अनजान नंबर से आएगा वीडियो कॉल, दूसरी तरफ होगी न्यूड लड़की और फिर...

सायबर अपराध होने पर टोल फ्री नंबर 15 52 60 के साथ संबंधित थाने में शिकायत की जा सकती है.

सायबर अपराध होने पर टोल फ्री नंबर 15 52 60 के साथ संबंधित थाने में शिकायत की जा सकती है.

Bhopal. सायबर पुलिस ने एडवायजरी जारी की है. इसमें कहा गया है कि किसी को अपना मोबाइल नंबर ना दें. यदि अनजान नंबर से वीडियो कॉलिंग आपने रिसीव भी कर ली है तो फ्रंट कैमरे पर अपनी उंगली रखकर उसे छुपा दें.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश (MP) में सायबर क्राइम  में अब हनीट्रैप (Honey trap) की एंट्री हो गई है. यह सायबर अपराधी अब खास के साथ आम पब्लिक को भी निशाना बना रहे हैं. वीडियो कॉल के जरिए ब्लैकमेल का जमकर गोरखधंधा चल रहा है. भोपाल में लगातार शिकायत मिलने के बाद सायबर क्राइम ब्रांच पुलिस ने आम जनता को अलर्ट करने के लिए एडवाइजरी जारी की है.

आप अपने फोन पर किसी अज्ञात नंबर से आने वाले वीडियो कॉल से सतर्क रहें. वरना आप भी ब्लेकमेलिंग का शिकार हो सकते हैं. सायबर फ्रॉड ने लोगों को ब्लेकमेल करने का एक नया तरीका निकाला है. अज्ञात वीडियो कॉल अटेंड करने पर आप सायबर फ्रॉड का शिकार हो सकते हैं.

कैसे बनाते शिकार

ऐसे मामलों में अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल कर ब्लेकमेल किया गया. सायबर अपराधी पहले अज्ञात नंबर से वीडियो कॉल करते हैं. जिस नंबर से कॉल आता है उसे अटेंड करने पर सामने महिला न्यूड होती है. कॉल रिसीव करते ही साइबर अपराधी अपने मोबाइल फोन का स्क्रीन शॉट्स ले लेते हैं. स्क्रीन शॉट्स में कॉल करने वाले और कॉल रिसीव करने वाले की तस्वीर कैद हो जाती हैं. इसके बाद शुरू होता है ब्लेकमेल का सिलसिला. अपराधी धमकी देता है कि अगर पैसे नहीं दिए तो वह उसकी तस्वीर उसके सोशल मीडिया अकाउंट पर वायरल कर देगा.
अज्ञात नंबर से आने वाला वीडियो कॉल रिसीव न करें

इस तरह के अपराध में पीड़ित व्यक्ति अपने सम्मान और साख बचाने के चक्कर में पैसे दे देता है. इस कारण पुलिस ने अपील की है और एडवायजरी जारी की है कि अज्ञात नंबर से आने वाले वीडियो कॉल को रिसीव न करें.

ये है एडवाइजरी



कभी भी अनजान व्यक्तियों से सोशल मीडिया पर दोस्ती ना करें.

-सिर्फ परिचित व्यक्ति की रिक्वेस्ट एक्सेप्ट करें.

-फ्रेंड लिस्ट में जुड़ने के बाद भी अगर किसी दोस्त की प्रतिक्रिया संदिग्ध लगती है तो तत्काल उसे अपनी प्रोफाइल से अनफ्रेंड कर दें.

-अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल की सभी प्रकार की सेटिंग को मजबूत करें ताकि हर कोई आपकी प्रोफाइल में जाकर आपकी जानकारी, फ्रेंड लिस्ट और पोस्ट ना देख सके.

-किसी को अपना मोबाइल नंबर ना दें. यदि अनजान नंबर से वीडियो कॉलिंग आपने रिसीव भी कर ली है तो फ्रंट कैमरे पर अपनी उंगली रखकर उसे छुपा दें.

-सायबर अपराध होने पर टोल फ्री नंबर 15 52 60 के साथ संबंधित थाने में शिकायत की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज