Home /News /madhya-pradesh /

MP में नक्सलियों पर और कसा शिकंजा, बालाघाट पुलिस जोन में अब डिंडोरी भी

MP में नक्सलियों पर और कसा शिकंजा, बालाघाट पुलिस जोन में अब डिंडोरी भी

एमपी के नक्सल प्रभावित तीन जिले बालाघाट, मंडला, डिंडोरी एक ही पुलिस जोन में आ गए हैं. (Twitter-file)

एमपी के नक्सल प्रभावित तीन जिले बालाघाट, मंडला, डिंडोरी एक ही पुलिस जोन में आ गए हैं. (Twitter-file)

Anti Naxal Operation : मध्य प्रदेश सरकार ने नक्सलियों पर शिकंजा कस दिया है. नक्सल प्रभावित तीनों जिलों बालाघाट, मंडला, डिंडोरी को अब अपना-अपना अलग-अलग नक्सल विरोधी ऑपरेशन नहीं चलाना पड़ेगा. इन तीनों जिलों को एक ही पुलिस जोन में कर दिया गया है. दरअसल, डिंडोरी पहले शहडोल रेंज में आता था, लेकिन सरकार ने पुलिस रेग्युलेशन में सुधार कर इसे बालाघाट पुलिस जोन में शामिल कर लिया है. डिंडोरी को हाल ही में नक्सल प्रभावित जिला घोषित किया गया है. प्रदेश के बालाघाट और मंडला की तरह डिंडौरी के छत्तीसगढ़ से लगे गांवों में भी कुछ महीनों से नक्सलियों का मूवमेंट बढ़ने लगा था.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश में नक्सलियों (Naxalites) पर अब शिकंजा कस दिया गया है. सरकार ने पुलिस रेग्युलेशन में संशोधन करके नक्सल प्रभावित डिंडोरी जिले को बालाघाट पुलिस जोन में शामिल कर लिया है. इससे अब प्रदेश के नक्सल प्रभावित तीन जिले बालाघाट, मंडला, डिंडोरी एक ही पुलिस जोन में आ गए हैं. पहले डिंडोरी जिला शहडोल रेंज में आता था. अब तीनों जिले एक ही जोन में आने से पुलिस को नक्सल विरोधी अभियान (Anti Naxal Operation) एक जगह से चलाने में आसानी रहेगी.

बालाघाट जोन में डिंडोरी जिले शामिल होने के बाद अब शहडोल जोन में उमरिया, शहडोल और अनूपपुर जिले ही रह जाएंगे. हाल ही में डिंडोरी जिले को नक्सल प्रभावित जिला घोषित किया गया है. प्रदेश के बालाघाट और मंडला के साथ-साथ डिंडौरी के छत्तीसगढ़ से लगे गांवों में कुछ महीनों से नक्सलियों का मूवमेंट बढ़ने लगा था. लगातार नक्सली मध्यप्रदेश में अपने नेटवर्क को मजबूत कर रहे थे. यही कारण है कि अब इस नेटवर्क पर पुलिस की पकड़ मजबूत करने के लिए और नेटवर्क ध्वस्त करने के लिए सरकार ने पुलिस रेग्यूलेशन में संशोधन करके डिंडौरी को बालाघाट पुलिस जोन में शामिल किया है.

तीनों जिलों में हॉक फोर्स की पड़ेगी निगरानी
एक ही पुलिस जोन में तीनों जिले आने से तालमेल से और आसानी से काम हो सकेगा. गृह विभाग ने जोन परिवर्तन को लेकर अधिसूचना जारी कर दी है. गृह विभाग के एसीएस राजेश राजौरा ने बताया अब बालाघाट रेंज में तीन जिले बालाघाट, मंडला और डिंडौरी होंगे. शहडोल रेंज में शहडोल, उमरिया और अनूपपुर जिले ही होंगे. नक्सल प्रभावित जिले में शामिल होने के बाद डिंडोरी में पुलिस बल में वृद्धि के साथ संसाधन भी बढ़ाए जाएंगे. साथ ही नक्सल विरोधी अभियान चलाने में भी पुलिस को मदद मिलेगी और नक्सलियों पर तेजी से नकेल कसी जाएगी.

ये भी पढ़ें- मर्सी किलिंग: ‘डांसर’ का मार्मिक अंत, मौत से पहले भी किया Dance, देखते ही देखते हो गया शांत

डिंडोरी को नक्सल प्रभावित घोषित किया था…
डिंडौरी के समनापुर, बजाग, करंजिया थाना क्षेत्र नक्सल प्रभावित हैं. छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे इन तीनों थाना क्षेत्रों में एक-एक चौकी भी खोली जाएगी. जुलाई 2021 में बालाघाट पुलिस ने नक्सलियों के लिए लाए गए हथियारों के साथ 8 तस्करों को पकड़ा था. इसके अलावा इस साल कई इनामी नक्सलियों को भी पकड़ा गया और कई नक्सलियों को मुठभेड़ में ढेर किया गया. जब छत्तीसगढ़ में नक्सलियों पर दबाव पड़ता है तो नक्सली मध्यप्रदेश में अपना ठिकाना बनाते हैं. लेकिन अब यहां भी उन पर शिकंजा कस दिया गया है.

Tags: Bhopal news, Mp news, Naxalites news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर