Home /News /madhya-pradesh /

व्यापमं के नए नाम पर कांग्रेस ने पोती कालिख

व्यापमं के नए नाम पर कांग्रेस ने पोती कालिख

वन रक्षक परीक्षा के रिजल्ट को लेकर हुई गड़बड़ियों को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने व्यापमं यानि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) के दफ्तर पर प्रदर्शन किया. इस दौरान युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एमपी पीईबी के बोर्ड पर कालिख भी पोत दी.

वन रक्षक परीक्षा के रिजल्ट को लेकर हुई गड़बड़ियों को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने व्यापमं यानि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) के दफ्तर पर प्रदर्शन किया. इस दौरान युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एमपी पीईबी के बोर्ड पर कालिख भी पोत दी.

वन रक्षक परीक्षा के रिजल्ट को लेकर हुई गड़बड़ियों को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने व्यापमं यानि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) के दफ्तर पर प्रदर्शन किया. इस दौरान युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एमपी पीईबी के बोर्ड पर कालिख भी पोत दी.

अधिक पढ़ें ...
    वन रक्षक परीक्षा के रिजल्ट को लेकर हुई गड़बड़ियों को लेकर युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने व्यापमं यानि प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) के दफ्तर पर प्रदर्शन किया. इस दौरान युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने एमपी पीईबी के बोर्ड पर कालिख भी पोत दी.

    दरअसल, एक दिन पहले वन रक्षक परीक्षा परिणाम में कई प्रतियोगियों को पहले पास बता दिया और बाद में तकनीकी गड़बड़ी बताते हुए नतीजे बदल दिए थे. युवा कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि रिजल्ट में गड़बड़ियां की गई हैं और इसी बात पर विरोध दर्ज कराने के लिए पार्टी कार्यकर्ता पीईबी के दफ्तर पहुंचे थे.

    52 घंटे में बदल गया रिजल्ट

    घोटाले के दाग लगने पर व्यापमं ने अपनी छवि सुधारने के इरादे से नाम बदलकर एमपी प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड कर लिया था, लेकिन अब इस नए नाम पर भी नए दाग लग गए हैं.

    पहले तो बोर्ड ने वन संरक्षक भर्ती परीक्षा में परीक्षार्थियों को पास कर दिया, उसके बाद महज 52 घंटे में ही रिजल्ट बदलकर उन्हें फेल घोषित कर दिया गया. जिससे अब परीक्षार्थियों में आक्रोश है.


    दरअसल 16 अगस्त 2015 को वन संरक्षक भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित हुई थी. जिसका 30 जनवरी को प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड की वेबसाइट पर रिजल्ट घोषित किया गया, जिसमें अधिकतर परीक्षार्थी पास बताए गए.


    जब सोमवार को परीक्षार्थियों ने दोबारा वेबसाइट पर रिजल्ट देखा तो उसमें बदलाव हो चुके थे और जो परीक्षार्थी पास थे उनमें से अधिकतर को फेल कर दिया गया.

    महज 52 घंटे के अंदर हुए इस बदलाव से परिक्षार्थियों को काफी आघात पहुंचा है. नाराज परीक्षार्थियों ने प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड की इस गलती को अपने साथ छल करार दिया है. वहीं दूसरी ओर आक्रोशित छात्रों ने बोर्ड की इस गड़बड़ी के विरुद्ध कोर्ट जाने की चेतावनी दी है.

    तकनीकी गलती से हुई ये गड़बड़ी

    वहीं इस मामले में बोर्ड के अधिकारियों ने अपनी सफाई देना शुरू कर दिया है. अधिकारियों की मानें तो दो दिन पहले घोषित हुए रिजल्ट में तकनीकी खामी के कारण अधिकतर स्टूडेंट पास घोषित कर दिए गए थे. मामला सामने आने पर ये त्रुटि सुधार ली गई जिसके बाद सोमवार को सही रिजल्ट घोषित किया गया.

    Tags: Youth congress

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर