Bhopal News: 679 करोड़ के बैंक फ्रॉड मामले में CBI की ताबड़तोड़ रेड से मचा हड़कंप, जानें क्‍या है मामला

एफआईआर के बाद सीबीआई ने बैंक फ्रॉड केस में तेल कंपनी के अहमदाबाद और मेहसाणा में ठिकानों पर कार्रवाई की है.

एफआईआर के बाद सीबीआई ने बैंक फ्रॉड केस में तेल कंपनी के अहमदाबाद और मेहसाणा में ठिकानों पर कार्रवाई की है.

भोपाल सीबीआई (Bhopal CBI) की टीम 679 करोड़ के बैंक फ्रॉड मामले में लगातार रेड कर रही है. हालांकि बैंक और धोखाधड़ी का यह पूरा मामला गुजरात से जुड़ा हुआ है.

  • Share this:

भोपाल/अहमदाबाद. भोपाल सीबीआई (Bhopal CBI) की टीम ने करोड़ों के बैंक फ्रॉड मामले में दूसरे राज्य में छह स्थानों पर छापामार कार्रवाई की है. सीबीआई की टीम ने कुछ दिनों पहले इस बैंक फ्रॉड के मामले में एफआईआर (FIR) दर्ज की थी. इस एफआईआर के बाद यह छापेमार कार्रवाई की गई है.

जानकारी के अनुसार, भोपाल सीबीआई ने 679 करोड़ के बैंक फ्रॉड मामले में कुछ दिनों पहले एफआईआर दर्ज की थी. इस एफआईआर में जयेशभाई चंदूभाई पटेल, मुकेश कुमार नारणभाई पटेल, दितिन नारायणभाई पटेल और मोना जिग्नेशभाई आचार्य को आरोपी बनाया गया. आरोप है कि इन लोगों ने बैंक ऑफ इंडिया से संबंधित आठ बैंकों से 2014 से 2017 के बीच करीब 810 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था. इससे बैंक को 678.93 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

इसलिए भोपाल सीबीआई ने कार्रवाई

दरअसल, बैंक और धोखाधड़ी का यह पूरा मामला गुजरात राज्य का है, लेकिन ऐसे मामलों में कार्रवाई का अधिकार किसी भी ब्रांच की सीबीआई को मिलता है. सीबीआई की एसी-4 ब्रांच का कार्य क्षेत्र देशभर में है, इसलिए भोपाल की टीम ने इस मामले में पहले एफआईआर की और अब छापेमारी भी कर रही है.
यहां-यहां सीबीआई की रेड

गुजरात की तेल कंपनी के अहमदाबाद और मेहसाणा में छह ठिकानों पर छापमार कार्रवाई की गई. इसमें मेहसाणा स्थित तेल कंपनी विमल ऑयल और उसके निदेशकों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है. आरोप है कि आरोपियों ने बैंक ऑफ इंडिया के साथ 678 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की गई. छापेमार कार्रवाई के दौरान कंपनी परिसर और कंपनी निदेशकों के आवास की भी तलाशी ली गई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज