अपना शहर चुनें

States

टाइगर और लेपर्ड के बाद अब गिद्ध और घड़ियाल स्टेट बनेगा मध्य प्रदेश

सरकार को रिपोर्ट का इंतज़ार है. (सांकेतिक फोटो)
सरकार को रिपोर्ट का इंतज़ार है. (सांकेतिक फोटो)

मध्य प्रदेश के वन मंत्री (Forest minister) विजय शाह (Vijay shah) ने दावा किया है कि मध्य प्रदेश टाइगर स्टेट और लेपर्ड स्टेट होने के बाद अब गिद्ध और घड़ियाल की संख्या के मामले में भी देश में नंबर वन होने जा रहा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2021, 11:45 AM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) अब गिद्ध और घड़ियाल स्टेट बनने की राह पर है. सरकार (Government) का दावा है कि जल्द ही उसे ये तमगा मिल जाएगा. एमपी टाइगर स्टेट पहले से ही था. हाल ही में वो लेपर्ड स्टेट भी बन गया है.

मध्य प्रदेश के वन मंत्री विजय शाह ने दावा किया है कि मध्य प्रदेश टाइगर स्टेट और लेपर्ड स्टेट होने के बाद अब गिद्ध और घड़ियाल की संख्या के मामले में भी देश में नंबर वन होने जा रहा है. इस मामले की रिपोर्ट आने के बाद मध्य प्रदेश गिद्ध स्टेट और घड़ियाल स्टेट का दर्जा भी हासिल कर लेगा. राज्य सरकार वाइल्ड लाइफ मैनेजमेंट के लिए पहले ही तीन पुरस्कार हासिल कर चुकी है.प्रदेश के 3 टाइगर रिजर्व एरिया वाइल्ड लाइफ मैनेजमेंट के लिए पुरस्कृत हो चुके हैं. और अब सरकार नए वन क्षेत्र विकसित कर वन्य जीवों का पुनर्वास करने की योजना बना रही है.

केंद्र को रिपोर्ट देना होगी
मध्य प्रदेश में पौधारोपण पर वन मंत्री ने कहा पौधारोपण के बाद वन विभाग को हर छह माह में भारत सरकार को रिपोर्ट देनी होगी. इसमें पौधों की जीवितता का प्रतिशत और पौधे की वृद्धि दर बताना होगी. इसी आधार पर किश्तों में राशि जारी होगी.
बढ़ सकता है बजट


योजना के तहत संबंधित नदियों के दोनों किनारों से चार से पांच किमी दायरे में खाली वनभूमि पर पौधे रोपे जाएंगे. यदि इसके लिए विभाग को और राशि की जरूरत पड़ी, तो वह भी दी जाएगी. क्योंकि इन क्षेत्रों को टाइगर कॉरीडोर के रूप में विकसित करने की रणनीति है.

इनका कहना है
वन मंत्री विजय शाह ने कहा पांच नदियों के किनारे 40 हजार हेक्टेयर में पौधारोपण होना है. सभी जिलों से इसके प्रस्ताव बुलाए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज