोना से बचने और गाइडलाइन का पालन करने की सलाह दी जा रही है.

कंटेनमेंट एरिया: ये रहेंगी व्यवस्थाएं 


  • कंटेनमेंट एरिया में आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा. कंटेनमेंट एरिया के समस्त निवासियों का होम कांटेक्ट में रहना अनिवार्य होगा.


  • एरिया को पैरीमीटर से कंट्रोल किया जाएगा, जिसके तहत आवश्यक सुविधाओं के अतिरिक्त किसी भी प्रकार से लोगों का बाहर जाना प्रतिबंधित रहेगा.




  • कंटेनमेंट एरिया के लिए सीएमएचओ विशेष रैपिड रिस्पांस टीम मेडिकल मोबाइल यूनिट का गठन करेंगे.


  • एरिया में क्षेत्र के एग्जिट प्वाइंट पर स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत स्क्रीनिंग की जाएगी.


  • वार्ड वार फ्रंटलाइन कार्यकर्ता एपिसेंटर से हर रोज घरों का भ्रमण कर जानकारी लेंगे, निर्धारित प्रोफार्मा में रिपोर्ट आईडीएसपी नोडल अफसर को दी जाएगी.


  • आरोग्य सेतु एप एवं सार्थक एप का शत-प्रतिशत प्रयोग करना है.


  • समस्त कोविड-19 संक्रमण के पॉजिटिव केस के परिजन निकटतम संपर्क को होम क्वारंटीन कराना जाना अति आवश्यक है, जिससे संक्रमण को समुदाय में फैलने से रोका जा सके.


  • नगर निगम के जोनल अधिकारी द्वारा क्षेत्र का सैनिटाइजेशन किया जाना सुनिश्चित होगा. समस्त कार्यकर्ता प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करेंगे.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज