हाईकमान ने मांगी रिपोर्ट तो कांग्रेस प्रभारी ने बंद कमरे में की अरुण यादव और अजय सिंह से बात

अरुण यादव खंडवा लोकसभा सीट उपचुनाव में टिकट के दावेदार हैं. अजय सिंह कमलनाथ से असंतुष्ट चल रहे हैं.

Bhopal. कांग्रेस प्रदेश प्रभारी संजय कपूर (Sanjay kapoor) पूरे प्रदेश की राजनीति की स्थिति पर एक रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं. जो शीघ्र ही प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक को सौंपी जा सकती है. इस दौरान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पुनर्गठन पर भी चर्चा हुई है.

  • Share this:
भोपाल. भाजपा (BJP) के शीर्ष नेताओं की बंद कमरे में मेल मुलाकातों के दौर और चर्चा अभी मध्य प्रदेश की राजनीति में चल ही रही हैं कि इसी बीच कांग्रस (Congress) में भी यही शुरू हो गया है. असंतुष्ट माने जा रहे नेताओं से बंद कमरे में उनकी नाराजगी का कारण जानने का प्रयास किया जा रहा है. मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर ने आज प्रदेश के सिर्फ दो कांग्रेस नेताओं से भेंट की. इनमें से एक पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव और दूसरे पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह हैं.

यह दोनों नेता किसी जमाने में मध्य प्रदेश के सबसे ज्यादा प्रभावशाली माने जाने वाले अर्जुन सिंह और सुभाष यादव के सुपुत्र हैं और उनकी राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ा रहे हैं. अलग-अलग किन मुद्दों पर चर्चा हुई यह तो स्पष्ट नहीं हो पाया है. माना जा रहा है कि पार्टी में उभर रहे असंतोष के स्वर को लेकर खुलकर बातचीत हुई. यह भी बताया जा रहा है कि संजय कपूर पूरे प्रदेश की राजनीति की स्थिति पर एक रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं. जो शीघ्र ही प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक को सौंपी जा सकती है. इस दौरान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पुनर्गठन पर भी चर्चा हुई है.

मुखर हुए थे अजय और अरुण
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ आवाज उठाते हुए दोनों ही नेता अरुण यादव और अजय सिंह पिछले दिनों मुखर हुए थे. इन लोगों ने सार्वजनिक रूप से बयान देकर कमलनाथ के फैसले और बयान पर सवाल उठाए थे. अरुण यादव ने ग्वालियर के हिंदू महासभा नेता को कांग्रेस में प्रवेश दिलाने का खुलेआम विरोध किया था. उनका मानना था कि इससे पार्टी के प्रति जनता में अच्छा संदेश नहीं गया है. इसी मामले में बयानबाजी करने पर कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल को अनुशासन हीनता के आरोप में पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है.

बयान के बहाने
ठीक इसी तरह विंध्य क्षेत्र के सबसे मजबूत नेता माने जाने वाले अजय सिंह ने कमलनाथ के उस बयान पर गहरी आपत्ति दर्ज करायी थी जिसमें उन्होंने कहा था विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस की कम सीट आने के कारण सरकार चली गई. इतना ही नहीं दबे स्वर में अजय सिंह ने विंध्य क्षेत्र में चौधरी राकेश सिंह को कांग्रेस का जिला प्रभारी बनाने पर भी असंतोष जाहिर किया था.

अरुण यादव हैं दावेदार
मध्य प्रदेश के खंडवा लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र में निकट भविष्य में उपचुनाव होना है. ये सीट बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन से खाली हुई है. यहां से अरुण यादव टिकट के प्रबल दावेदार हैं. उन्होंने अपने समर्थकों के साथ इस उपचुनाव को जीतने के लिए जोरदार तैयारी शुरू कर दी है. कोरोना संक्रमण काल के बावजूद उपचुनाव को लेकर क्षेत्र में राजनीतिक सरगर्मी निरंतर तेज हो रही है.

हाईकमान का दखल
कांग्रेस के अंदर मचे घमासान को थामने के लिए अब पार्टी हाईकमान ने दखल दिया है. इसका क्या असर होता है यह आने वाले दिनों में पता चलेगा.

कमराबंद की ज़रूरत नहीं
बीजेपी ने कांग्रेस की कमरा बंद बैठकों पर तंज कसा है. गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कांग्रेस में कमरा बंद बैठक करने की अब जरूरत नहीं है. चर्चा खुलकर भी की जा सकती है क्योंकि पार्टी नेता खुलकर अपनी बात कह रहे हैं. कांग्रेस में अब कुछ बचा नहीं है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.