लाइव टीवी

मध्य प्रदेश में अब सरकारी डॉक्टरों को 3 बार लगानी होगी हाज़िरी, वरना कटेगी सैलरी

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 7, 2019, 6:38 PM IST
मध्य प्रदेश में अब सरकारी डॉक्टरों को 3 बार लगानी होगी हाज़िरी, वरना कटेगी सैलरी
डॉक्टर तीन बार देंगे हाज़िरी

इस बात का भी फैसला लिया है कि एक डॉक्टर एक दिन में कितने मरीज़ देखता है, इसका रिकॉर्ड भी रखा जाएगा.महीनेभर के रिकॉर्ड की जांच भी होगी.मंत्रालय स्तर पर इस रिकॉर्ड को देखा जाएगा.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश (madhya pradesh)में अब सरकारी डॉक्टरों (government doctors) पर निगरानी बढ़ा दी गई है.ओपीडी (opd)में मौजूदगी तय करने के लिए नई व्यवस्था लागू की गई है. इस व्यवस्था के तहत सभी सरकारी डॉक्टरों को दिन में तीन बार हाजिरी देनी होगी. इसी के साथ ये रिकॉर्ड भी रखा जाएगा कि किस डॉक्टर ने दिन में कितने मरीज़ों की जांच की.

3 बार अटेंडेंस-मध्य प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने के लिए कमलनाथ सरकार सख़्ती के मूड में है. वो सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की गैर मौजूदगी पर लगाम कसने जा रही है. डॉक्टरों को अब दिन में तीन बार अपनी हाज़िरी लगाना होगी. ऐसा ना करने वाले डॉक्टरों की तनख्वाह काट दी जाएगी.
सरकारी अस्पताल में डॉक्टर जब सुबह ओपीडी में आएंगे तब उन्हें सबसे पहले कर्मचारी रजिस्टर में साइन करना होंगे. दोपहर में लंच के बाद दोपहर को फिर साइन करने होंगे. उसके बाद शाम चार बजे ओपीडी खत्म होने पर डॉक्टरों को आखिरी बार रजिस्टर में साइन करने होंगे. अगर तीन में से एक भी समय पर साइन नहीं किए, तो उसे अनुपस्थित माना जाएगा.

मरीज़ों की सुविधा-इस व्यवस्था का फायदा सीधे तौर पर मरीजों को मिलेगा, जो अक्सर डॉक्टरों के ड्यूटी पर ना होने के कारण परेशान रहते हैं. ये शिकायत आम है कि डॉक्टर ओपीडी के समय नदारद रहते थे..अब तीन बार हाजिरी लगने की वजह से मरीज अपनी सुविधा के अनुसार इलाज करा सकेगा.

फिलहाल भोपाल फिर पूरा MP
अभी ये व्यवस्था भोपाल संभाग में शुरू की गयी है. अगर प्रयोग सफल रहा तो फिर बाकी प्रदेश में भी इसे लागू किया जाएगा. सरकार ने डॉक्टरों की उपस्थिति पक्की करने के साथ इस बात का भी फैसला लिया है कि एक डॉक्टर कितने मरीज़ देखता है, इसका रिकॉर्ड भी रखा जाएगा.महीनेभर के रिकॉर्ड की जांच भी होगी.मंत्रालय स्तर पर इस रिकॉर्ड को देखा जाएगा.

डॉक्टरों की हाजिरी पर सियासत शुरू
Loading...

डॉक्टरों की तीन बार हाजिरी को लेकर कांग्रेस और बीजेपी में ठन गई है.कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मानक अग्रवाल ​ने बताया कि ये फैसला मरीज़ों के हित में है.ऐसा होने से हर समय डॉक्टर उपलब्ध रहेंगे और किसी भी समय मरीज अपना इलाज करा सकेंगे.डॉक्टरों के खिलाफ आने वाली शिकायतों में भी कमी आएगी.वहीं प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल का कहना है कि सरकार का ये फैसला डॉक्टरों के सम्मान को ठेस पहुंचाने वाला है.

ये भी पढ़ें-दिग्विजय के फिर बिगड़े बोल, BJP- बजरंग दल के नेता कर रहे हैं ISI के लिए जासूसी

मध्य प्रदेश में मंत्री जीतू पटवारी से नाराज़ पटवारियों की हड़ताल ख़त्म

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 6:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...