कांग्रेसी हैं कि मानते ही नहीं : उमंग सिंघार ने ट्वीट में निकाला ग़ुबार, सिंधिया समर्थकों ने फिर लगाए पोस्टर

मामला ऊपरी तौर पर सुलझने के बाद भी भोपाल में जनसम्पर्क मंत्री पी सी शर्मा ने बयान दिया कि उमंग सिंघार जैसे नेताओं की बयानबाज़ी ज़मीनी स्तर पर काम करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर कुठाराघात है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 12:03 PM IST
कांग्रेसी हैं कि मानते ही नहीं : उमंग सिंघार ने ट्वीट में निकाला ग़ुबार, सिंधिया समर्थकों ने फिर लगाए पोस्टर
भोपाल में पीसीसी दफ्तर के बाहर सिधिया समर्थकों ने ये पोस्चर लगाया है.
News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 12:03 PM IST
भोपाल.मध्य प्रदेश कांग्रेस (madhya pradesh congress) में ऊपरी तौर पर भले ही कहा जाने लगा हो कि ऑल इज वेल लेकिन अंदर अब तक सब ठीक नहीं हुआ है. सीएम कमलनाथ (cm kamalnath)से मुलाक़ात के बाद उमंग सिंघार (umang singhar)का ट्वीट और ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia)के समर्थन में फिर से पोस्टरबाज़ी यही बयां कर रही है.

वन मंत्री उमंग सिंघार के दिग्विजय सिंह के ख़िलाफ बेलाग बयानबाज़ी से कांग्रेस में बवाल मच गया था. उस विवाद में सिंघार और दिग्विजय सिंह समर्थक मंत्री और विधायक भी कूद पड़े थे. बात जब हद से ज़्यादा बढ़ गयी तो मंगलवार को उमंग सिंघार सीएम के दरबार में तलब किए गए. उस मुलाक़ात के बाद सिंघार 12 घंटे तक मीडिया से नहीं मिले और ना ही बयान दिया. बुधवार को मीडिया से मिले तो बोले सब ठीक है. कमलनाथ सरकार के सामने कोई संवैधानिक संकट नहीं है. सीएम से मुलाक़ात का ही ये असर था कि उन्होंने दिग्विजय सिंह का नाम लेने से भी परहेज़ किया. लेकिन अंदरूनी तौर पर सिंघार माने नहीं. अपना गुबार उन्होंने ट्वीट में निकाला. उसमें उन्होंने लिखा-
उसूलों पर जहाँ आंच आए टकराना ज़रूरी है
जो गर ज़िंदा हो तो फिर ज़िंदा नज़र आना ज़रूरी है.

इस शायरी के बाद उन्होंने अपनी बात सत्यमेव जयते ! लिखकर ख़त्म की.


ये वही शेर है जो पिछले हफ्ते एक वीडियो में वायरल हुई थी. ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे के नाम से एक फेसबुक अकाउंट पर ज्योतिरादित्य सिंधिया यही शेर बोल रहे थे. हालांकि fb अकाउंट फेक था या सही इसकी पुष्टि नहीं हो सकी थी. क्योंकि सिंधिया के बेटे का नाम महाआर्यमन है, जबकि अकाउंट आर्यमन के नाम से था.
पोस्टर वॉर चालू आहे
उधर पीसीसी चीफ के लिए सिंधिया समर्थकों की ज़ोरदार मांग और ज़बरदस्त लॉबिंग के बाद भले ही इस पद पर कमलनाथ कन्टीन्यू कर दिए गए हों, लेकिन सिंधिया समर्थक भी शांत बैठते नहीं दिख रहे हैं. ग्वालियर के बाद अब भोपाल में फिर से ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष बनाने के होर्डिंग पोस्टर लगा दिए गए हैं. भोपाल में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से थोड़ी दूर पर ये पोस्टर और होर्डिंग लगाए गए हैं. ये पोस्टर सिंधिया समर्थक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव अब्दुल नासिर और पार्षद शमीम नासिर के नाम से लगाए गए हैं. हालांकि मंत्री पी सी शर्मा का मानना है कि पोस्टर लगना, एक राजनीति के तहत चलता रहता है.
मंत्रीजी कह रहे हैं...
मामला ऊपरी तौर पर सुलझने के बाद भी भोपाल में जनसम्पर्क मंत्री पी सी शर्मा ने बयान दिया कि उमंग सिंघार जैसे नेताओं की बयानबाज़ी ज़मीनी स्तर पर काम करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर कुठाराघात है. उन्होंने पार्टी के मुद्दे से अलग जाकर ये भी कहा कि विधान सभा का जब अगला सेशन होगा तब बीजेपी के कम से कम तीन विधायक कांग्रेस के पाले में आएंगे. शर्मा ने कहा- हरियाणा, महाराष्ट्र,मध्य प्रदेश के नगरीय निकाय चुनाव और झाबुआ उप चुनाव तक मुख्यमंत्री कमलनाथ ही प्रदेश अध्यक्ष बने रहेंगे.

ये भी पढ़ें-PCC अध्यक्ष की रेस से आउट हुए सिंधिया! कमलनाथ के पास ही रहेगी कमान

CM से मुलाक़ात के बाद बदल गए सिंघार के सुर, नहीं लिया दिग्विजय सिंह का नाम

उमंग VS दिग्विजय:कमलनाथ के मंत्री की सलाह-बड़ों की बात का बुरा ना मानें 'छोटे'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 12:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...