आधे भोपाल को लूटने वाली गैंग का पर्दाफाश, 2 महिला भी शामिल, ऐसे देते थे लूट को अंजाम
Bhopal News in Hindi

आधे भोपाल को लूटने वाली गैंग का पर्दाफाश, 2 महिला भी शामिल, ऐसे देते थे लूट को अंजाम
कॉन्सेप्ट इमेज.

क्राइम ब्रांच (Bhopal Crime Branch) के अधिकारियों ने बताया कि यह एक पारदी गिरोह है. जो आष्टा से आकर भोपाल में चोरी की वारदात को अंजाम देता था. इनसे अभी पूछताछ की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2020, 12:00 PM IST
  • Share this:
भोपाल. भोपाल क्राइम ब्रांच (Bhopal Crime Branch) ने बदमाशों की ऐसी गैंग को गिरफ्तार किया है, जिसने आधे भोपाल में लूट (Loot) की वारदात को अंजाम दिया है. इस गैंग में दो महिला भी शामिल हैं. गैंग के पास से लाखों का माल बरामद किया गया है. वहीं अब तक आरोपियों ने अब तक 22 वारदात कुबूली हैं. क्राइम ब्रांच ऐसी गैंग की तलाश कर रही थी जो लगातार आधे शहर में चोरी की वारदात को अंजाम दे रहा था. इसी दौरान एक विश्वसनीय मुखबिर ने क्राइम ब्रांच को सूचना दी कि सीहोर रोड बैरागढ स्थित पान की दुकान के पास दो व्यक्ति एक कमल सिंह और बंटी टकला है, जो चोरी का माल कम कीमत में बेचने के लिये खड़े हैं और ग्राहक की तलाश कर रहे हैं. इस सूचना पर थाना क्राइम ब्रांच की विशेष टीम गठित ने मुखबिर की सूचना पर संदिग्ध लोगों को घेराबंदी कर पकड़ लिया. पूछताछ में आरोपियों ने अपना नाम कमल सोनी उम्र 56 निवासी शास्त्री कालोनी आष्टा और बंटी सोनी उम्र 33 साल बताया. दोनों शास्त्री कालोनी आष्टा के रहने वाले थे.

निशानदेही पर गिरफ्तार हुई पूरी गैंग

आरोपी कमल की निशानदेही पर दीपक सोनी, उम्र 27 साल निवासी शास्त्री कालोनी आष्टा और करण सोनी उम्र 24 साल निवास शास्त्री कालोनी आष्टा को पकड़ा गया. जब क्राइम ब्रांच ने कमल, बंटी, दीपक और करण सोनी से रिमांड लेकर पूछताछ की तो चोरी की कई वारदातों का खुलासा हुआ. इन चारों आरोपी की निशानदेही पर गैंग से जुड़े बाकी के 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, जिनके नाम राहुल सोनी, राजेश परमार, राजा अनवर, निरकालिस पवार, निरंजना परमार और लैहरिया बाई है.



वारदात का तरीका
सूने मकानों की रैकी गिरोह की महिला सदस्य निरंजना औऱ लहेरिया बाई द्वारा की जाती थी. इसके बाद सूने मकानों में रात के समय कार में सवार होकर घरों में लगे दरवाजों और खिड़कियों के लॉक तोड़कर वारदात को अंजाम दिया जाता था. क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने बताया कि यह एक पारदी गिरोह है. जो आष्टा से आकर भोपाल में चोरी की वारदात को अंजाम देता था. इनसे अभी पूछताछ की जा रही है. आगे भी कई चोरियों का खुलासा हो सकता है. शहर में हुई लूट की वारदातों के बारे में भी इन आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. आरोपी शहर में वारदात करने के बाद वापस आष्टा भाग जाते थे.

22 वारदात कबूली

इस पारदी गैंग ने 22 चोरी की वारदातों को कुबूला है. यह वारदात शहर के 15 से ज्यादा थानों में की हैं. यानी शहर के आधे हिस्से में इस गैंग ने वारदात को अंजाम दिया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ उनके पास से लाखों का चोरी का माल बरामद किया गया है. गिरोह की महिला सदस्य कचरा बिनने के बहाने सूनसान मकानों की रैकी कर गिरोह को सूचना देती थी. गिरोह से चोरी का माल खरीदने वाले 05 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

गिरोह ने थाना बागसेवनिया, मिसरोद, कटारहिल्स, गांधीनगर, खजूरीसडक, निशातपुरा, चूना भट्टी, कोलार, गौतम नगर, बैरसिया, ईंटखेडी थाना समेत 15 से ज्यादा क्षेत्रों में चोरी की वारदात करना कबूली है. आरोपियों से लगभग 165 ग्राम सोने के जेवर, 03 किलो 200 ग्राम चांदी के आभूषण 01 लाख 42 हजार नगदी और 05 लाख रूपये का वाहन बरामद किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज