अपना शहर चुनें

States

दिग्विजय सिंह के पूर्व प्रेस अधिकारी के बेटे की दोस्त ने की हत्या, बोरे में मिली लाश

आरोपी अभिजीत साकल्ले रिटा. इनकम टैक्स अफसर का बेटा है.
आरोपी अभिजीत साकल्ले रिटा. इनकम टैक्स अफसर का बेटा है.

पुलिस (Police) ने बैंक खाते की जानकारी निकलवाई. उसमें पता चला कि उद्भव के एटीएम (ATM) कार्ड से रविवार-सोमवार को दो बार में 40 हजार रुपए निकाले गए हैं. इस जानकारी के आधार पर पुलिस ने एटीएम में लगे सीसीटीवी के फुटेज निकवाए तो उसमें अभिजीत साकल्ले पैसे निकालता दिखाई दे गया.

  • Share this:
भोपाल. भोपाल के बाग सेवनिया इलाके में बोरे में बंद मिली लाश (Deadbody) की शिनाख्त कर ली गयी है. ये लाश पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह (Digvijay singh) के प्रेस अधिकारी रहे रिटा. जनसंपर्क अधिकारी राजेन्द्र जोशी के बेटे उद्धव की निकली. हत्या उसी के दोस्त अभिजीत साकल्ले ने की है. हत्या के बाद लाश बोरे में बंद कर फेंक दी थी. हत्या की वजह किसी लड़की को लेकर हुआ विवाद बताया जा रहा है. आरोपी अभिजीत रिटा. इनकम टैक्स अफसर का बेटा है. अभिजीत और उसके चचेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया गया है.

दिग्विजय सिंह के पूर्व प्रेस अधिकारी और जनसंपर्क कार्यालय से रिटायर हुए अफसर राजेंद्र जोशी का छोटा बेटा उद्भव  4 दिसंबर को दफ्तर के लिए घर से निकला था. लेकिन फिर वापस नहीं लौटा. परिवार ने उसकी काफी तलाश की लेकिन जब वो कहीं नहीं मिला तो बड़े भाई ने 5 दिसंबर को बागसेवनिया थाने में उद्धव की गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया.

लाश के गले में तार लिपटा था
बागसेवनिया पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की और इस बीच उसे सोमवार 7 दिसंबर को एक बंद बोरे में अज्ञात युवक की लाश पड़ी मिली. लाश काली पड़ चुकी थी.पुलिस ने पड़ताल की तो वो उद्धव की लाश निकली.उसके गले में वायर लिपटा मिला. पुलिस ने हत्या की आशंका जताते हुए मामले की जांच की, जिसके बाद इस पूरे मामले का खुलासा हुआ. उद्भव की हत्या उसके दोस्त और रिटायर्ड इनकम टैक्स अफसर के बेटे अभिजीत साकल्ले ने की है.
लड़की के चक्कर में हत्या


बताया जा रहा है उद्भव और अभिजीत दोनों अच्छे दोस्त थे. लेकिन दोनों के बीच किसी कॉमन फ्रेंड को लेकर विवाद हुआ और उसके बाद तैश में आकर  अभिजीत ने उद्भव की तार से गला घोंटकर हत्या कर दी.आरोपी अभिजीत ने उद्भव के शव को करीब 37 घंटे तक अपने घर में पलंग के नीचे छुपा कर रखा. उसके बाद उसने लाश को बोरे में डाला और जब सन्नाटा हुआ तो मीनाक्षी प्लेनेट सिटी के पास फेंक आया. पुलिस ने आरोपी अभिजीत को गिरफ्तार कर लिया है.

हत्या के बाद ATM से पैसा निकाला
इस पूरे मामले का खुलासा एटीएम कार्ड के आधार पर हुआ है. जांच कर रही पुलिस को उद्भव का स्कूटर प्रगति पेट्रोल पंप के पास लावारिस खड़ा मिला. उसके बाद पुलिस ने उद्भव के एटीएम कार्ड की तलाश की. कार्ड ना मिलने पर पुलिस ने बैंक खाते की जानकारी निकलवाई. उसमें पता चला कि उद्भव के एटीएम कार्ड से रविवार-सोमवार को दो बार में 40 हजार रुपए निकाले गए हैं. इस जानकारी के आधार पर पुलिस ने एटीएम में लगे सीसीटीवी के फुटेज निकवाए तो उसमें अभिजीत साकल्ले पैसे निकालता दिखाई दे गया.

एक ही कंपनी में करते थे काम
पुलिस ने पूरी जानकारी के बाद अभिजीत को हिरासत में लिया और पूछताछ की. पूछताछ में अभिजीत ने बताया कि वो और उद्धव अच्छे दोस्त थे.दोनों एक ही कंपनी में काम करते थे. रविवार को अभिजीत नशे की हालत में था. तभी उन दोनों के बीच एक कॉमन फ्रेंड को लेकर बहस होने लगी. उद्भव ने अभिजीत को थप्पड़ मार दिया, इससे झल्लाये अभिजीत ने गुस्से में आकर उद्भव का गला घोंटकर हत्या कर दी.

आरोपी अभिजीत का चचेरा भाई भी गिरफ्तार
इस पूरे मामले में पुलिस ने अभिजीत के चचेरे भाई को भी गिरफ्तार किया है. इस हत्या में उसके भी शामिल होने की आशंका जताई जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज