MP कांग्रेस को एक और झटका, नेपानगर विधायक सुमित्रा देवी ने दिया इस्तीफा
Bhopal News in Hindi

MP कांग्रेस को एक और झटका, नेपानगर विधायक सुमित्रा देवी ने दिया इस्तीफा
मध्य प्रदेश कांग्रेस को एक और झटका, विधायक सुमित्रा देवी ने दिया इस्तीफ़ा

प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर गोविंद सिंह राजपूत ने कहा है कि कांग्रेस विधायकों का पार्टी छोड़ने के पीछे एक बड़ा कारण विकास ना हो पाना है. अभी और तीन विधायक पाइपलाइन में हैं जो बीजेपी में आने को बेताब हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में सत्ता गंवाने के बाद कांग्रेस (Congress) अब विधायकों की कम होती संख्या से परेशान है. एक के बाद एक कांग्रेस पार्टी (Congress Party) को बड़े झटके लग रहे हैं. 23 सीटों पर कांग्रेस विधायकों के दल-बदल कर बीजेपी (BJP) में शामिल होने के बाद एक और बड़ा झटका कांग्रेस को लगा है. बुरहानपुर की नेपानगर विधानसभा सीट (Nepanagar Assembly seat in Burhanpur) से कांग्रेस की विधायक सुमित्रा देवी ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है. विधानसभा सचिवालय को दो लाइन में भेजे गए इस्तीफे में सुमित्रा देवी (Sumitra Devi) ने पद से त्यागपत्र देने की बात लिखी है. जिसे विधानसभा सचिवालय ने स्वीकार कर लिया है.

बीजेपी बोली लगाने की राजनीति कर रही है!
बता दें कि सुमित्रा कासडेकर ने 2018 के विधानसभा चुनाव (MP Assembly elections-2018) में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़कर बीजेपी के कब्जे वाली नेपानगर सीट पर कांग्रेसी झंडा लहराने का काम किया था. नेपानगर सीट से सुमित्रा देवी 2018 के चुनाव में बीजेपी की मंजू दादू को 500 से ज्यादा वोटों से शिकस्त दी थी. लेकिन अब सुमित्रा आज दल-बदल कर बीजेपी में जाने को तैयार नजर आ रही हैं. हालांकि इस पूरे मामले को लेकर फिलहाल सुमित्रा कासडेकर ने मौन रख लिया है. खबर इस बात को लेकर कि सुमित्रा देवी बीजेपी के बड़े नेताओं की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ले सकती हैं. वही कांग्रेस विधायकों के दल बदलने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने बीजेपी पर निशाना साधा है. कमलनाथ ने कहा है यह तो पहले से बोलता आ रहा हूं कि बीजेपी बोली लगाने की राजनीति कर रही है. जिसमें संविधान और सिद्धांतों की चिंता नहीं है. वह पार्टी जो कहती रही है कि हम नैतिक और स्वस्थ राजनीति करते हैं. आज पूरे देश में सबसे घटिया और सौदेबाजी की राजनीति बीजेपी कर रही है.

ये भी पढ़ें :- गुना: किसान दंपति के जहर खाने के मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश, 30 दिन में देनी होगी रिपोर्ट




अभी और तीन विधायक पाइपलाइन
वहीं प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर गोविंद सिंह राजपूत ने कहा है कि कांग्रेस विधायकों का पार्टी छोड़ने के पीछे एक बड़ा कारण विकास ना हो पाना है. कोई भी नेता हो या कार्यकर्ता वह विकास की ओर रुख करता है. नेपानगर की विधायक सुमित्रा देवी ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया है क्योंकि कांग्रेस के कार्य में विकास की बात नहीं होती. इसलिए कांग्रेस पार्टी के लोग भाजपा में आ रहे हैं. भाजपा में आने के बाद विकास की लहर है. मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा है कि अभी और तीन विधायक पाइपलाइन में हैं जो बीजेपी में आने को बेताब हैं. बहरहाल बुरहानपुर की नेपानगर सीट बीजेपी का मजबूत किला मानी जाती थी. 2018 के चुनाव से पहले लगातार चार बार बीजेपी ने यहां पर जीत दर्ज की थी. कांग्रेस को 2018 से पहले इस सीट पर साल 1998 में सफलता मिली थी. उसके बाद 2018 के चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल की. लेकिन अब यहां पर उपचुनाव के हालात हो गए हैं और कांग्रेस के लिए मुश्किल इस बात को लेकर हो गई है कि अब तक 25 सीटों की तैयारी करने वाली कांग्रेस पार्टी को 26 सीट के लिए भी तैयार होना पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज