Home /News /madhya-pradesh /

एयर वाइस मार्शल (रिटा.) आदित्य विक्रम पेठिया जो 1971 के युद्ध में पाकिस्तान में थे वॉर प्रिजनर

एयर वाइस मार्शल (रिटा.) आदित्य विक्रम पेठिया जो 1971 के युद्ध में पाकिस्तान में थे वॉर प्रिजनर

रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया ने कहा, आज जिस तरह से भारत एकजुट होकर खड़ा हुआ है उससे सेना का मनोबल बढ़ा है. अब पाकिस्तान को चाहिए कि दहशतगर्दों पर लगाम लगाए.

    शिफाली 

    भारतीय वायुसेना के फाइटर पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान पाकिस्तान के कब्ज़े में हैं. पूरे देश में उनकी सलामती की दुआ की जा रही है. भोपाल में भी वायुसेना के एक ऐसे रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल हैं, जो 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान युद्ध बंदी रह चुके हैं. नाम है एयर वाइस मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया.

    रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया भारतीय वायुसेना की उस कमान में शामिल थे जिसने 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान पाकिस्तान पर एयर अटैक किया था. लेकिन आदित्य विक्रम पेठिया पाकिस्तान की सीमा में युध्द बंदी बना लिए गए थे. वो 5 महीने वहां युद्ध बंदी रहे. उस दौरान उन्हें जो यातनाएं दी गयीं, वो बयां करते हुए आज भी उनकी आंखों में गुस्सा उतर आता है. जिनेवा संधि के ज़रिए पांच महीने बाद पेठिया की रिहाई हुई.

    ये भी पढ़ें - अंतर्राष्ट्रीय कछुआ तस्कर मुरुगेसन की ज़मानत याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज, सागर में है क़ैद

    रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल पेठिया कहते हैं, कल्पना कर सकते हैं आप कि उस वक्त मेरे जिस्म पर एक अंगूठी भी नहीं थी. युद्ध बंदियों को दिसंबर के जाड़े में खाली जमीन पर सीधे सुलाया जाता था. हालांकि पेठिया ये मंजूर करते हैं कि युध्द कभी भी समस्या का हल नहीं हो सकते. वो कहते हैं, हम जो पैसा कारखाने लगाने में खर्च कर सकते हैं, देश की तरक्की में लगा सकते हैं, युध्द में वो पैसा बारूद खरीदने में खर्च होगा जो बारूद बेकार हो जाना है. युद्ध सिर्फ बर्बादी लाता है. किसी भी देश को विकास की राह में सदियों पीछे धकेल देता है. उस देश की आर्थिक रीढ़ तोड़ देता है.

    ये भी पढ़ें - Surgical Strike 2.0 : मध्य प्रदेश भी है अलर्ट, ग्वालियर और जबलपुर पर नज़र

    रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया एक सैनिक के नज़रिए से कहते हैं पाकिस्तान जैसा देश तो युध्द के बाद बहुत संकट में आ जाएगा. हालांकि न्यूज 18 से बातचीत में वो ये भी मंजूर करते हैं कि पुलवामा अटैक के बाद पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए एयर स्ट्राइक बहुत ज़रूरी थी. उन्होंने कहा भारत कभी हमले का पक्षधर नहीं था.हमारी सेना ने कोई भी हमला पाकिस्तान के ऊपर नहीं किया. भारतीय सेना का हर हमला दहशतगर्दों के खिलाफ है.

    रिटायर्ड एयर वाइस मार्शल आदित्य विक्रम पेठिया ने कहा आज जिस तरह से भारत एकजुट होकर खड़ा हुआ है उससे सेना का मनोबल बढ़ा है. अब  पाकिस्तान को चाहिए कि दहशतगर्दों पर लगाम लाए. भारत को आतंकवाद पर विराम चाहिए क्योंकि इस आतंकवाद में भारत अपना बहुत कुछ खो चुका है और हाल ही में हमने अपने चालीस जवान खोए हैं.

    ये भी देखिएः

    Surgical Strike 2: 12 दिन बाद PM मोदी ने पूरी की वाराणसी के लोगों की सर्जिकल स्ट्राइक की मांग



    पुलवामा आतंकी हमला: 'PM मोदी, अब पाक के जबड़े से उसका कलेजा निकालना होगा', देखें तस्वीरें




    महिला अघोरी ने News18 हिंदी को दिए अपने Exclusive Interview के पहले भाग में क्या-क्या कहा



    महिला अघोरी ने Exclusive Interview के दूसरे भाग में अपने बारे में और अघोरियों के बारे में क्या-क्या बताया, जानने के लिए देखिए तस्वीरें 


    PHOTOS: कुंभ में महामंडलेश्वर बने 9 विदेशी संत, पूरी दुनिया में करेंगे हिंदू धर्म का प्रचार


    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: 1999 Kargil War, Air Strike, Indian Airforce, Madhya pradesh news, Surgical Strike

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर