• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP पुलिस की वेबसाइट में सेंध : अमेरिकी रिपोर्ट में दावा- चीनी हैकर्स ने चुराया 5 मेगाबाइट डाटा!

MP पुलिस की वेबसाइट में सेंध : अमेरिकी रिपोर्ट में दावा- चीनी हैकर्स ने चुराया 5 मेगाबाइट डाटा!

हालांकि पुलिस मुख्यालय हैकिंग की बात से इंकार कर रहा है.

हालांकि पुलिस मुख्यालय हैकिंग की बात से इंकार कर रहा है.

Cyber Crime - मैसाचुसेट्स स्थित रिकार्डेड फ्यूचर के इनसिक्ट ग्रुप ने कहा है कि हैकिंग समूह ने विन्नटी मालवेयर का उपयोग किया. इस समूह को अस्थायी तौर पर टीएजी-28 नाम दिया गया है. विन्नटी मालवेयर विशेष रूप से सरकार प्रायोजित कई चीनी गतिविधि समूहों के बीच साझा किया गया है.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश पुलिस (MP POLICE) की वेबसाइट में सेंधमारी हो गयी है. खबर है कि चीनी हैकर्स (Chinese hackers) ने वेबसाइट (Website) से 5 मेगाबाइट डाटा निकाल लिया है. हालांकि, पुलिस मुख्यालय ने हैकिंग, डाटा चोरी की बात से इंकार किया है.

अमेरिका की निजी साइबर सुरक्षा कंपनी इनसिक्ट ग्रुप ने अपनी रिपोर्ट में ये दावा किया है. इस रिपोर्ट पर पुलिस मुख्यालय की स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो ब्रांच के एक अधिकारी ने फोन पर बताया कि वेबसाइट पब्लिक डोमेन में है. कोई भी डाटा ले सकता है. वेबसाइट की 4 सर्विसेज सिर्फ लॉगिंग पासवर्ड से खुलती हैं. 2 सर्विसेज ओपन हैं. वेबसाइट का सर्वर चैक किया है लेकिन हैक, चोरी जैसे सबूत नहीं मिले हैं. एससीआरबी की तरफ से कहा गया है कि यह डाटा 29 जुलाई से 9 अगस्त तक निकालना बताया जा रहा है. कोई जानकारी सर्वर में नहीं मिली है, इसलिए अब रिपोर्ट देने वाली कंपनी से पत्राचार कर जानकारी ली जाएगी।

ये है पूरा मामला…
मैसाचुसेट्स स्थित रिकार्डेड फ्यूचर के इनसिक्ट ग्रुप ने कहा है कि हैकिंग समूह ने विन्नटी मालवेयर का उपयोग किया. इस समूह को अस्थायी तौर पर टीएजी-28 नाम दिया गया है. विन्नटी मालवेयर विशेष रूप से सरकार प्रायोजित कई चीनी गतिविधि समूहों के बीच साझा किया गया है. हालांकि, चीनी अधिकारी राज्य प्रायोजित हैकिंग के किसी भी रूप से इंकार करते रहे हैं. इनसिक्ट ग्रुप ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि साइबर हमले सीमा पर जारी तनावों से जुड़े हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें – Anti Mafia Drive : 3 हिस्ट्रीशीटर के मकान ध्वस्त करने में लगी तीन थानों की पुलिस, घर से मिली नकली पिस्टल

रिपोर्ट कहती है…
.रिपोर्ट के अनुसार, अगस्त 2021 की शुरुआत में रिकॉर्ड किए गए आंकड़ों से पता चलता है कि वर्ष 2020 की तुलना में वर्ष 2021 में भारतीय संगठनों और कंपनियों को निशाना बनाने वाली राज्य प्रायोजित चीनी साइबर गतिविधियां 261 फीसदी तक बढ़ी हैं. फरवरी और अगस्त के बीच दो विन्नटी सर्वर्स के साथ एक मीडिया कंपनी को दिए गए चार आइपी एड्रेस की जांच की गई. निजी स्वामित्व वाली मुंबई की कंपनी के नेटवर्क से करीब 500 मेगाबाइट डाटा निकाला गया. इसी तर्ज पर मध्य प्रदेश के पुलिस विभाग से पांच मेगाबाइट डाटा निकाला गया. ग्रुप ने कहा कि जून और जुलाई में उसने भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआइ) में भी हैक की पहचान की. उसने कहा करीब 10 मेगाबाइट डाटा डाउनलोड किया गया और 30 मेगाबाइट डाटा अपलोड हुआ. हालांकि, यूआइडीएआइ ने बताया कि उसे इसकी जानकारी नहीं है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज