अपना शहर चुनें

States

BHOPAL NEWS : अब बिजली घरों में जमा नहीं होंगे बिल, ऑनलाइन करने पर मिलेगा डिस्काउंट

MP NEWS : बिजली बिल जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को ऑनलाइन कई विकल्प उपलब्ध रहेंगे.
MP NEWS : बिजली बिल जमा करने के लिए उपभोक्ताओं को ऑनलाइन कई विकल्प उपलब्ध रहेंगे.

BHOPAL : कैश काउंटर बंद होने के साथ ही एक सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि अगर कोई उपभोक्ता ऑनलाइन पेमेंट करने में सक्षम नहीं है तो फिर उसे बिजली बिल जमा करने की सुविधा कैसे दी जाएगी.

  • Share this:
भोपाल. एमपी (MP) में एक अप्रैल से बिजली बिल (Electricity bill) जमा करने की व्यवस्था में बदलाव होने जा रहा है.मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी अपने कैश काउंटर बंद करने जा रही है. उपभोक्ताओं  इसके बदले पे टीएम और गूगल पे जैसे विकल्प उपलबब्ध रहेंगे.

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक एक अप्रैल से कंपनी अपने कैश काउंटर तो बंद कर रही है. लेकिन पहले से जारी एमपी ऑनलाइन, कॉमन सर्विस सेंटर, एटीपी मशीन, कंपनी के पोर्टल portal.mpcz.in (नेट बैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, ईबीपीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड, वॉलेट, पेटीएम, गूगल पे, फोन पे आदि) और उपाय मोबाइल एप विकल्पों पर बिल भुगतान की सुविधा उपभोक्ताओं को पहले की तरह मिलती रहेगी.

इसके अलावा कंपनी कुछ जगहों पर एजेंसियों को ऑनलाइन भुगतान के लिए अपाइंट करेगी. कंपनी ऑनलाइन भुगतान के अन्य विकल्प उपलब्ध कराने पर भी विचार कर रही है. उसने यह स्पष्ट किया है कि चालू फरवरी-मार्च में मीटर रीडर को बिजली बिल भुगतान के लिए अधिकृत नहीं किया गया है. इसलिए इस महीने में मीटर रीडर को बिजली बिल का भुगतान नहीं करें. यदि ऐसा कोई व्यक्ति कैश कलेक्शन के लिए उपभोक्ता के पास आता है तो उससे बिजली कंपनी का आईडी कार्ड मांगा जाए और संबंधित व्यक्ति की फोटो खींचकर रखें.



ऑनलाइन पेमेंट पर डिस्काउंट
ऑनलाइन भुगतान पर ग्राहकों को कुछ डिस्काउंट भी देने का फैसला कंपनी ने किया है. ऑनलाइन भुगतान पर 5 से 20 रुपये तक की छूट मिलेगी.उपभोक्ता को बिल भुगतान की तुरंत जानकारी मिलेगी.इससे समय की बचत होगी.बिल भुगतान के लिए बिजली ऑफिस नहीं जाना पड़ेगा.ऑनलाइन भुगतान किसी भी समय कहीं से भी किया जा सकेगा.

ये हैं ऑनलाइन पेमेंट के विकल्प
एम.पी.ऑनलाइन, एटीपी मशीन, कॉमन सर्विस सेन्टर, कंपनी पोर्टल (नेट बैंकिंग, क्रेडिट/डेबिट कार्ड, यूपीआई, ईसीएस, ईबीपीएस, बीबीपीएस, कैश कार्ड एवं वॉलेट आदि), पेटीएम एप और वेबसाइट और उपाय मोबाइल एप. हालांकि इस व्यवस्था के साथ ही एक सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि अगर कोई उपभोक्ता ऑनलाइन पेमेंट नहीं करने में सक्षम है तो फिर उसे आखिरकार कैसे पेमेंट की सुविधा दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज