अपना शहर चुनें

States

BHOPAL : CM शिवराज ने खोला राज़, राहुल गांधी के किसान कर्ज़ माफी ऐलान के बाद बीजेपी में क्या हुआ था

MP NEWS-BJP की उस बैठक में किसान कर्ज़ माफी की काट तलाशने के लिए मंथन हुआ था.
MP NEWS-BJP की उस बैठक में किसान कर्ज़ माफी की काट तलाशने के लिए मंथन हुआ था.

BHOPAL-सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने भोपाल में बीजेपी नेता राम माधव (Ram madhav) की पुस्तक बिकॉज इंडिया कम्स फर्स्ट का विमोचन किया.राम माधव ने देश के आंतरिक और विदेश के मामलों को लेकर अपनी किताब में कई लेख शामिल किए हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में 2018 के विधान सभा चुनाव में किसान कर्ज़ माफी (loan waiver) बड़ा मुद्दा था. कांग्रेस का ये प्रमुख चुनावी वादा था जिसे राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अपनी हर सभा में दोहराया था. कांग्रेस के इस ट्रंप कार्ड ने बीजेपी में खलबली मचा दी थी. नेताओं को सूझ नहीं रहा था कि इसकी क्या काट चुनाव में रखी जाए. हड़बड़ाए बीजेपी नेताओं ने राहुल गांधी की घोषणा के बाद आनन-फानन में बड़ी बैठक भी की थी. ये राज़ आज भोपाल में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने खोला. मौका था राम माधव की किताब के विमोचन का.

2018 में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान और उसके बाद से लेकर अब तक प्रदेश में किसानों की कर्ज़माफी पर सियासत होती आ रही है. किसान कर्ज़ माफी के मुद्दे पर ही सवार होकर कांग्रेस ने प्रदेश की सत्ता पर जमी 15 साल पुरानी बीजेपी सरकार को बाहर कर दिया था. कांग्रेस के लिए ये घोषणा तुरुप का पत्ता साबित हुई. 2018 के चुनाव से पहले राहुल गांधी के किसान कर्ज माफी का ऐलान बीजेपी के लिए किस तरह चुनौती बना था, इसका खुलासा प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज किया.

भोपाल में हुई थी बैठक
सीएम शिवराज ने राज खोलते हुए कहा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी के किसान कर्ज माफी के ऐलान को लेकर बीजेपी के नेताओं ने भोपाल में एक बड़ी बैठक की थी.उसमें किसान कर्ज़ माफी की काट तलाशने के लिए मंथन हुआ था. लेकिन तब पार्टी ने तय किया था कि कर्ज़माफी ठीक रास्ता नहीं है. किसानों का कल्याण करने के लिए और बेहतर तरीके हैं. विधानसभा चुनाव के नतीजे पर टिप्पणी करने से बचते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा जनकल्याण और देश का हित सर्वोपरि है. इसके लिए कुछ बड़े फैसले लेना चाहिए.
कर्ज़ माफ न करने का फैसला


सीएम शिवराज ने कृषि कानून का समर्थन करते हुए कहा देश हित के लिए इस तरह के सख्त फैसले जरूरी हैं. कांग्रेस पार्टी के सत्ता में आने के बाद 10 दिन में कर्ज़ माफ करने के ऐलान पर बीजेपी ने राजनीतिक नुकसान के बारे में चर्चा की थी. लेकिन तब पार्टी ने यह तय कर लिया था कि कर्ज माफी के रास्ते पर नहीं जाया जाएगा.

कृषि कानून का समर्थन
सीएम शिवराज ने कृषि कानून को प्रदेश के किसानों के हित में बताया. मुख्यमंत्री ने कहा आज सागर में आयोजित किसान सम्मेलन में 25000 किसान जुटे थे. पूरे प्रदेश से दो लाख किसान जुड़े थे. इस सम्मेलन में कृषि कानून को लेकर बहस छेड़ी गई और पूछा गया कि कृषि कानून में बुरा क्या है तो लोगों का जवाब था कि कंपनियां जमीन पर कब्जा कर लेंगी. शिवराज ने कहा किसानों को कृषि कानून के बारे में पूरी जानकारी नहीं है. प्रदेश के किसानों को जब बताया गया तो वह इसके समर्थन में खड़े नजर आए. सीएम शिवराज ने कहा दीर्घकालीन हित के लिए राष्ट्र हित में बड़े फैसले लेना होंगे.

राम माधव की किताब का विमोचन
सीएम शिवराज ने भोपाल में बीजेपी नेता राम माधव की पुस्तक बिकॉज इंडिया कम्स फर्स्ट का विमोचन किया. उन्होंने कहा राष्ट्रहित को लेकर राम माधव ने अपनी पुस्तक में जिन विषयों को शामिल किया है उसे पढ़ा जाएगा.

हर स्तर पर विचार ज़रूरी
राम माधव ने किताब के विमोचन के मौके पर कहा देश को संपन्न राष्ट्र बनाना होगा. इक्नॉमी को मजबूत करना होगा. इसके लिए हर स्तर पर विचार करना होगा. राम माधव ने देश के आंतरिक और विदेश के मामलों को लेकर अपनी किताब में कई लेख शामिल किए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज