वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका, सूचना आयुक्त ने जारी किए नोटिस

सूचना विभाग में वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा करने का मामला को लेकर आशंका जता जा रही है.वहीं सूचना आयोग के आदेश के बावजूद अधिकारियों ने फाइलें अलमारी में दबाई हुई है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 4, 2019, 11:24 AM IST
वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका, सूचना आयुक्त ने जारी किए नोटिस
वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका, सूचना आयुक्त जारी किए नोटिस (फाइल फोटो)
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 4, 2019, 11:24 AM IST
मध्यप्रदेश के वन विभाग में वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा करने का मामला को लेकर आशंका जता जा रही है. 3 साल में भी नहीं दी गई जानकारी 2016- 2017 का 50 लाख प्लांटेशन के मामले में सूचना आयोग के आदेश के बावजूद अधिकारियों ने फाइलें अलमारी में दबाई हुई है. जिसके बाद राज्य सूचना आयुक्त राहुल सिंह ने मामले में संज्ञान लिया है. आयोग के आदेश की अवेहलना पर राज्य के प्रधान मुख्य वन संरक्षक की जिम्मेदारी की तय की गई है.

वृक्षारोपण  के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा

वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका, सूचना आयुक्त जारी किए नोटिस (फाइल फोटो)
वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका, सूचना आयुक्त जारी किए नोटिस (फाइल फोटो)


दरअसल सूचना आयोग ने 7 दिन में जानकारी उपलब्ध कराने का आदेश दिए है. सूचना आयोग के इस आदेश के बाद वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. सतना के वन संरक्षक राजीव मिश्र वन के खिलाफ नोटिस जारी किया गया है. सूचना आयोग ने राजीव मिश्र पर 25 हजार रुपए और अनुशासनिक कर्रवाई का कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. साथ ही राजीव मिश्र को आयोग के समक्ष उपस्थित होने का नोटिस भी जारी किया गया है.

वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका (सांकेतिक तस्वीर )
वृक्षारोपण के नाम पर एक और फर्जीवाड़ा की आशंका (सांकेतिक तस्वीर )


आयोग के आदेश के बाद वन विभाग में हड़कंप

राज्य सूचना आयुक्त राहुल सिंह ने मामले में लिया संज्ञान ( फाइल फोटो: राहुल सिंह, राज्य सूचना आयुक्त )
राज्य सूचना आयुक्त राहुल सिंह ने मामले में लिया संज्ञान ( फाइल फोटो: राहुल सिंह, राज्य सूचना आयुक्त )

Loading...

इस मामले में सूचना आयुक्त मुख्य वन संरक्षक वृत रीवा की भूमिका से भी नाराज हैं. बता दें कि शिवराज कार्यकाल में हुए 50 लाख प्लांटेशन में बड़े फर्ज़ीवाड़े की आशंका जताई जा रही है. आशंका जताई जा रही है कि पूरी जानकारी सामने आने पर कई बड़े अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकती है.

यह भी पढ़ें- RTI: उच्च शिक्षा विभाग को 7 दिनों में देनी होगी रीवा के इस कॉलेज में हुई नियुक्तियों की जानकारी
First published: August 4, 2019, 10:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...