अपना शहर चुनें

States

BHOPAL : फिर BJP के साथ जा खड़े हुए दिग्विजय सिंह के भाई लक्ष्मण सिंह, जानिए क्या है माजरा

लक्ष्मण सिंह चाचौड़ा सीट से कांग्रेस विधायक हैं.
लक्ष्मण सिंह चाचौड़ा सीट से कांग्रेस विधायक हैं.

मुरैना (Morena) में हाल ही में हुए ज़हरीली शराब कांड में मरने वालों का आंकड़ा 28 तक जा पहुंचा है. ऐसे में प्रदेश में शराब (Liquor) की दुकान बढ़ानें या कम करने से लेकर क्वालिटी लिकर परोसने तक के सुझाव नेता दे रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल.कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) के विधायक भाई लक्ष्मण सिंह ने फिर शिवराज सरकार की हां में हां मिला दी है. इस बार मामला शराब दुकान का है. शिवराज के मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने हाल ही में ये फंडा दिया था कि अगर शराब की ज़्यादा दुकानें खोल दी जाएं तो अवैध धंधा और ज़हरीली शराब जैसे कांड से बचा जा सकता है. मिश्रा के इस सुझाव का लक्ष्मण सिंह ने समर्थन किया है.

मुरैना में जहरीली शराब कांड से हुई मौतों के बाद प्रदेश में नई शराब की दुकानें खोलने को लेकर बीजेपी के अंदर मचा सियासी घमासान अब कांग्रेस में जा पहुंचा है.कांग्रेस के सीनियर विधायक लक्ष्मण सिंह ने नई शराब दुकान खोलने की पैरवी की है. उन्होंने प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के दूरस्थ क्षेत्रों में शराब की दुकानें खोलने का समर्थन करते हुए कहा, यदि सरकार शराब की खपत बढ़ाती है तो इससे एग्रो इंडस्ट्रीज को फायदा होगा. रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और किसानों को अच्छा दाम मिलेगा. सरकार को शराब की मांग और आपूर्ति पर फोकस करना चाहिए. यदि शराब की डिमांड ज्यादा है तो नई शराब दुकान खोलना गलत नहीं है.

लक्ष्मण सिंह के सुझाव
लक्ष्मण सिंह ने आगे कहा सरकार को शराब का अवैध कारोबार रोकने के लिए कदम उठाना चाहिए.उन्होंने क्वालिटी लिकर बनाने का समर्थन किया. कांग्रेस विधायक ने राजस्थान की शराब नीति का समर्थन करते हुए हेरिटेज लिकर पैटर्न को प्रोत्साहन देने की मांग की है.लक्ष्मण सिंह ने कहा सरकार यदि क्वालिटी वाली शराब और नई शराब दुकानें खोलती है तो इससे सरकार को रेवेन्यू मिलेगा और जहरीली शराब की बिक्री पर भी रोक लगेगी.
कमलनाथ ने किया था विरोध


1 दिन पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट किया था कि प्रदेश सरकार राज्य को शराब के दलदल में झोंकने की तैयारी कर रही है. शराब की दुकानें बढ़ाने का कांग्रेस पार्टी विरोध करेगी.कमलनाथ ने कहा था कि यदि प्रदेश में शराब की नयी दुकानें खोली गईं तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी. सदन से लेकर सड़क तक सरकार के फैसले का विरोध होगा.लक्ष्मण सिंह ने पार्टी लाइन से विपरीत अपनी राय दी है.

अभी कोई इरादा नहीं
इस मामले में वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा प्रदेश में नई शराब दुकान खोलने का सरकार का कोई प्रस्ताव नहीं है. जो सुझाव आए हैं उस पर सरकार विचार करेगी. फिलहाल नई शराब नीति तैयार नहीं हुई है. प्रदेश में नई शराब की दुकानें नहीं खोली जाएंगी. सीएम शिवराज पहले ही अपना रुख स्पष्ट कर चुके हैं.

कांग्रेस में हलचल
हालांकि अब शराब दुकानों लेकर कांग्रेस के अंदर हलचल तेज़ है. पार्टी विधायक लक्ष्मण सिंह के नयी शराब दुकान खोलने के समर्थन का कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने विरोध किया है. उन्होंने कहा पार्टी नई शराब दुकान खोलने का विरोध करती है. सरकार को अवैध और जहरीली शराब की बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगाना चाहिए. नई शराब दुकान खोली गई तो कांग्रेस कड़ा विरोध करेगी.

मुरैना में आंकड़ा 28 हुआ
मुरैना में हाल ही में हुए ज़हरीली शराब कांड में मरने वालों का आंकड़ा 28 तक जा पहुंचा है. ऐसे में प्रदेश में शराब की दुकान बढ़ाने या घटाने से लेकर क्वालिटी लिकर परोसने तक के सुझाव नेता दे रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज