अपना शहर चुनें

States

निकाय चुनाव में कांग्रेस का नया फॉर्मूला : नेता पत्नियों की नो एंट्री, सक्रिय चेहरा होगा पार्टी उम्मीदवार

आज की बैठक में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने महिला नेताओं को अपनी बात रखने का मौका दिया.
आज की बैठक में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने महिला नेताओं को अपनी बात रखने का मौका दिया.

भोपाल.मध्य प्रदेश (MP) में नगरीय निकाय जब होंगे तब होते रहेंगे. कांग्रेस ने तो टिकट के लिए फॉर्मूला तय कर दिया है. उसने नेताओं की बीवियों को टिकट के लिए ना कर दिया है. पीसीसी चीफ (PCC Chief) ने साफ कह दिया है कि नेता अपनी निष्क्रिय बीवियों के लिए टिकट न मांगे. पार्टी के काम में सक्रिय महिला नेताओं के नाम पर पार्टी विचार कर सकती है.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश (MP) में नगरीय निकाय जब होंगे तब होते रहेंगे. कांग्रेस ने तो टिकट के लिए फॉर्मूला तय कर दिया है. उसने नेताओं की बीवियों को टिकट के लिए ना कर दिया है. पीसीसी चीफ (PCC Chief) ने साफ कह दिया है कि नेता अपनी निष्क्रिय बीवियों के लिए टिकट न मांगे. पार्टी के काम में सक्रिय महिला नेताओं के नाम पर पार्टी विचार कर सकती है.

नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने नया फॉर्मूला लागू कर दिया है. निकाय चुनाव को लेकर भोपाल में आज बुलाई गई प्रभारी- सह प्रभारियों की बैठक में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने ऐलान किया है कि निकाय चुनाव में नेताओं की निष्क्रिय पत्नियों को टिकट नहीं दिया जाएगा. सक्रिय कार्यकर्ता ही टिकट की असली हकदार होंगी. कमलनाथ के इस ऐलान के बाद अब यह तय माना जा रहा है कि पार्टी निकाय चुनाव में सक्रिय चेहरे को ही अपना उम्मीदवार घोषित करेगी. निकाय चुनाव के सिलसिले में कमलनाथ के घर पर आज हुई बैठक में इस बात का भी फैसला हुआ है कि स्थानीय स्तर पर ही उम्मीदवार का चयन किया जाए. प्रभारी और सह प्रभारी जिसके नाम की सिफारिश करेंगे उसी को पार्टी टिकट देगी.

EVM पर सवाल
कांग्रेस पार्टी की आज हुई प्रभारियों-सह प्रभारियों की बैठक में इस बात पर भी फैसला हुआ कि निकाय चुनाव बैलेट पेपर से कराने का कांग्रेस समर्थन करेगी. ईवीएम से कराने जाने का विरोध किया जाएगा. कांग्रेस की बैठक में 20 जनवरी को होने वाले पार्टी के जंगी प्रदर्शन को लेकर भी चर्चा हुई.




कमलनाथ के न मिलने की शिकायत
पीसीसी चीफ कमलनाथ ने 20 जनवरी के आंदोलन के लिए अभी से तैयारी करने के लिए कहा है. कांग्रेस की बैठक में सिर्फ महिला प्रभारी और सह प्रभारियों को ही बोलने का मौका दिया गया. बैठक में महिला प्रभारियों ने कहा कि पार्टी नेताओं को कार्यकर्ताओं से मिलने का समय देना चाहिए. प्रभारियों ने शिकायत की कि उन्हें पीसीसी चीफ कमलनाथ से भी नहीं मिलने दिया जाता. महिला सह प्रभारियों ने कहा की निकाय चुनाव के लिए यदि उम्मीदवार और कार्यकर्ता को पार्टी नेताओं से मिलने का मौका मिलता है तो कार्यकर्ता उत्साहित होते हैं. महिला  प्रभारियों की इस शिकायत पर पीसीसी चीफ कमलनाथ ने सफाई देते हुए कहा कि उनका हर दिन का कार्यक्रम तय होता है. यदि कोई उनसे मिलना चाहता है तो वह समय लेकर मुलाकात कर सकता है.

तारीख़ के ऐलान से पहले तैयारी
नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों का ऐलान मार्च महीने के बाद होना है. लेकिन कांग्रेस पार्टी अभी से चुनाव की तैयारियों में जुट गई है ताकि 28 विधानसभा सीट के उपचुनाव के नतीजों के पलट निकाय चुनाव में बेहतर प्रदर्शन कर सके. यही कारण है कि पीसीसी चीफ कमलनाथ खुद निकाय चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज