अपना शहर चुनें

States

CM शिवराज की खरी-खरी : जनता के काम हों या अफसरों की पोस्टिंग, नहीं चलेगा 'लेन-देन'

शिवराज सिंह ने आज कमिश्नर-कलेक्टर्स, आईडी और एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की.
शिवराज सिंह ने आज कमिश्नर-कलेक्टर्स, आईडी और एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की.

cm ने कहा जनता को शासन की ओर से दी जाने वाली समस्त सुविधाओं का लाभ बिना लिए-दिए समय पर मिलना चाहिए. हमारा लक्ष्य है प्रदेश में जनता को सुशासन देना. हमें जनता का काम करने के तरीके निकालने हैं न कि काम न करने के.

  • Share this:
भोपाल. सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) ने आज प्रदेश के आला अफसरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की. इसमें वो काफी सख्त मूड में नज़र आए. सीएम ने साफ साफ कहा कि एमपी में कोई भी काम लेन-देन से नहीं होगा. अफसरों के तबादले हों या जनता का काम. किसी में भी लेन-देन नहीं चलेगा. अफसरों की पोस्टिंग उनके काम के आधार पर मिली रैंकिंग देखकर की जाएगी.

सीएम शिवराज ने एक दिन पहले कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों को काम करने की ताकीद देने के बाद आज अफसरों की क्लास लगाई.मुख्यमंत्री  ने अफसरों को प्रदेश में सुशासन के लिए "रुटिन गवर्नेंस" और "फोकस्ड एजेंडे" दोनों पर सख्ती से काम करने के लिए कहा. प्रदेश में अब विभागों की लगातार मॉनिटरिंग और रैकिंग होगी.सीएम आज प्रदेश के सभी कमिश्नर्स, आई.जी., कलेक्टर्स, पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के ज़रिए सरकारी कामों की समीक्षा कर रहे थे.

सुशासन की परिभाषा बताई
मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह ने सुशासन की परिभाषा बताते हुए कहा सुशासन का अर्थ है "जनता को शासन की ओर से दी जाने वाली समस्त सुविधाओं का लाभ बिना लिए-दिए समय पर मिलना चाहिए." हमारा लक्ष्य है प्रदेश में जनता को सुशासन देना. हमें जनता का काम करने के तरीके निकालने हैं न कि काम न करने के.




आप शासन के प्रतिनिधि हैं
मुख्यमंत्री ने कमिश्नर्स-आई.जी., कलेक्टर्स-पुलिस अधीक्षकों से कहा कि आप शासन के प्रतिनिधि हैं.अत: आपके क्षेत्र में सुशासन सुनिश्चित करना आप सभी की जिम्मेदारी है. इसलिए आपको जनता और जनप्रतिनिधियों के साथ निरंतर संवाद रखना चाहिए.

बाहर से धान न आए
मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश में पहली बार धान  खरीदी के साथ ही मिलिंग भी की जा रही है. कलेक्टर्स इस ओर विशेष ध्यान दें. सीमावर्ती कलेक्टर इस बात का विशेष ध्यान रखें कि दूसरे प्रदेशों की धान यहां बिकने के लिए आए. समर्थन मूल्य खरीदी के अंतर्गत इस बार अभी तक 5 लाख 40 हज़ार टन धान खरीदी जा चुकी है. इसी के साथ 2 लाख 15 हज़ार टन मोटा अनाज ज्वार-बाजरा खरीदा गया.

भू माफिया के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई
मुख्यमंत्री  ने कहा प्रदेश में भू माफिया के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करते हुए उनके रसूख को जमींदोज किया गया है. इसके लिए इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, उज्जैन, सतना आदि ज़िले विशेष बधाई के पात्र हैं. उन्होंने निर्देश दिए कि कार्रवाई में इस बात का ध्यान रखें कि गरीब को कोई परेशानी ना हो.

नीमच के फर्जी अफीम प्रकरण में दोषियों को बर्खास्त करें
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि नीमच जिले में एक व्यापारी को फर्जी अफीम प्रकरण में फंसाने के मामले में दोषी पुलिस अधिकारी/ कर्मचारियों को नियमानुसार बर्खास्त करने की कार्रवाई की जाए.

चिटफंड माफिया के विरुद्ध कार्रवाई
मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश में चिटफंड माफिया के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की गई है. प्रदेश में 184 केस रजिस्टर किए गए और 3528 निवेशकों को उनके 17 करोड़ 60 लाख रुपए वापस दिलवाए गए. हैं.  छतरपुर, कटनी, नीमच, रतलाम जिले विशेष बधाई के पात्र हैं. उन्होंने कहा कि चिटफंड माफिया के विरुद्ध कार्रवाई को अंजाम तक पहुंचाएं और निवेशकों को उनके पैसे वापस दिलवाएं.

मिलावटखोरी महापाप, सख्त कार्रवाई करें
मुख्यमंत्री ने कहा मिलावटखोरी महापाप है. मिलावटखोरों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. इस संबंध में ग्वालियर, गुना, मुरैना, जबलपुर, इंदौर, उज्जैन में अच्छी कार्रवाई हुई है. शेष जिलों में भी ऐसी ही कार्रवाई हो.

भिंड की सराहना
मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश के सभी जिलों में अवैध रेत खुदाई और ढुलाई के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. इसी के साथ वैध ठेकेदार को संरक्षण दिया जाना चाहिए. इस संबंध में देवास, सिंगरौली, गुना, जबलपुर, नरसिंहपुर आदि जिलों में उल्लेखनीय काम हुआ है. भिंड जिले में अवैध खुदाई और ढुलाई रोकने के लिए अच्छा प्रयोग किया गया है. उन क्षेत्रों में वीडियो कैमरे लगाकर और चैक पोस्ट बनाकर अवैध खुदाई रोकी गयी है.

साइबर क्राइम के खिलाफ सचेत रहें
मुख्यमंत्री ने सभी अफसरों से कहा कि वो साइबर क्राइम के खिलाफ सचेत रहें. इस संबंध में कटनी, जबलपुर, ग्वालियर एवं सागर को अच्छे कार्य के लिए बधाई दी. प्रदेश में 1711 साइबर क्राइम के केस दर्ज किए गए हैं, जिनमें एक करोड़ 97 लाख रुपए की राशि वापस दिलाई गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज