Assembly Banner 2021

MP: महाराष्ट्र से आने-जाने वाली बसों पर प्रतिबंध बरकरार, जानिए कब तक लगी रहेगी रोक

बसों की महाराष्ट्र आवाजाही पर पहले 31 मार्च तक रोक थी.

बसों की महाराष्ट्र आवाजाही पर पहले 31 मार्च तक रोक थी.

Bhopal.सरकार पहले ही महाराष्ट्र (Maharashtra) से लगे मध्य प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना अलर्ट जारी कर चुकी है. महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग और उनकी कोरोना रिपोर्ट भी देखी जा रही है

  • Share this:
भोपाल. महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण (Corona) बढ़ने के कारण अब मध्य प्रदेश से बसों (BUS) के वहां आने जाने पर 15 अप्रैल तक प्रतिबंध लगा दिया गया है. पहले ये रोक 31 मार्च तक थी. लेकिन कोरोना के ताज़ा हालात को देखते हुए सरकार ने प्रतिबंध बढ़ा दिया है.

महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण मध्य प्रदेश की सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है. इसी के तहत अब यात्री बसों पर प्रतिबंध की समय अवधि भी बढ़ाई गई है. अभी तक 31 मार्च तक यात्री बसों पर प्रतिबंध था. परिवहन विभाग ने आदेश जारी कर इस प्रतिबंध को 15 अप्रैल तक बढ़ा दिया है. परिवहन विभाग के आदेश के अनुसार अब महाराष्ट्र से बसों के आने जाने पर पूरी तरीके से प्रतिबंध रहेगा.

परिवहन विभाग के आदेश के अनुसार प्रदेश से महाराष्ट्र जाने वाली और महाराष्ट्र से प्रदेश में अब कोई बस नहीं आ जा सकेगी. कोरोना के कारण प्रतिबंध को बढ़ाया गया है. ये रोक मध्य प्रदेश से चलने वाली यात्री बस चाहें वह अंतर्राज्यीय हों या अंतर्राष्ट्रीय हों सभी पर लागू रहेगा. इसी तरह महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में आने जाने वाली बसों पर भी रोक रहेगी. इसकी मॉनिटरिंग परिवहन विभाग करेगा.

महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की निगरानी


सरकार पहले ही महाराष्ट्र से लगे मध्य प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना अलर्ट जारी कर चुकी है. महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग और उनकी कोरोना रिपोर्ट भी देखी जा रही है. अलग-अलग स्वास्थ्य और पुलिस विभाग की टीम ऐसे लोगों पर नजर रखे हुए हैं. इसके अलावा महाराष्ट्र से लगे प्रदेश के जिलों में त्योहार पर लगने वाले मेलों पर भी रोक लगाई गई है. यह सब इसलिए किया जा रहा है ताकि महाराष्ट्र में तेजी से फैल रहे कोरोना की एंट्री प्रदेश में ना हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज