MP में पुलिस जवानों-अधिकारियों की छुट्टी पर रोक, मेल के ज़रिए होगा सरकारी कामकाज

एमपी में दर्जनों पुलिस वाले भी कोरोना की चपेट में हैं.

एमपी में दर्जनों पुलिस वाले भी कोरोना की चपेट में हैं.

Bhopal. कम महत्वपूर्ण पत्राचार पुलिस अधिकारी कर्मचारियों के ज़रिए नहीं कराया जाएगा. इसके लिए पुलिस मुख्यालय (PHQ) और जिला स्तर पर पुलिस अफसर ईमेल का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करेंगे.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) में कोरोना संक्रमण के कारण बिगड़ रहे हालात के बीच पुलिस मुख्यालय (MP PHQ) ने एमपी पुलिस की छुट्टी पर रोक लगा दी है. जिन पुलिसकर्मियों को पहले छुट्टी दी गई थी उनकी छुट्टियां भी निरस्त की जा रही हैं. इसके अलावा पुलिस का जितना भी पत्राचार एक से दूसरे ऑफिस में हैंड टू हैंड किया जाता था, अब वह सिर्फ ईमेल के जरिए किया जाएगा.

पुलिस मुख्यालय ने अपने आदेश में इस बात का जिक्र भी किया है कि यदि किसी को अति आवश्यक स्थिति में छुट्टी की मंजूरी मिलती है, तो वह पुलिसकर्मी बेवजह इधर-उधर नहीं घूमेंगे. क्योंकि इससे उसे संक्रमण का खतरा हो सकता है. सिर्फ अति आवश्यक काम को लेकर सक्षम अधिकारी ही उस पुलिसकर्मी की छुट्टी को मंजूरी दे सकते हैं. इस संबंध में पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी, एसएएफ की सभी बटालियन, सभी रेल एसपी और सभी आई जी, डीआईजी को पत्र लिखा है.

ये है पुलिस मुख्यालय के दिशा निर्देश

पुलिस मुख्यालय ने अपने आदेश में कहा है कि कोरोना की समस्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. आम जनता के साथ काम करने वाले पुलिस अधिकारी कर्मचारी भी लगातार संक्रमित हो रहे हैं. ऐसे में इस गंभीर समस्या को ध्यान में रखते हुए फील्ड में तैनात पुलिस अधिकारी कर्मचारियों के बचाव के लिए कुछ निर्णय लिए गए हैं. पुलिस अधिकारी कर्मचारियों के अवकाश और अनावश्यक आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है.
-पुलिस मुख्यालय के निर्देश के अनुसार आगामी आदेश तक पुलिस अधिकारी कर्मचारी के लंबी  अवधि के अवकाश मंजूर नहीं किए जाएंगे.

- अति आवश्यक कारण पर कम से कम दिन की छुट्टी सक्षम अधिकारी मंजूर करेंगे. अपनी छुट्टी के दौरान पुलिस अधिकारी कर्मचारी अनावश्यक इधर उधर ना घूमें क्योंकि इससे संक्रमण का खतरा रहता है.

-इसके अलावा पुलिस मुख्यालय ने यह भी निर्देश दिए कि जिन पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की छुट्टी पहले से स्वीकृत है यदि वह अति आवश्यक कैटेगरी में आती है तो सक्षम अधिकारी उसका पुनः परीक्षण करेगा और इसके बाद ही छुट्टी मंजूर करेगा. वरना सभी पुलिस अधिकारी कर्मचारियों की छुट्टी भी निरस्त की जाएगी.





-कम महत्वपूर्ण पत्राचार पुलिस अधिकारी कर्मचारियों के ज़रिए नहीं कराया जाएगा. इसके लिए पुलिस मुख्यालय और जिला स्तर पर पुलिस अफसर ईमेल का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करेंगे. कोई भी डाक देने वाला कर्मचारी ना तो पुलिस मुख्यालय में जाएगा ना ही संबंधित किसी जिले के पुलिस अधिकारी कर्मचारी के दफ्तर में जाएगा. इस तरह के आवागमन पर पूरी तरीके से पुलिस मुख्यालय ने रोक लगा दी है. पुलिस मुख्यालय की प्रशासन शाखा ने सभी जिलों के पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को इस संबंध में दिशा निर्देश भी जारी कर दिए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज