भोपाल एम्स को बनाया कोविड सेंटर, OPD बंद, कोरोना पेशेंट के लिए बढ़ जाएंगे 500 बेड

भोपाल नगर निगम के हर जोन में कोविड हेल्प सेंटर बनेंगे. ये निर्देश आज चिकित्सा शिक्षा मंत्री कैलाश सारंग ने दिये.

भोपाल नगर निगम के हर जोन में कोविड हेल्प सेंटर बनेंगे. ये निर्देश आज चिकित्सा शिक्षा मंत्री कैलाश सारंग ने दिये.

भोपाल एम्स को कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया गया है. जबकि ओपीडी को बंद कर दिया गया. इसके साथ ही कोरोना पेशेंट के लिए 500 बेड बढ़ जाएंगे. यहां भर्ती होने वाले कोरोना मरीजों की वीडियो कांफ्रेंसिंग से बातचीत कराई जाएगी.

  • Last Updated: April 15, 2021, 5:14 PM IST
  • Share this:
भोपाल. एम्स भोपाल को अब कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया गया है. यहां पर ओपीडी बंद कर कोविड मरीजों के लिए 500 बेड की व्यवस्था मंगलवार तक की जा रही है. अभी 132 मरीज आईसीयू में भर्ती है.

चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने एम्स का दौरा किया. उन्होंने एम्स के अधिकारियों से बातचीत कर कहा कि मंगलवार तक एम्स में 500 बेड की व्यवस्था होगी. अभी 165 आईसीयू वाले वार्ड में 132 मरीज भर्ती हैं. उन्होंने कहा कि लगभग प्रतिदिन बेड की क्षमता बढ़ेगी.

एम्स में बनेगी हेल्प डेस्क

मंत्री विश्वास सारंग ने एम्स के डॉक्टरों से इस बात को लेकर भी चर्चा की है कि प्रबंधन यह भी सुनिश्चित करें कि एक हेल्प डेस्क एम्स के अंदर ही बनाई जा सके. इस हेल्प डेस्क से लोगों को मदद मिलेगी और लोगों को अपने इलाज के लिए भटकना नहीं पड़ेगा. उन्होंने 24 घंटे काम करने और कम्युनिकेशन बनाए रखने के निर्देश भी दिए हैं.
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में होगी बातचीत

मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि  हेल्प डेस्क के अलावा कोविड वार्ड में भर्ती मरीजों की बातचीत भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कराई जाएगी. इसके लिए एम्स परिसर में ही प्रबंधन व्यवस्था कर रहा है. यहां पर भर्ती मरीज के परिजन आसानी से अपने मरीज से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि जल्द ही एम्स में की व्यवस्था भी शुरू कर दी जाएगी.

भोपाल में एंबुलेंस की मनमानी



कोरोना के बीच ऑक्सीजन सपोर्ट वाली प्राइवेट एंबुलेंस की मनमानी सामने आई है. 500 मीटर दूर अस्पताल ले जाने के लिए 3 हजार रुपए वसूले जा रहे हैं। 5 से 6 गुना डबल पैसा वसूल आ जा रहा. बता दें कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर समेत करीब 10 जिलों में कोरोना कर्फ्यू लगा हुआ है. हर दिन कोरोना के 10 हजार नए केस मिल रहे हैं. स्थिति भयावह बनी हुई है. इससे मरीजों को अस्पतालों में बेड की कमी पड़ गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज